Home »Madhya Pradesh »Ratlam » पहले सैलरी-डे पर 20 करोड़ रुपए का भुगतान, उम्मीद से कम निकाले गए पैसे

पहले सैलरी-डे पर 20 करोड़ रुपए का भुगतान, उम्मीद से कम निकाले गए पैसे

Bhaskar News Network | Dec 02, 2016, 15:53 PM IST

पहले सैलरी-डे पर 20 करोड़ रुपए का भुगतान, उम्मीद से कम निकाले गए पैसे
रतलाम. सैलरी-डे गुरुवार को बैंकों में जैसी भीड़ उमड़ने की उम्मीद थी, वैसी नहीं रही। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की कलेक्टोरेट, मित्र निवास रोड व इंडस्ट्रियल एरिया ब्रांच और बैंक ऑफ बड़ौदा की ब्रांच को छोड़कर बाकी बैंकों में सामान्य भीड़ रही। पहले दिन सभी बैंकों से 20 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया। सबसे ज्यादा 15 करोड़ रुपए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से निकाले गए।

नोटबंदी के बाद 1 दिसंबर को पहला सैलरी-डे था। उसके अनुसार बैंकों में तैयारी कर ली थी। बैंकों को उम्मीद थी कि इस दिन आमदिनों की अपेक्षा ज्यादा भीड़ रहेगी। कुछ ब्रांचों को छोड़कर शेष खाली रहीं। दोपहर दो बजे तक यह स्थिति हो गई थी कि रुपए निकालने के लिए बैंकों में इक्का-दुक्का लोग ही मौजूद थे। एसबीआई की कलेक्टोरेट ब्रांच में पेंशनरों के लिए टोकन व्यवस्था थी। एटीएम में भी भीड़ अपेक्षाकृत कम रही।

पैरा लीगल वालेंटियर ने की ग्राहकों की मदद

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने ग्राहकों की सहायता के लिए पैरालीगल वॉलेन्टियरों की नियुक्त की थी। एसबीआई की मुख्य, कलेक्टोरेट व डीआरएम ब्रांच में 9 पैरालीगल वालेंटियर्स ने फऑर्म भरने में मदद की। आमजन को लंबी लाइन से बचने के लिए बैंक की योजनाओं की जानकारी भी दी। उन्हें मोबाइल पर स्टेट बैंक नो क्यू मोबाइल एप डाउनलोड कर अपनी पसंद की सेवा व शाखा का चयन कर वर्चुअल क्यू टिकट (ई-टोकन) प्राप्त करने जैसी जानकारियां दी। जिला एवं सत्र न्यायाधीश और जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष योगेश कुमार सोनगरिया के निर्देशन में सेवाएं दीं।

उम्मीद से कम भीड़ रही

लीड बैंक प्रबंधक के. के. सक्सेना ने बताया जैसी तैयारी की थी वैसी भीड़ नहीं आई। सभी बैंकों में लेनदेन में कोई दिक्कत नहीं आई। कहीं से कोई शिकायत भी नहीं मिली। बैंकों के पास कैश की भी दिक्कत नहीं है।

डाकघर :24 हजार रुपए तक किया भुगतान

मुख्य डाकघर में पेंशनरों की भीड़ उमड़ी। पेंशनरों को (24 हजार रुपए) डिमांड के अनुसार राशि का भुगतान किया गया। डाक अधीक्षक डी. के. सिंहल के मुताबिक कैश की कोई समस्या नहीं है। लोगों की डिमांड के अनुसार राशि का भुगतान किया जा रहा है।

एसबीआई | 24 घंटे से ज्यादा समय में खाली हो रहे एटीएम

एसबीआई ने एटीएम करेंसी अनुसार रिकैलीब्रेट किए हैं। 2000 के नए नोट लोड करने से एटीएम जल्दी खाली नहीं हो रहे। बैंकें रोज शाम को एटीएम में नोट भर रही हैं। ये 24 घंटे में खाली हो रहे हैं। एसबीआई के शहर में 35 एटीएम हैं।

पीएनबी | वेतन वालों को 20 हजार रुपए तक भुगतान

अलकापुरी स्थिति पंजाब नेशनल बैंक ने ग्राहकों को 20 हजार रुपए तक भुगतान किया। मैनेजर संजय लोणकर ने बताया सैलरी-डे को देखते हुए पहले से तैयारी कर ली थी। इसलिए परेशानी नहीं आई। कैश भी कम नहीं पड़ा।

रोज खचाखच रहने वाले ई-कॉर्नर में गुरुवार को कम पहंचे लोग

बैंककर्मियों को एक-दो दिन पूर्व ही मिल गई सैलरी

बैंककर्मियों का सैलरी-डे माह के आखिरी दो दिन रहते हैं। इससे उनके के खाते में 29 व 30 नवंबर को ही सैलरी पहुंच गई। जिले की 141 ब्रांचों में 1000 से ज्यादा बैंककर्मी कार्यरत हैं। सभी के खातों में सैलरी पहुंच गई।

राज्य सरकार के 8250 कर्मचारियों को सैलरी जारी

जिला कोषालय अधिकारी जी. एल. गुवाटिया ने बताया 8250 कर्मचारियों को सैलरी जारी की जाती है। गुरुवार को सभी की सैलरी जारी कर दी गई।

7500 केंद्रीय कर्मचारियों को नहीं कोई टेंशन

7500 केंद्रीय कर्मचारियों को भी सैलरी मिली। इन्हें 10 हजार रुपए पहले ही नकद मिल चुके हैं।

अधिकारी दुकानों पर जाकर बता रहे फायदे

एसबीआई के अफसर बाजार की दुकानों पर पहुंच पीओएस मशीन के फायदे गिना रहे हैं। बैंक ने इसके लिए अलग से टीम बनाई है। इसमें अल्टरनेट चैनल के मुख्य प्रबंधक जगदीश डामेशा, अल्टरनेट चैनल मैनेजर प्रेमकुमार बौद्ध, कपिल पानीतावने, कोणार्क चौरसिया, राजकुमार सोनगरा आदि शामिल हैं। अब तक 72 से ज्यादा मशीनों के लिए व्यापारियों ने सहमति दी है।

2.54 लाख जन धन खाते

जिले में 2.54 लाख जन धन खाते हैं। इसमें 49 हजार से ज्यादा जमा नहीं कर सकते। किसी भी खाते में इससे ज्यादा रकम जमा नहीं हुई। इन खाते में कितनी राशि जमा हुई यह जानकारी लीड बैंक के पास भी नहीं है।

लग्नसरा में भी सराफा बाजार में ग्राहकी नहीं

नए नोट की किल्लत से सराफा बाजार में ग्राहकी नहीं है। वर्षों बाद ऐसा हो रहा है जब लग्नसरा के सीजन में ग्राहकी नहीं है। इससे व्यापारी खाली हाथ बैठे हैं। कुछ दुकानों पर इक्के-दुक्के ग्राहक देखे जा सकते हैं। व्यापारियोंं को नोट के फ्लो का इंतजार है।

नोटबंदी के बाद गुरुवार को पहला सैलरी-डे होने से बैंकों व एटीएम पर ज्यादा भीड़ उमड़ने की उम्मीद जताई जा रही थी लेकिन एेसा नहीं हुआ। रोज लोगों से खचाखच भरे रहने वाले मित्र निवास रोड स्थित एसबीआई के ई-कॉर्नर में यह स्थिति रही।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: पहले सैलरी-डे पर 20 करोड़ रुपए का भुगतान, उम्मीद से कम निकाले गए पैसे
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    More From Ratlam

      Trending Now

      Top