Home »Madhya Pradesh »Sagar » अभिभावकों ने गाइड-कुंजी से नकलें फाड़कर बच्चों तक पहुंचाईं, केंद्राध्यक्ष देखते ही रहे

अभिभावकों ने गाइड-कुंजी से नकलें फाड़कर बच्चों तक पहुंचाईं, केंद्राध्यक्ष देखते ही रहे

Bhaskar News Network | Mar 21, 2017, 05:00 IST

महाराणा प्रताप स्कूल में खुलेआम चल रही नकल,बासांतारखेड़ा में बना नकल प्रकरण, तेंदूखेड़ा, खड़ेरी, बांसातार खेड़ा और बनवार में बड़े पैमाने पर नकल होने की जेडी सागर को मिली थी सूचना

माशिमं की कक्षा 10 वीं के अंग्रेजी के पेपर में जमकर नकल हुई। पथरिया परीक्षा केंद्र में अभिभावकों ने अपने बच्चों को नकल किताबों से फाड़कर दी तो जिला मुख्यालय पर महाराणा प्रताप स्कूल में केंद्राध्यक्ष के सामने परीक्षार्थी नकल करते मिले। उधर बांसा तारखेड़ा में नकल होने की सूचना पर सागर जेडी कार्यालय से वाईके यादव ने टीम भेजी और एक नकल प्रकरण भी बनवाया। इधर एक्सीलेंस स्कूल में बच्चे नकल छिपाते देखे गए।

खास बात यह थी कि सोमवार को सभी अधिकारी टीएल की मीटिंग में चले गए, जिन टीमों को पेपर का निरीक्षण करने जाना था, वे भी फील्ड पर नहीं गईं, ऐसी स्थिति में छात्रों ने जमकर नकल की। केंद्राध्यक्ष भी निष्क्रिय नजर आए। जिला मुख्यालय पर महाराणा प्रताप स्कूल में बेहद नकल चल रही है। यहां पर किसी तरह की कोई रोक टोक नहीं की जा रही है। केंद्र के हर कक्ष की खिड़कियों पर नकल के ढेर लगे थे। परीक्षार्थी नकल करने के बाद उन्हें खिड़की से बाहर फेंक रहे थे। ऐसी स्थिति में खिड़कियाें के सामने नकल का ढेर लग गया था। 10.44 बजे जब भास्कर की टीम स्कूल पहुंची तो खिड़कियों के सामने ढेर लगे थे। इस बीच कक्ष के अंदर एक छात्र अंग्रेजी में आए वंडर ऑफ साइंस के निबंध की नकल कर रहा था, केंद्राध्यक्ष के सामने उसने तुरंत नकल निकालकर फेंक दी, जाे दूसरे छात्र के पास गिरी, जिसने तुरंत उठाकर उसे केंद्राध्यक्ष के हाथों में थमा दी। इसी तरह एक्सीलेंस स्कूल में एक छात्र नकल करने के बाद उसे बाथरूम में फेंकने गया, लेकिन जब वह लौटकर आया तो पर्यवेक्षक ने उसकी पड़ताल की और जमकर उसे फटकार लगाई। सुबह 10 बजे पथरिया नगर के नवीन मिडिल स्कूल परीक्षा सेंटर में अभिभावकों ने स्वयं कुंजी और गाइडें में से नकल फाड़कर खिड़की से अंदर पहुंचाईं। इससे पहले शिक्षकों ने समय से पहले पेपर खोलकर बांट दिया। इसकी जानकारी बाहर चली गई और प्रश्न पत्र के बारे में सभी को पता चला गया। इस बीच अभिभावकों ने नकल फाड़कर कक्ष के फेंकना प्रारंभ कर दिया। इसकी सूचना एसडीएम और डीईओ पीपी सिंह को दी गई, लेकिन वे मौके पर नहीं पहुंचे। केंद्राध्यक्ष एमके जैन से जब इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने भी कोई जवाब नहीं दिया। इस संबंध में डीईओ पीपी सिंह से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि थोड़ा बहुत चलता रहता है। कोई बड़ी बात नहीं है।

जेडी ने टीम भेजकर नकल प्रकरण बनवाया

दरअसल इस बार जो भी निरीक्षण दल बनाए गए हैं, उनमें से किसी भी ने नकल प्रकरण नहीं बनाया है। सागर से आईं टीमों ने ही प्रकरण बनाए हैं। सागर से परीक्षा कंट्रोलर वाईके यादव को जब इसकी सूचना मिली कि बांसा तारखेड़ा, तेंदूखेड़ा, खड़ेरी, बनवार में बड़े स्तर पर नकल चल रही है, तो उन्होंने तुरंत टीम मौके पर भेजी। हालांकि लेट होने की वजह से दूसरे सेंटरों पर टीमें नहीं जा पाईं, लेकिन बांसातार खेड़ा में एक नकल प्रकरण टीम ने बना दिया। श्री यादव ने बताया कि तेदूखेड़ा, खड़ेरी, बनवार और बांसातारखेड़ा सेंटर पर भारी नकल चलने की सूचना मिली है। टीमें भेजी गईं थीं, लेकिन कार्रवाई नहीं हो पाई है।

दमोह। महाराणा प्रताप स्कूल में नकल करने के बाद पर्चा फेंकता छात्र।

पथरिया। किताब से मोबाइल में रिकाॅर्डिंग करता छात्र।

पथरिया। केंद्र के बाहर खिड़की से नकल देते परिजन।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: अभिभावकों ने गाइड-कुंजी से नकलें फाड़कर बच्चों तक पहुंचाईं, केंद्राध्यक्ष देखते ही रहे
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Sagar

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top