Home »Madhya Pradesh »Ujjain» गांवों को पानी देने वाली 78 योजनाएं बंद, जिपं अध्यक्ष व सदस्य बोले-अफसर फोन नहीं उठाते

गांवों को पानी देने वाली 78 योजनाएं बंद, जिपं अध्यक्ष व सदस्य बोले-अफसर फोन नहीं उठाते

Bhaskar News Network | Mar 21, 2017, 05:20 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
गांवों को पानी देने वाली 78 योजनाएं बंद, जिपं अध्यक्ष व सदस्य बोले-अफसर फोन नहीं उठाते
जिले के ग्रामीण क्षेत्रों को पानी देने वाली 78 योजनाएं बंद हो गई हैं। सबसे खराब स्थिति उज्जैन, घट्टिया और तराना की है। पहली बार सोमवार को शहर के बाहर जैथल स्थित दुर्दुरेश्वर महादेव मंदिर परिसर में जिला पंचायत की साधारण सभा हुई। इस दौरान होली मिलन समारोह भी मनाया गया।

इसमें पीएचई के इन आंकड़ों पर जिला पंचायत अध्यक्ष महेश परमार और अफसर आमने-सामने हो गए। उन्होंने कहा-मार्च में यह स्थिति है तो मई-जून में क्या होगा। पीएचई के एसडीओ अमितसिंह ने बताया-ग्रामीण क्षेत्रों में जलसंकट न हो, इसके प्रयास किए जा रहे हैं। जवाब में जिपं अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि कोई प्रयास नहीं हो रहे। अधिकारी फोन भी नहीं उठाते। जिले में 705 हैंडपंप गर्मी शुरू होने से पहले ही बंद हो गए हैं। जिपं अध्यक्ष ने बताया जलसंकट से निपटने के लिए हर पंचायत को दो लाख रुपए बंद पड़े पेयजल स्रोत को चालू कराने के लिए देने का निर्णय लिया है। इस दौरान सीईओ एसएस रावत मौजूद थे।

किसानों को प्रति हैक्टेयर मिलेंगे दस हजार रुपए ज्यादा : सहकारिता विभाग अब जिले के किसानों को शून्य फीसदी ब्याज पर 42 हजार रुपए प्रति हैक्टेयर ऋण देगा। अब तक उन्हें 32 हजार रुपए मिलते थे। जिपं सदस्य ईश्वरसिंह चौहान ने जिले के पर्यटन स्थल को लेकर समितियां बनाने का सुझाव दिया।

जिले में छह स्टेडियम बनेंगे : ग्रामीण यांत्रिकी सेवा जिले में छह स्टेडियम और दो बस स्टैंड मई तक बनाएगा। इनमें 1184 गांवों के बालक-बालिकाओं के कैंप लगाकर खेल स्पर्धाएं आयोजित की जाएंगी।

हर जिला पंचायत सदस्य गोद लेंगे तीन कुपोषित बच्चे

जिला पंचायत अध्यक्ष सहित हर सदस्य तीन कुपोषित बच्चाें को गोद लेंगे। अब तक अधिकारी ऐसे बच्चे गोद लेते आए हैं। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी रजनीश सिन्हा ने बताया जिले में अप्रैल में 1131 कुपोषित बच्चे थे, जनवरी में संख्या 1743 हो गई है।

जैथल के पास स्थित दुर्दुरेश्वर महादेव मंदिर परिसर में हुई जिला पंचायत की बैठक में विचार-विमर्श करते सदस्य व अधिकारी।

विकासखंडों में 705 हैंडपंप बंद

स्थान कुल चालू बंद

उज्जैन 1286 1183 103

घट्टिया 1068 982 86

तराना 1148 1050 98

महिदपुर 1077 990 87

बड़नगर 1809 1657 152

खाचरौद 1860 1681 179

कुल 8248 7543 705

पेयजल योजनाओं की स्थिति

स्थान योजनाएं चालू बंद

उज्जैन 45 30 15

घट्टिया 35 20 15

बड़नगर 37 29 8

खाचरौद 58 44 14

महिदपुर 41 30 11

तराना 37 22 15

कुल 253 175 78

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: गांवों को पानी देने वाली 78 योजनाएं बंद, जिपं अध्यक्ष व सदस्य बोले-अफसर फोन नहीं उठाते
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Ujjain

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top