Home »National »Latest News »National» O Panneerselvam VK Sasikala Reconcile, AIADMK News And Updates

शशिकला और उनके फैमिली मेंबर्स के पार्टी में रहने तक समझौता नहीं: पन्नीर

DainikBhaskar.com | Apr 18, 2017, 15:50 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

पन्नीरसेल्वम ने कहा, हम अपनी बेसिक पॉलिटिक्स नहीं हटेंगे। (फाइल)

चेन्नई. एआईएडीएमके के दो खेमों के एक होने के कयास लगाए जा रहे थे। इसको लेकर मंगलवार को विधायकों की मीटिंग भी हुई। पूर्व सीएम ओ. पन्नीरसेल्वम ने कहा है कि जब तक पार्टी और सरकार में शशिकला और उनके परिवार के लोग रहेंगे, दोनों खेमों के एक होने का सवाल ही नहीं उठता। तमिलनाडु में जयललिता के निधन के बाद पन्नीरसेल्वम ने बगावत के बाद एक गुट बना लिया था। दूसरे खेमे को पार्टी की जनरल सेक्रेटरी शशिकला और उनका भतीजा टीटीवी दिनाकरन लीड कर रहे हैं। पार्टी में परिवार की सत्ता नहीं हो सकती...
- अपने होमटाउन पेरियाकुलम में मीडिया से बात करते हुए पन्नीरसेल्वम ने कहा, "ऐसा नहीं है कि दोनों धड़ों को एक होने के लिए कोई शर्त नहीं है। हम अपनी बेसिक पॉलिटिक्स नहीं हटेंगे। हम पार्टी में एक परिवार की सत्ता के खिलाफ हैं। अगर हम अपने स्टेंड से हटते हैं तो ये तमिलनाडु के लोगों और एआईएडीएमके कैडर के साथ नाइंसाफी होगी।"
- "पार्टी को किसी परिवार के हाथों में नहीं दिया जा सकता। अम्मा (दिवंगत जयललिता) ने इस परिवार को पार्टी से बाहर कर दिया था। इसके बाद शशिकला ने माफी मांगी। इसके बाद भी उन्हें कोई पद नहीं दिया गया। शशिकला ने खुद कहा था कि उनकी फैमिली की साजिश में शामिल थी। लिहाजा उनकी फैमिली का कोई शख्स पार्टी में नहीं होना चाहिए।"
- पन्नीरसेल्वम ने जयललिता की मौत की जांच कराने की भी मांग की।
'शशिकला और दिनाकरन के पार्टी से बाहर जाने पर चर्चा नहीं हुई'
- मंत्री जयकुमार ने कहा कि मीटिंग में शशिकला और दिनाकरन को पार्टी से बाहर किए जाने पर कोई चर्चा नहीं हुई।
- AIADMK सरकार में कमर्शियल टैक्स मिनिस्टर केसी वीरामणि के मुताबिक, पार्टी में पद को लेकर लड़ाई हमेशा नहीं रहने वाली। कुछ घंटो में अच्छी खबर आ सकती है। दोनों खेमों में विलय की भी संभावना है।
- हालांकि पन्नीर कैंप से जुड़े लोगों का ये भी कहना है कि विरोधी पक्ष के लोगों ने बातचीत की कोई कोशिश नहीं की।
- ये भी कहा जा रहा है कि दिनाकरन जेल में शशिकला से मिले थे। कयास हैं कि वे जनरल सेक्रेटरी की पोस्ट छोड़ने को राजी हो गई हैं।
- सोमवार रात को यह मीटिंग मंत्री के. थंगामणि के सरकारी आवास पर हुई। इसमें करीब 25 विधायक और मंत्री शामिल हुए थे।
- पार्टी के सभी मंत्री और विधायक चाहते हैं कि पार्टी एकजुट रहे और सरकार अपना टेन्योर पूरा करे।
शशिकला खेमे में विद्रोह की अटकलें
- पार्टी के हवाले से मीडिया में यह खबरें चल रही हैं कि शशिकला खेमे में बगावत हो सकती है। खासकर दिनाकरन के खिलाफ दिल्ली में एफआईआर दर्ज होने के बाद। बता दें कि दिनाकरन के खिलाफ दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने केस दर्ज किया है। दिनाकरन पर आरोप है कि उन्होंने तमिलनाडु की आर.के.नगर असेंबली सीट के बाय इलेक्शन के लिए AIADMK के चुनाव चिन्ह 'दो पत्तियों' को हासिल करने के लिए इलेक्शन कमिशन के एक अधिकारी को रिश्वत देने की पेशकश की है।
AIADMK में कब बन थे दो गुट
- जयललिता की मौत के 65वें दिन AIADMK में बगावत हो ही गई थी। दरअसल जयललिता ने अपनी तबीयत खराब होने के बाद पन्नीरसेल्वम को राज्य का सीएम बनाया था।
- जब जयललिता का निधन हो गया तब शशिकला खेमा एक्टिव हुआ और पन्नीरसेल्वम को इस्तीफा देना पड़ा। इस बीच शशिकला को पार्टी का जनरल सेक्रेटरी बना दिया गया।
- इसी के बाद पन्नीरसेल्वम ने शशिकला के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। उन्होंने दावा किया था- "मुझसे जबर्दस्ती इस्तीफा लिया गया। अगर तमिलनाडु के लोग चाहेंगे तो मैं इस्तीफा वापस लेने को तैयार हूं।"
- उन्होंने बताया था कि मुझे पोएस गार्डन बुलाया। वहां पार्टी नेताओं ने कहा कि शशिकला को सीएम बनाने के लिए इस्तीफा दे दूं। इससे पहले वे करीब 40 मिनट तक जयललिता की समाधि पर मौन बैठे रहे थे।
- बाद में हाई ड्रामा के बीच शशिकला खेमा ने विधानसभा में अपना बहुमत साबित किया था।
शशिकला बेंगलुरु जेल में हैं
- शशिकला को बेहिसाब प्रॉपर्टी (डिसप्रपोर्शनेट एसेट-DA) मामले में जेल में हैं। बता दें कि फरवरी में सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के फैसले को खारिज करते हुए ट्रायल कोर्ट के 4 साल की सजा के फैसले को बरकरार रखा था। साथ ही 10 करोड़ जुर्माना लगाया था।
- शशिकला 6 महीने की सजा वे काट चुकी हैं। उन्हें साढ़े तीन साल जेल में गुजारने होंगे। फैसले के साथ ही शशिकला का पॉलिटिकल करियर एक तरह से खत्म हो गया है। 4 साल की सजा पूरी करने के बाद वे 6 साल तक चुनाव नहीं लड़ पाएंगी। इस तरह 10 साल तक चुनावी राजनीति से बाहर रहेंगी। बता दें कि कर्नाटक हाईकोर्ट ने इसी केस में शशिकला और जयललिता को 2015 में बरी कर दिया था।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: O Panneerselvam VK Sasikala Reconcile, AIADMK News and Updates
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From National

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top