Home »National »Latest News »National» Viral Video: J & K BSF Jawan, We Starve SENIOR ARMY OFFICER Sell Goods In The Market

BSF जवान को प्लम्बर बनाया: वीडियो वायरल होने से पहले CAG ने भी कहा था- पाक-चीन बॉर्डर पर खराब खाना मिलता है

dainikbhaskar.com | Jan 11, 2017, 12:15 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

तेज बहादुर ने फेसबुक पर 4 वीडियो पोस्ट किए थे। आरोप लगाया कि बॉर्डर पर जवानों को ठीक से खाना तक नहीं दिया जाता।

श्रीनगर.जम्मू-कश्मीर में तैनात बीएसएफ के जवान का शिकायती वीडियो वायरल होने के बाद उसे एलओसी से शिफ्ट कर दिया गया। अब उसे प्लम्बर का काम दिया है। उधर, तेज बहादुर की पत्नी शर्मिला और बेटे ने कहा- "रोटी की मांग करना गलत तो नहीं है। मेरे पिता के आरोपों की जांच होनी चाहिए।" बता दें कि तेज बहादुर ने फेसबुक पर 4 वीडियो पोस्ट किए थे। आरोप लगाया कि बॉर्डर पर जवानों को ठीक से खाना तक नहीं दिया जाता। अफसरों पर गंभीर आरोप लगाए। कैग ने भी अपनी रिपोर्ट में कहा था कि पाक-चीन बॉर्डर पर खराब खाना मिलता है। वाइफ ने कहा- हमें न्याय मिलना चाहिए...
- तेज बहादुर की वाइफ शर्मिला ने न्यूज एजेंसी से कहा- "क्या रोटी की मांग करना गलत है? हमें न्याय मिलना चाहिए।"
- वहीं, जवान के बेटे ने रोहित का कहना है- "खाने की मांग करने में क्या गलत है? हमें न्याय मिलना चाहिए।"
- उधर, मंगलवार को बीएसएफ के राशन पर सवाल उठाने वाले कॉन्स्टेबल तेज बहादुर यादव को एलओसी से हटाकर हेडक्वार्टर भेज दिया गया है।
- बाद में तेज बहादुर ने मीडिया को बताया कि उसे प्लम्बर की ड्यूटी सौंपी गई है। इसके साथ ही मेस कमांडर को भी हटा दिया गया है।
- मंगलवार को तेज बहादुर का एक ऑडियो क्लिप वायरल हुआ। इसमें कहा- "बीएसएफ अफसर मुझे डिसिप्लिन तोड़ने का आरोपी बता रहे हैं। अगर ऐसा है तो फिर मुझे 14 अवॉर्ड क्यों दिए गए?"
बीएसएफ ने इंटरिम जांच रिपोर्ट दी
- इस बीच, बीएसएफ ने इंटरिम जांच रिपोर्ट होम मिनिस्ट्री को सौंप दी। मिनिस्ट्री ने बुधवार तक फाइनल रिपोर्ट देने को कहा है।
- इससे पहले बीएसएफ आईजी (जम्मू रेंज) डीके उपाध्याय ने बताया- "तेज बहादुर का 2010 में सीनियर अफसर पर बंदूक तानने के लिए कोर्ट मार्शल हुआ था। परिवार का ख्याल करते हुए बर्खास्त करने के बजाय 89 दिन जेल में रखकर नौकरी बहाल कर दी गई। 20 साल के करियर में 4 बार कड़ी सजा मिल चुकी है।"
जवान के रविवार को सोशल मीडिया पर 4 वीडियो वायरल हुए थे
- तेज बहादुर ने फेसबुक पर 4 वीडियो पोस्ट किए थे। आरोप लगाया कि बॉर्डर पर जवानों को ठीक से खाना तक नहीं दिया जाता।
- अफसरों पर गंभीर आरोप लगाए। सोशल साइट्स पर यह वीडियो 65 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका है।
( 4 वीडियोज में जवान ने क्या आरोप लगाए- पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)
बीएसएफ की दलील- एलओसी पर अार्मी करती है खाना सप्लाई, गड़बड़ी कैसे हो सकती है
- बीएसएफ आईजी डीके उपाध्याय ने बताया- "एलओसी पर तैनात फोर्स का राशन आर्मी सप्लाई करती है। 1 जनवरी से सर्दियों की स्टॉकिंग शुरू होती है।"
- "इस दौरान ज्यादातर डिब्बाबंद खाने और सूखे राशन मिलते हैं। ऐसे में, हो सकता है कि स्वाद बहुत अच्छा न हो। पर जवानों को इच्छा अनुसार शाकाहारी और मांसाहारी खाना दिया जाता है।"
कैग ने पिछले साल दी थी रिपोर्ट
- पाकिस्तान और चीन सीमा पर तैनात जवानों को खराब खाना मिलता है
- सीएजी के मुताबिक, आर्मी के सर्वे में खुलासा हुआ कि 68% जवान खाने को संतोषजनक या फिर खराब क्वालिटी का मानते हैं। जवानों को खराब क्वालिटी का मांस और सब्जी खाने को दी जाती है। राशन की मात्रा भी कम होती है। राशन स्वाद के अनुसार भी नहीं होता है।
- राशन और क्वालिटी की सबसे ज्यादा कमी उत्तरी और पूर्वी कमांड में है। यानी पाक और लद्दाख से सटी चीन सीमा और अरुणाचल व सिक्किम से सटी सीमा पर।
- आर्मी हेडक्वार्टर के राशन-एस्टिमेट को डिफेंस मिनिस्ट्री ने 23% तक कम किया। जबकि सेना ने फील्ड में तैनात बटालियन की जरूरत का एस्टिमेट बनाया था।
- सेना के कमांड मुख्यालय और डायेरक्टर जनरल ऑफ सप्लाई एंड ट्रांसपोर्ट (डीजीएसटी) के आंकड़ों में काफी अंतर है।
- कमांड मुख्यालयों ने 2014-15 में 46 हजार मीट्रिक टन दाल की मांग की थी। डीजीएसटी ने उसे घटाकर 37 हजार मीट्रिक टन कर दिया।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Viral Video: J & K BSF Jawan, We Starve SENIOR ARMY OFFICER Sell Goods In The Market
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From National

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top