Home »National »Latest News »National» SC Accepts Centre Submission On Bring Back Kohinoor Diamond From UK

कोहिनूर वापस लाने या इसकी नीलामी रोकने का ऑर्डर हम नहीं दे सकते: SC

DainikBhaskar.com | Apr 21, 2017, 15:08 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, हम ब्रिटेन में होने वाली नीलामी को कैसे रोक सकते हैं या कैसे किसी देश को कुछ लौटाने का ऑर्डर दे सकते हैं? (फाइल)

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने यूके से कोहिनूर हीरा वापस लाने या इसकी नीलामी पर रोक लगाने के लिए ऑर्डर जारी करने से इनकार कर दिया है। चीफ जस्टिस जे एस खेहर की अगुआई वाली बेंच ने कहा, "हम इस बारे में कोई आदेश नहीं दे सकते, कोर्ट विदेशी सरकार को इसे नीलाम नहीं करने को भी नहीं कह सकता।" इसी के साथ कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई बंद करने का आदेश दिया। कोर्ट ने पिटीशंस पर जताई हैरानी...
- सुप्रीम कोर्ट ने कोहिनूर हीरा वापस लाने से जुड़ी 2 पिटीशंस पर शुक्रवार को सुनवाई की। इनमें भारत सरकार को इस बारे में दिशा-निर्देश देने की मांग की गई थी।
- बेंच ने पिटिशनर्स के वकीलों से कहा, "कोर्ट इस मामले में कुछ नहीं कर सकता क्योंकि हीरा दूसरे देश में है।"
- "हम ब्रिटेन में होने वाली नीलामी को कैसे रोक सकते हैं या कैसे किसी देश को कुछ लौटाने का ऑर्डर दे सकते हैं? हम यह देखकर हैरान हैं कि अमेरिका और ब्रिटेन में मौजूद चीजों के लिए पिटीशंस दाखिल की जाती हैं।"
कोर्ट ने और क्या कहा?
- सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में दायर केंद्र सरकार के एफिडेविट का जिक्र करते हुए कहा, "भारत सरकार इस मुद्दे पर यूके सरकार के साथ कॉन्टेक्ट में है, तरीके पता किए जा रहे हैं।"
- चीफ जस्टिस खेहर ने कहा, "सरकार ने अपने काउंटर एफिडेविट में कहा है कि वह कोहिनूर वापस लाने के लिए कदम उठा रही है। सरकार ने यह भी कहा है कि हालांकि कोहिनूर वापस लाना संभव नहीं है, लेकिन फिर भी वह रास्ते तलाश करना जारी रखेगी।"
- मामले की सुनवाई करने वाली बेंच में जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस एसके कौल भी शामिल थे। पिटीशंस एनजीओ ऑल इंडिया ह्यूमन राइट्स एंड सोशल जस्टिस फ्रंट और हेरिटेज बंगाल की तरफ से फाइल की गई थीं।
पिटीशंस में क्या कहा गया था?
- पिटीशंस में कहा गया था, "भारत ने 1947 में आजादी हासिल की, लेकिन केंद्र की सरकारों ने यूके से कोहिनूर को वापस इसकी मूल जगह लाने के लिए कोई कोशिश नहीं की, या की भी तो बहुत कम। सरकार ने RTI अर्जी पर अपने जवाब में कहा था कोहिनूर हीरा भारत की प्रॉपर्टी है, लेकिन UNESCO कन्वेंशन 1972 के तहत भारत इसके लिए दावा नहीं कर सकता है। सरकारों ने इसके लिए राष्ट्रीय हित में सकारात्मक और सार्थक राजनयिक कोशिशें भी नहीं की।"
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: SC accepts Centre submission on bring back Kohinoor diamond from UK
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From National

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top