Home »National »Latest News »National» India Said Pakistan To Pay Heavy Price If It Touch Any Of Its Soldiers

भारत की PAK को वॉर्निंग: हमारे जवानों को छुआ भी तो बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी

dainikbhaskar.com | Oct 23, 2016, 17:10 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

बीएसएफ के एडिशनल डीजी अरुण कुमार ने रविवार को शहीद जवान गुरनाम सिंह को श्रद्धांजलि देने के बाद कहा- 24 घंटे से बॉर्डर पर शांति है।

जम्मू.भारत ने कहा है कि अगर पाकिस्तान ने हमारे किसी भी जवान को अब छुआ भी तो इसकी बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी। बीएसएफ के एडिशनल डीजी अरुण कुमार ने रविवार को शहीद जवान गुरनाम सिंह को श्रद्धांजलि देने के बाद कहा- 24 घंटे से बॉर्डर पर शांति है। लेकिन हम जानते हैं कि ये कभी भी खत्म हो सकती है। इसके लिए हम तैयार भी हैं। बेहतर है वो सबक लें....
- 21 अक्टूबर को पाकिस्तानी रेंजर्स के साथ मुठभेड़ में जख्मी होने के बाद गुरनाम को जम्मू के गवर्नमेंट हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया था। उन्हें सिर में गोली लगी थी। तीन दिन इलाज के बाद भी गुरनाम को बचाया नहीं जा सका। गुरनाम ने पाकिस्तानी घुसपैठ को नाकाम किया था।
- अरुण कुमार ने गुरनाम को श्रद्धांजलि देने के बाद मीडिया से बात की। एडीजी से मीडिया ने पूछा कि क्या बॉर्डर पर शांति को तूफान के पहले की शांति माना जाना चाहिए? इस सवाल पर कुमार ने कहा, “फिलहाल, मैं इस पर कुछ नहीं कहूंगा। लेकिन हम किसी भी हालात का सामना करने के लिए तैयार हैं।”
- “हम पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब दे रहे हैं। लेकिन मैं एक बात साफ कर देना चाहता हूं। अगर हमारे किसी भी जवान को छुआ भी गया तो फिर पड़ोसी को इसकी बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी।”
- कुमार ने कहा- अगर उनकी तरफ से अब कोई भी हरकत होती है तो उन्हें वैसा ही जवाब मिलेगा, जैसा पहले भी दिया गया है।
शहीद के पिता बोले- हमें जंग चाहिए
- शहीद गुरनाम के पिता कुलबीर सिंह ने कहा- मोदी सरकार से अपील है कि हमें जंग चाहिए। गुरनाम बेहद साधारण परिवार से थे। उनके पिता स्कूल बस ड्राइवर हैं।
- शनिवार देर रात बीएसएफ के आईजी डीके उपाध्याय ने कहा, उन्होंने बहादुरी के साथ दुश्मनों का सामना किया, हमने अपना बहादुर जवान खोया है।
- बता दें कि गुरनाम रेजीमेंट 173 बीएसएफ (ई कंपनी) में तैनात थे। उन्हें सिर में गोली लगी थी। गुरनाम का जम्मू में इलाज चल रहा था।
कैसे जख्मी हुए थे गुरनाम ?
- 19-20 अक्टूबर के रात जम्मू के हीरानगर सेक्टर के बोबिया पोस्ट पर गुरनाम तैनात थे। रात में उन्होंने सरहद पर हलचल देखी।
- करीब 150 मीटर दूर कुछ धुंधले चेहरे नजर आए। उन्होंने बिना देर किए साथियों को अलर्ट किया और ललकारने पर पता चला कि वह आतंकी है।
- इसके बाद दोनों ओर से फायरिंग हुई। आतंकी वापस भाग खड़े हुए।
- रिपोर्ट्स के मुताबिक 21 अक्टूबर को सुबह पाकिस्तानी रेंजर्स ने स्नाइपर रायफल्स से गुरनाम पर फायर किया। सिर में गोली लगने से वे जख्मी हो गए थे।
साथी की बॉडी घसीटकर ले गए थे आतंकी
- कठुआ के हीरानगर इलाके में बुधवार रात को गुरनाम के साथ बीएसएफ जवानों ने पाकिस्तानी घुसपैठ को नाकाम किया था।
- इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया। इसमें एक आतंकी जख्मी साथी की बॉडी को घसीटते देखा गया।
- बीएसएफ आईजी (जम्मू) डीके उपाध्याय ने बताया था- "कठुआ सेक्टर के हीरानगर इलाके में कुछ मूवमेंट नजर आई थी। पता चला कि 6 आतंकी भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश कर रहे हैं।"
- "बीएसएफ जवानों ने इन्हें रोकने की कोशिश की। दोनों तरफ से फायरिंग हुई।"
आगे की स्लाइड में पढ़ें: सर्जिकल स्ट्राइक के बाद कहां-कहां हुए आतंकी हमले...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: India said Pakistan to pay heavy price if it touch any of its soldiers
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From National

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top