Home »National »Latest News »National » Two Boys Handed Over To Jammu Army Corps To Facilitate Handing Over To Pak

उड़ी हमले के आतंकियों के 2 गाइड को NIA ने छोड़ा, PAK को जल्द सौंपे जाएंगे

DainikBhaskar.com | Mar 08, 2017, 18:22 IST

उड़ी में पिछले साल 18 सितंबर को इंडियन आर्मी कैम्प पर 4 आतंकियों ने हमला किया था, जिसमें 19 जवान शहीद हो गए थे। - फाइल

नई दिल्ली. उड़ी आतंकी हमले की जांच कर रही एनआईए ने इस मामले में अरेस्ट 2 पाकिस्तानी लड़कों को बुधवार को छोड़ दिया। दोनों लड़कों को आतंकियों का गाइड माना गया था। इन पर आतंकियों की मदद करने का आरोप था, लेकिन जांच एजेंसी को इनके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले। एनआईए ने इनके मामले में क्लोजर रिपोर्ट फाइल की थी। अब गुडविल अरेंजमेंट के तहत दोनों लड़कों को जल्द ही पाकिस्तान को सौंपा जा सकता है। एनआईए ने जम्मू में आर्मी कॉर्प्स को सौंपा...
- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने दोनों पाकिस्तानी लड़कों को जम्मू में आर्मी के 16 कॉर्प्स हेडक्वार्टर्स को सौंप दिया है। जहां से उन्हें जल्द ही पाकिस्तान भेज दिया जाएगा।
- दोनों लड़कों फैसल हुसैन अवान और अहसान खुर्शीद को पिछले साल अटैक के 2 दिन बाद 21 सितंबर को उड़ी के ग्वाथन एरिया के पास से पकड़ा गया था। पीओके (पाक के कब्जे वाले कश्मीर) के रहने वाले इन दोनों लड़कों को एनआईए ने अपनी शुरुआती जांच में संदिग्ध माना था।
- इन पर हमला करने वाले 4 आतंकियों की मदद करने का आरोप था। जांच एजेंसी ने दोनों पाकिस्तानी लड़कों के खिलाफ कोई सबूत नहीं पाया। जिससे इन पर आरोप तय नहीं किए जा सके। इसके बाद जांच एजेंसी ने इस मामले में 23 फरवरी को क्लोजर रिपोर्ट फाइल कर दी थी।
- बता दें कि उड़ी में 18 सितंबर 2016 को इंडियन आर्मी कैम्प पर आतंकियों ने हमला किया था, जिसमें 19 जवान शहीद हो गए थे।
मां-बाप से विवाद के चलते पार किया बॉर्डर
- एनआईए ने अपनी जांच रिपोर्ट में कहा है कि दोनों लड़कों का किसी टेरर एक्टिविटी में इन्वॉल्वमेंट नहीं पाया गया। इनका पढ़ाई को लेकर अपने मां-बाप से विवाद हो गया था जिसके बाद ये बॉर्डर पार कर भारतीय सीमा में आ गए थे।
क्या है 'गुडविल' अरेंजमेंट?
- भारत-पाकिस्तान के बीच एक 'गुडविल' अरेंजमेंट है। जिसके तहत पाक ने इंडियन आर्मी के सोल्जर चंदू चव्हाण को इसी साल जनवरी में भारत को सौंप दिया था। चंदू चव्हाण गलती से बॉर्डर पार कर पाकिस्तान चला गया था।
- चव्हाण की सुरक्षित वापसी के बदले में ही अब भारत दोनों लड़कों को जल्द पाकिस्तान को सौंप सकता है।
सिर्फ इकबालिया बयान ही सबूत
- एनआईए दोनों लड़कों के खिलाफ इंडियान आर्मी को दिए इकबालिया बयान के अलावा और कोई पुख्ता सबूत नहीं जुटा पाई। हालांकि इन दोनों की रिहाई के बाद भी उड़ी अटैक की साजिश रचने वालों के खिलाफ जांच जारी रहेगी।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Two boys handed over to Jammu army corps to facilitate handing over to Pak
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From National

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top