Home »National »Latest News »National» Nizamuddin Dargah Khadim And One Indian Clerics Returns India Missing In Pak

पाक में हमें RAW एजेंट बताया गया: खादिम; ये देश विरोधी काम कर रहे थे: स्वामी

DainikBhaskar.com | Mar 20, 2017, 20:37 IST

  • पाकिस्तान में लापता हुए दो भारतीय खादिम सोमवार को भारत लौट आए। (बाएं से- आसिफ निजामी और उनका भतीजा नजीम अली निजामी)
    नई दिल्ली.पाकिस्तान में लापता हुए निजामुद्दीन दरगाह के खादिम आसिफ अली निजामी और उनके भतीजे नाजिम अली सोमवार को देश लौट आए। इसके बाद दोनों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की। नाजिम ने बताया कि पाकिस्तान में खुफिया एजेंसियों ने हमें डराने की कोशिश की। वहां की मीडिया ने हमें भारतीय खुफिया एजेंसी राॅ का एजेंट बताया। बता दें कि पिछले दिनों भारत के दबाव के बाद पाकिस्तान सरकार ने खादिमों का पता लगाया। दूसरी ओर, सुब्रमण्यन स्वामी ने खादिमों पर सवाल उठाए। उनका आरोप है कि ये दोनों पाकिस्तान में देश विरोधी काम कर रहे थे। हालांकि, नाजिम का कहना है कि वो दोबारा पाक जाएंगे। एयरपोर्ट से ही हमें पकड़ लिया था...
    - आसिफ अली निजामी ने DainikBhaskar.com को बताया कि, ''हम लाहौर से कराची जा रहे थे तो खुफिया एजेंसियों ने हमें एयरपोर्ट पर रोका। नाजिम के कागजात में कमी बताकर उसे साथ ले गए।''
    - ''मैं अकेला कराची आया। जैसे ही फ्लाइट से उतरा, मुझे भी पकड़ लिया। मुंह पर कपड़ा बांधकर शहर से दूर ले गए और हमें एक गेस्ट हाउस में रखा। वहां एक बड़े कमरे में कई बेड और बड़ा एसी लगा था।''
    - ''काम पूछने पर मैंने बताया कि निजामुद्दीन औलिया की दरगाह का खादिम हूं। उन्होंने कहा कि वहां तो बहुत पाकिस्तानी जाते हैं जिन्हें आप ठहराते हो, इसका इंतजाम कैसे होता है। दरगाह की देखरेख कौन करता है। मैंने कहा कि इसके लिए एक कमेटी है।''
    - दूसरी ओर, नाजिम अली निजामी ने कहा कि, ''मैं ऐसी कोई बात नहीं कहना चाहता हूं जिससे यह मुद्दा और ज्यादा बढ़े। सूफिज्म प्यार बढ़ाता है कुछ लोग इसके दुश्मन है। हिन्दूस्तानी जियारत के लिए पाकिस्तान जाना चाहते हैं तो कई सारे पाकिस्तानी भी यहां आने को तरसते हैं।''
    - ''वो लोग हमें डराना चाहते थे लेकिन हम डरेंगे नहीं। उन्होंने हमें खूफिया एजेंसी का एजेंट बताया। जिस अखबार 'उम्मत' में हमारे खिलाफ गलत जानकारियां छपवाई गईं, वो कट्टरपंथियों का है।''
    - नाजिम ने भारत सरकार, नरेंद्र मोदी, सुषमा स्वराज और राजनाथ सिंह का शुक्रिया भी अदा किया। दोनों ने सुषमा स्वराज से मुलाकात भी की।
    स्वामी ने उठाया सवाल
    -बीजेपी सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने कहा- वो लोग झूठ बोल रहे हैं कि उन्हें पाकिस्तान में डिटेन किया गया था। वे अपने बचाव और सहानुभूति पैदा करने के लिए ऐसा कह रहे हैं। इतने दिन आईएसआई उनके साथ क्या कर रही थी? वे कह रहे हैं कि उन्हें रॉ एजेंट कहा गया। लेकिन ऐसी बातें तो उग्रवादी-आतंकवादी कहते हैं कि उनके यहां भारत से रॉ एजेंट आए। ...मेरे पास इंडिपेंडेंट इन्फॉर्मेशन है कि दोनों खादिम जो पाकिस्तान में लापता हुए थे वो वास्तव में देश के खिलाफ काम कर रहे थे।
    इस पर क्या बोले मौलवी?
    - इसके बाद नाजिम अली निजामी ने कहा कि मैं पाकिस्तान फिर जाऊंगा। फिर पैगाम-ए-मोहब्बत लेकर जाऊंगा और डंके की चोट पर जाऊंगा।
    क्या है मामला?
    - खादिम और नजीम निजामी अपने रिश्तेदारों से मिलने कराची गए थे। इसके बाद वे 8 मार्च को लाहौर की दाता दरबार दरगाह पर गए थे। फिर उनके लापता होने की खबरें आईं।
    - उनके परिवार के लोगों का कहना था कि आसिफ निजामी को लाहौर एयरपोर्ट पर अधूरे ट्रैवल डॉक्युमेंट्स होने का कारण बताकर रोका गया था।
    - भारत सरकार ने और इस्लामाबाद में मौजूद भारतीय हाई कमिश्नर ने यह मामला पाकिस्तान सरकार के सामने उठाया।
    - शनिवार को पाक ने भारत को बताया था कि दोनों मौलवियों का पता लगा लिया गया है और वे कराची में हैं।
    - बता दें कि लंबे समय से दाता दरबार और निजामुद्दीन दरगाह के खादिम एक-दूसरे के यहां आते-जाते रहे हैं।
    - आसिफ का पाक जाने का मुख्य मकसद कराची में अपनी बहन से मिलना था।
    क्या बोले परिजन?
    - आसिफ निजामी के बेटे अमीर ने कहा, "दोनों ठीक हैं। उनके भारत लौटने के लिए हम भारत सरकार का शुक्रिया अदा करते हैं।"
    - आसिफ के पोते इब्राहीम ने कहा कि उनके सही-सलामत वापस लौटने पर दरगाह में खास प्रार्थना की जाएगी।
    पाकिस्तान में अलग-अलग दावे
    - पाकिस्तानी मीडिया में खबरें आईं कि आईएसआई ने दोनों मौलवियों को गायब करवाया है।
    - पाक खुफिया एजेंसियों को शक था कि दोनों का ताल्लुक मुहाजिर कौमी मूवमेंट (एमक्यूएम) से हो सकता है।
    - हालांकि, आधिकारिक तौर पर पाक सरकार कहती रही कि आसिफ और नाजिम अपने श्रद्धालुओं से मिलने सिंध के अंदरूनी इलाकों में गए थे और वहां मोबाइल सर्विस नहीं होने के चलते उनका परिवार से संपर्क नहीं हो पा रहा था।
  • हजरत निजामुद्दीन औलिया दरगाह के मुख्य खादिम आसिफ अली निजामी और उनके भतीजे नजीम अली निजामी लाहौर की दाता दरगाह पर गए थे।
  • एक सूत्र ने बताया था कि खादिम लाहौर एयरपोर्ट से, जबकि दूसरे मौलवी कराची एयरपोर्ट से लापता हो गए।
  • भारत पहुंचे पाक में लापता हुए निजामुद्दीन औलिया दरगाह के खादिम, देखें वीडियो...
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: nizamuddin dargah Khadim and one indian clerics returns india missing in pak
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From National

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top