Home »National »In Depth» Yogi Adityanath Rare Facts

जब संसद में रोए थे योगी, गुरु गोरक्षनाथ पर रिसर्च के लिए 19 की उम्र में छोड़ा घर

DainikBhaskar.com | Mar 20, 2017, 13:32 IST

  • योगी 22 की उम्र में संन्यासी बन गए थे। उनके पास खड़े विहिप के बड़े नेता अशोक सिंघल। - फाइल
    नई दिल्ली.योगी आदित्यनाथ यूपी के अगले सीएम होंगे। 44 साल के योगी रविवार को राज्य के तीसरे यंगेस्ट सीएम के तौर पर शपथ लेंगे। योगी गोरखपुर से 5 बार सांसद चुने गए, लेकिन एक बार संसद में यूपी पुलिस की बर्बरता का जिक्र करते हुए फूट-फूटकर रोए थे। योगी महज 19 की उम्र में अपना घर छोड़कर उत्तराखंड से गोरखपुर आ गए थे। गढ़वाल यूनिवर्सिटी से बीएससी (मैथ्स) करने के बाद गुरु गोरक्षनाथ पर रिसर्च करना शुरू किया। हिन्दुओं के हक की बात करने वाले 'अजय सिंह' कैसे योगी आदित्यनाथ बने और फिर 26 साल की उम्र में कैसे संसद तक पहुंचे, इसकी कहानी DainikBhaskar.com आपको बता रहा है। योगी के 4 अनसुने किस्से...
    1. योगी 22 की उम्र में संन्यासी बन गए
    - न्यूज एजेंसी के मुताबिक, आदित्यनाथ का असली नाम अजय सिंह बिष्ट है। वह मूलरूप से पौड़ी जिले के पंचूर गांव के रहने वाले हैं। 5 जून, 1974 को उनका जन्म एक राजपूत परिवार में हुआ।
    - ग्रेजुएशन की पढ़ाई के बाद गुरु गोरक्षनाथ पर रिसर्च करने गोरखपुर आ गए थे। यहां गोरक्षनाथ पीठ के महंत अवैद्यनाथ की नजर अजय सिंह पर पड़ी। अवैद्यनाथ भी उत्तराखंड के ही थे।
    - महंतजी के साथ रहते हुए धीरे-धीरे योगी का झुकाव अध्यात्म की ओर बढ़ने लगा। महज 22 साल की उम्र में सांसारिक जीवन त्यागकर संन्यास ले लिया। जिसके बाद उन्हें नया नाम योगी आदित्यनाथ मिला।
    2. कॉलेज में ABVP से जुड़ गए थे
    -मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यूनिवर्सिटी में वह संघ की स्टूडेंट विंग अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) से जुड़ गए थे। स्टूडेंट्स ग्रुप में उनका खासा दबदबा भी रहता था।
    - अवैद्यनाथ योगी के स्प्रिचुअल फादर थे। उनके बाद योगी मठ के महंत बने। 1998 में 26 साल की उम्र में गोरखपुर सीट से पहली बार सांसद बने। 12वीं लोकसभा में यंगेस्ट मेंबर चुने गए थे। इसी सीट से लगातार 5 बार के सांसद हैं।
    - योगी आदित्यनाथ हिंदू महासभा के प्रेसिडेंट और हिंदू युवा वाहिनी के फाउंडर भी हैं। हिंदू युवा वाहिनी को वे सांस्कृतिक संगठन कहते हैं। उन्होंने 22 एकड़ में फैले गोरखनाथ मंदिर को हिंदू राजनीति के अहम केंद्र में बदल दिया।
    - योगी ने 2002 में हिंदू युवा वाहिनी के जरिए धर्मपरिवर्तन के खिलाफ मुहिम छेड़ी। इस संगठन पर सांप्रदायिक हिंसा फैलाने के दर्जनों मामले दर्ज हैं। खुद योगी पर भी दंगा भड़काने और हत्या की कोशिश के 3 केस दर्ज हैं। 2007 में गोरखपुर में हुए दंगों में योगी आरोपी थे और उनकी गिरफ्तारी भी हुई।
    3. जब संसद में फूट-फूटकर रोए थे योगी
    - योगी एक बार लोकसभा में यूपी पुलिस की बर्बरता का जिक्र करते हुए रो पड़े थे। तब राज्य में मुलायम सिंह यादव सीएम थे। इस दौरान गोरखपुर के सांसद आदित्यनाथ ने अपनी बात रखने के लिए स्पीकर सोमनाथ चटर्जी से इजाजत ली थी।
    - न्यूज एजेंसी के मुताबिक, जनवरी 2007 में योगी के सपोर्टर राजकुमार अग्निहोत्री की झड़प के दौरान मौत हो गई थी। योगी उनसे मिलने जा रहे थे इसी दौरान पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। पूर्वांचल के कई कस्बों में हिंसा भड़क गई थी।
    - इसी मुद्दे पर योगी जब बोलने के लिए खड़े हुए तो फूट-फूट कर रोने लगे। कुछ देर तक वे बोल ही नहीं पाए। फिर कहा कि सपा सरकार उनके खिलाफ साजिश रच रही है और उन्हें जान का खतरा है।
    - योगी ने स्पीकर को बताया था कि गोरखपुर जाते हुए उन्हें शांतिभंग करने के आरोप में हिरासत में लिया गया और जिस मामले में उन्हें सिर्फ 12 घंटे बंद रखा जा सकता था, लेकिन 11 दिन जेल में रखा।
    - योगी ने पहला चुनाव 1998 में 27 हजार वोटों के अंतर से जीता था, 2014 के चुनाव में यह अंतर 3 लाख से ज्यादा हो गया।
    4. आजमगढ़ में हुआ था जानलेवा हमला
    - 2008 में योगी पर आजमगढ़ में जानलेवा हमला हुआ था। इस दौरान उनकी गाड़ियों के काफिले को हमलावरों ने घेर लिया और फायरिंग की थी। इस हमले में योगी बाल-बाल बच गए। इस दौरान वह आजमगढ़ के स्टूडेंट लीडर रह चुके अजित सिंह की तेरहवीं में शामिल होने जा रहे थे। कुछ लोगों ने अजित की हत्या की थी।
    - बताया जाता है कि फायरिंग के दौरान हमलावर भीड़ के एक शख्स की मौत हो गई थी। उसके बाद आजमगढ़ और आसपास के इलाकों में इस घटना ने सांप्रदायिक रंग ले लिया था। इस मामले में योगी के सपोर्टर्स और खुद उनके ऊपर कई मुकदमे हुए।
    - यूपी पुलिस और पीएसी ने कई बार योगी के ठिकानों पर दबिश दी। उनके सपोर्टर्स को बड़ी संख्या में जेल भेजा गया था। कई लोग पुलिस के डर से गांव छोड़कर पलायन कर गए।
  • 2007 में यूपी पुलिस की बर्बरता का जिक्र करते हुए योगी लोकसभा में फूट-फूट कर रोए थे। - फाइल
  • कॉलेज की पढ़ाई के दौरान योगी ने 19 साल में घर छोड़ दिया था। - फाइल
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: yogi adityanath rare facts
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From In Depth

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top