Home »National »Latest News »National » Asaram Ashram To Be Brought Down

आज चलेगा आसाराम के आश्रम पर बुलडोजर

भास्कर न्यूज | Sep 12, 2013, 08:46 AM IST

जोधपुर/भीलवाड़ा/बरेली.नाबालिग से दुष्कर्म के आरोप में जोधपुर जेल में बंद आसाराम के भीलवाड़ा के हरणी खुर्द स्थित आश्रम पर बुलडोजर चला है। वहीं, नासिक के गंगापुर रोड पर स्थित आश्रम द्वारा किए गए अवैध निर्माण तोड़ने पहुंचे प्रशासनिक अधिकारियों की आसाराम समर्थकों के साथ झड़प हुई। आश्रम द्वारा अवैध निर्माण किए जाने की शिकायत मिलने पर जिला प्रशासन गुरुवार को इस निर्माण को गिराने पहुंचा तो आसाराम के समर्थक इसके विरोध में खड़े हो गए। इसके बाद भी जब प्रशासन अपने रुख पर अड़ा रहा तो समर्थक उग्र हो गए। आसाराम समर्थकों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा।
उधर, भीलवाड़ा में जिस आश्रम पर गाज गिरी उसका एक हिस्‍सा सरकारी जमीन पर था। तहसीलदार कोर्ट ने बुधवार को राजस्व विभाग की 2.19 बीघा बिलानाम जमीन से आश्रम ट्रस्ट को बेदखल करने के आदेश दिए। पीठासीन अधिकारी राजेंद्र सिंह शेखावत ने ट्रस्ट को भू-राजस्व अधिनियम 1956 की धारा 19 अतिक्रमण का दोषी मानते हुए भू-राजस्व की 50 गुना राशि का जुर्माना भी लगाया। कोर्ट ने यह फैसला हरणी कला पटवारी द्वारा ट्रस्ट के खिलाफ दायर केस पर सुनाया।
आश्रम ने मांगी थी मोहलत
आश्रम संचालक कैलाश शर्मा सहित अन्य साधकों ने वकील के साथ तहसीलदार कोर्ट में उपस्थित होकर नोटिस का जवाब पेश किया। इसमें कहा गया कि ट्रस्ट का मुख्यालय अहमदाबाद है। जमीन के कागजात वहां से मंगवाने होंगे। साथ ही कोर्ट की फाइल की नकलें भी लेनी है। इसलिए एक माह का समय दिया जाए, पर कोर्ट ने समय नहीं दिया।
यह है मामला
आसाराम आश्रम 8 बीघा 2.50 बिस्वा जमीन पर बना है। लगभग 4 बीघा 15.50 बिस्वा जमीन पर अतिक्रमण है। इनमें से 2 बीघा 19 बिस्वा भूमि बिलानाम तथा शेष यूआईटी की है। ट्रस्ट की तीन बीघा 7 बिस्वा भूमि भी कृषि है। इसका भू-उपयोग परिवर्तन भी नहीं करवाया गया।
सरकारी भूमि पर ध्यान कुटिया
उपखंड अधिकारी रामचरण शर्मा ने बताया कि आश्रम में ध्यान कुटिया, साधक निवास, रसोईघर, प्याऊ, साहित्य मंदिर, शिव मंदिर, सत्संग भवन बना है, जो सरकारी भूमि में हैं।
यूआईटी भी दे चुका नोटिस
नगर विकास न्यास की एक बीघा 16.50 बिस्वा जमीन पर भी नाजायज कब्जा कर लिया। यह जमीन न्यास को स्मृति वन के लिए आवंटित की गई थी।आम रास्ते को भी नहीं छोड़ा। यूआईटी ने आसाराम आश्रम ट्रस्ट को तीन दिन में अतिक्रमण हटाने के आदेश दिए। इसकी सीमा मंगलवार को ही खत्म हो गई।
आगे की स्लाइड में पढ़िए, पीड़ित ने भास्कर के साथ किया अपना दर्द साझा और उसके पिता अब क्या चाहते हैं:

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Asaram ashram to be brought down
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From National

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top