Home »National »Latest News »National» Balwant Singh Hanging Row

फांसी पर राजनीति: पंजाब में बंद से ज़िंदगी ठहरी

dainikbhaskar.com | Mar 28, 2012, 17:37 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
फांसी पर राजनीति: पंजाब में बंद से ज़िंदगी ठहरी, national news in hindi, national news

balwant_256नई दिल्ली.पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह हत्याकांड के दोषी बलवंत सिंह राजोआणा को शनिवार को फांसी दी जाएगी या नहीं, इस पर बुधवार को अहम फैसला होने की उम्‍मीद है। पंजाब के सीएम प्रकाश सिंह बादल नई दिल्‍ली में हैं और वह बुधवार शाम राष्‍ट्रपति से मिलकर बलवंत की फांसी की सजा माफ करने की अपील करेंगे।




केसरिया रंग में रंगा पंजाब, बंद से ठहरी ज़िंदगी
बलवंत सिंह राजोआणा की प्रस्तावित फांसी के विरोध में बुधवार को पंजाब में बंद की वजह से सामान्य जनजीवन बुरी तरह अस्त व्यस्त रहा। बंद के चलते राज्य भर में ज़्यादातर दुकानें और दफ्तर, स्कूल-कॉलेज बंद रहे। बुधवार को प्रस्तावित परीक्षाओं को भी टाल दिया गया। हालांकि, मेडिकल व अन्य आपात सेवाओं को बंद से बाहर रखा गया। अमृतसर समेत कई जिलों में अदालतों का कामकाज भी ठप रहा।



डल खालसा, खालसा एक्शन कमिटी जैसे कट्टरपंथी सिख संगठनों के अलावा कई धार्मिक संगठनों ने बुधवार को राजोआणा की प्रस्तावित फांसी के विरोध में बंद का आह्वान किया था। अकाल तख्त के निर्देश पर पूरे राज्य में कई जगहों पर विशेष प्रार्थना सभाएं आयोजित की जा रही हैं।



जालंधर, मोहाली, कपूरथला, अमृतसर, फगवाड़ा, लुधियाना, पटियाला, बटाला जैसे शहरों में कई जगहों पर छुटपुट घटनाएं हुईं। राज्य में धारा-144 लागू होने के बावजूद कई जगहों पर राजोआना के समर्थन में लोग सड़कों पर उतर आए।




सूबे में कई जगहों पर सुरक्षा बलों ने फ्लैग मार्च किया। पुख्ता सुरक्षा इंतजाम के लिए अर्द्धसैनिक बलों की कई कंपनियां राज्य में तैनात की गई हैं। राजोआणा पटियाला की सेंट्रल जेल में बंद है। पटियाला की सेंट्रल जेल समेत पूरे जिले में सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए हैं। प्रदर्शनकारियों पर नज़र रखने के लिए जिले में कई जगहों पर कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। कानून व्यवस्था कायम रखने के लिए प्रदेश में पुलिस हाई अलर्ट पर है।



हत्‍यारे ने कबूला था गुनाह

31 अगस्त 1995 को पंजाब विधानसभा के सामने तत्कालीन मुख्यमंत्री बेअंत सिंह की कार को बम विस्फोट से उड़ाया गया था। सीएम समेत कुल 17 लोगों की जान गई थी। सीबीआई की विशेष अदालत ने 31 जुलाई 2007 को जगतार सिंह हवारा और बलवंतसिंह राजोआणा को फांसी की सजा सुनाई थी। ‘स्‍टैंड बाई’ मानव बम बलवंत ने अदालत में कबूल किया कि बेअंत सिंह की हत्‍या की साजिश में वह शामिल था और उसे इसका कोई अफसोस नहीं है। जबकि हवारा ने फैसले के खिलाफ अपील की थी। हाईकोर्ट ने 12 अक्तूबर 2010 को हवारा की फांसी की सजा को आजीवन कारावास में बदल दिया था।


Related Articles:
बेअंत सिंह के हत्यारे का डेथ वारंट बरकरार

अखिलेश की संपत्ति 5 करोड़, पर पूरा परिवार है सीएम का कर्जदार

सांसदों पर फिर हावी हुई टीम अन्‍ना, कहा- मांगने से नहीं मिलेगी इज्‍जत

PHOTOS द्रविड़ के सम्‍मान समारोह से दूर रहे सचिन, राहुल ने भी नहीं लिया उनका नाम








Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
DBPL T20
Web Title: balwant singh hanging row
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From National

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top