Home »National »Latest News »National » Home Ministry Under Fire On New Criminal Law Bill

सरकार की नजर में पीछा करना, कपड़े उतारना अपराध नहीं!

dainikbhaskar.com | Jan 04, 2013, 14:48 IST

नई दिल्‍ली.देश की राजधानी दिल्‍ली में 23 साल की स्‍टूडेंट से चलती बस में गैंग रेप और उसकी मौत से उपजा जनाक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है। महिलाओं की सुरक्षा और रेप जैसे घिनौने अपराध के लिए कानून सख्‍त किए जाने की मांग भी तेज हो रही है। लेकिन पीछा करने और कपड़े उतारने जैसे दुष्‍कृत्‍योंपर केंद्र सरकार के रुख से विवाद और बढ़ने की आशंका है।

गृह मंत्रालय की नजर में किसी लड़की या महिला का पीछा करना और कपड़े उतारना यौन अपराध की श्रेणी में नहीं आते हैं। मंत्रालय का तर्क है कि इन्हें कोर्ट में परिभाषित करना और साबित करना कठिन होता है। इसलिए सरकार ने नए आपराधिक कानून संशोधन बिल-2012 में पीछा करने, कपड़े उतारने, नंगी परेड कराने और बाल मुंडवाने को यौन अपराध की अलग श्रेणी में नहीं रखने का फैसला किया है।

हालांकि हाल में ऐसी घटनाएं सामने आई हैं जिसमें पीछा करने वाले शख्‍स ने रेप किया और यहां तक कि अपने 'शिकार' का मर्डर भी कर दिया। प्रियदर्शिनी मट्टू का भी आरोपी संतोष सिंह ने लंबे समय तक पीछा किया था और उसका रेप करने के बाद हत्‍या कर दी थी।

आगे पढ़ें- कैसे कानून करता है रेपपीडि़तों का 'बलात्‍कार'....

रेप किया, गोली मारी और फिर फेंक दिया

रेप के आरोपी कांग्रेस नेता को महिलाओं ने पीटा, किया नंगा

'दामिनी'को बस से कुचल कर मारना चाहते थे 'बलात्‍कारी'

''10-10ब्‍वॉयफ्रेंड रखकर रेप के खि‍लाफ प्रदर्शन करती हो''

दामिनी की अंतिम इच्‍छा क्‍या पूरी करेगी सरकार?

डॉक्टर ने बयां की दरिंदगी की असली कहानी!

महिला वैज्ञानिक बोलीं-लड़की छह लोगों से घिर गई थी तो समर्पण क्यों नहीं कर दिया?


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Home Ministry under fire on new Criminal Law Bill
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From National

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top