Home »National »Latest News »National» Mahesh Jethmalani To Put Up 'token Fight' Against Gadkari

भाजपा की मुसीबत बढ़ी, जेठमलानी फिर गडकरी के खिलाफ

dainikbhaskar.com | Jan 22, 2013, 07:41 IST

  • नई दिल्ली.निेतिन गडकरी ने बीजेपी अध्‍यक्ष पद से इस्‍तीफा दे दिया है। उन्‍हें दोबारा अध्‍यक्ष बनाए जाने का कई नेता विरोध कर रहे थे। बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी भी इसके खिलाफ थे। उन्‍हें संघ भी मना नहीं पाया था। बीजेपी सूत्रों के मुताबिक पार्टी के गडकरी को दूसरा कार्यकाल दिए जाने के पक्ष में आडवाणी एकदम नहीं हैं। मंगलवार को आरएसएस के वरिष्ठ नेता सुरेश सोनी ने आडवाणी से उनके आवास पर मुलाकात की। बीजेपी सूत्रों के मुताबिक संघ की ओर से लगातार कोशिश की जा रही थी कि आडवाणी गडकरी को लेकर मान जाएं, लेकिन आडवाणी ने फिर से साफ किया है कि गडकरी और उनसे जुड़ी रही कंपनी पर चल रही आयकर जांच कभी भी पार्टी पर भारी पड़ सकती है। ऐसे में वे गडकरी को दूसरा कार्यकाल दिए जाने के हक में नहीं हैं।
    वहीं, मुंबई में आयकर विभाग ने पूर्ति कंपनी में निवेश करने वाली कुछ कंपनियों के नौ ठिकानों पर छापे की कार्रवाई को अंजाम दिया। पूर्ति ग्रुप ने एक रिलीज जारी कर सफाई दी है कि आयकर विभाग की ताज़ा छापेमारी का उससे कोई लेना देना नहीं है। नितिन गडकरी का अब पूर्ति ग्रुप से कोई संबंध नहीं है। लेकिन पहले वे इस कंपनी से जुड़े रहे हैं। इसी मामले में बीजेपी गडकरी को एक फरवरी को आयकर विभाग के सामने पेश होना है। इससे पहले आयकर विभाग ने उन्‍हें नोटिस भेजा था। जिस पर पार्टी और खुद गडकरी ने कहा था कि उन्‍हें ऐसा कोई भी नोटिस नहीं मिला। अब खुद गडकरी चाहते हैं कि एक फरवरी के वक्‍त को थोड़ा और आगे बढ़ा दिया जाए। गडकरी के वकील सोमवार को आयकर विभाग के ऑफिस का भी चक्‍कर काट चुके हैं।

    मैं नहीं चाहता हूं कि मेरे ऊपर जो आरोप लगे है उसके चलते पार्टी को कोई नुकसान पहुंचे। इसीलिए मैं इस्तीफा दे रहा हूं। बुधवार सुबह 9:30 बजे होने वाली बीजीपी संसदीय दल की बैठक में अलगे अध्यक्ष को लेकर फैसला होगा।

    22जनवरी की प्रमुख खबरें

    EXCLUSIVE:सिमी ने कांग्रेस को बताया आरएसएस से ज्‍यादा खतरनाक

    चौटाला को सजा से भड़के समर्थकों ने कोर्ट में फेंका बम

    INSIDE STORY:भाई की मदद के लिए गुपचुप जयपुर पहुंच गई थीं प्रियंका

    जिगोलो बना हू-तू-तू,हजार चौरासी की मां का एक्‍टर,न्‍यूड तस्‍वीरें भेजने पर पकड़ाया

    पर्दे पर अबदबंग नहींराधे सलमान खान देखिए

    पति को पेड़ से बांध25साल की महिला से गैंग रेप

    PICS:ओबामा की शपथ ग्रहण में कैमरे की नज़र टिकी मिशेल पर!

    58साल की रेखा करेंगी फिल्म में डांस नंबर

    सचिन का बेटा होना अर्जुन तेंडुलकर को पड़ेगा भारी?

    21जनवरी की प्रमुख खबरें

    बयान पर बवाल:राजस्‍थान में फूंका गया शिंदे का पुतला,दिग्विजय सिंह ने आतंकी सईद को कहा साहब

    राहुल गांधी ने पहली बार दुनिया को बताईं निजी जिंदगी की ये5बातें

    LIVE:भाजपा में पार्टी विलय के बाद रो पड़े कल्याण सिंह

    फिल्‍मफेयर अवार्ड्स:शाहरुख पर भारी पड़े रणबीर,विद्या से पिछड़ीं प्रियंका

    बेहोशी का इंजेक्शन देकर बार-बार गैंगरेप,बनायाMMSऔर दो दिन बाद कार से फेंका

  • गडकरी के अलावा सुषमा की चर्चा
    बीजेपी के कई नेताओं ने गडकरी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद उनके दोबारा से अध्यक्ष चुने जाने का खुलकर विरोध किया था। पार्टी के एक धड़े ने तो उनके मौजूदा कर्यकाल को बरकरार रखने पर भी आपत्ति जताई थी। आडवाणी ने तो विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने का प्रस्ताव दिया था। सूत्रों के मुताबिक उन्होंने आरएसएस को गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को पार्टी अध्यक्ष बनाए जाने का भी प्रस्ताव दिया था।
    हालिया महीनों में गडकरी और उनकी कंपनी पूर्ति पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे। इससे भाजपा के अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों के लिए कांग्रेस के खिलाफ अभियान को भी झटका लगा था।

    बीजेपी में अध्यक्ष के चुनाव को लेकर जारी विवाद के बाद मंगलवार शाम को केंद्रीय गृह सचिव आरके सिंह ने कहा कि उनके पास आरएसएस के आतंकी गतिविधियों में लिप्त होने के पुख्ता सबूत मौजूद हैं। उन्होंने समझौता एक्सप्रेस, मक्का मस्जिद और दरगाह शरीफ में हुए धमाकों में शामिल कम दस लोगों के आरएसएस से संबंधित होने के सबूत होने की बात कही है। वहीं आरएसएस के समर्थन के बावजूद गडकरी का बीजेपी अध्यक्ष निर्विरोध चुने जाने की उम्मीद कम है। वहीं बीजेपी के नेता महेश जेठमलानी को अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के लिए नामांकन फॉर्म नहीं दिया गया। गडकरी का विरोध करने वाले बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा के नामांकन पत्र लेने पर उनके गडकरी के विरोध में पार्टी अध्यक्ष का चुनाव लड़ने की अटकलें तेज हो गई हैं। अध्यक्ष पद का चुनाव करवा रहे थावरचंद गहलोत ने कहा है कि उनके पास किसी व्यक्ति का फोन आया था, जो खुद को महेश जेठमलानी का प्रतिनिधि बता रहा था। गहलोत के मुताबिक, 'मैंने उस व्यक्ति से कह दिया कि आप महेश जेठमलानी की ओर से अथॉरिटी लेटर लेकर आइए, मैं आपको नामांकन का फॉर्म दे दूंगा। उन्होंने कहा है कि यशवंत सिन्हा के अलावा उनसे किसी और ने नामांकन पत्र नहीं मांगा है।' हालांकि, इस मामले में खुद महेश जेठमलानी मीडिया के सामने आए और उन्होंने कहा कि अध्यक्ष पद की होड़ में वे नहीं हैं।

  • मेरी इच्छा है जब मरूं तो भाजपा के झंडे में लिपटूं
    उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह फिर भाजपा की शरण में आए हैं। उनकी जनक्रांति पार्टी (राष्ट्रवादी) का सोमवार को औपचारिक तौर पर भाजपा में विलय हो गया। हालांकि दलबदल कानून के कारण वे खुद अभी भाजपा की सदस्यता नहीं ले सके हैं। लेकिन रैली में उन्होंने कहा कि ‘आरएसएस की संस्कृति मेरी रगों में दौड़ती है। मेरी इच्छा है कि जब मरूं तो भाजपा के झंडे में लिपटूं।’
    दोनों दलों के विलय की घोषणा लखनऊ में आयोजित रैली में कल्याण के बेटे राजवीर ने की। सभा में भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी, राजनाथ सिंह, विनय कटियार, उमा भारती, मुख्तार अब्बास नकवी और कलराज मिश्र प्रमुख हैं। रैली के बाद पत्रकारों से बातचीत में कल्याण ने कहा, ‘मैं अभी भाजपा की सदस्यता नहीं ले रहा हूं। मुझे ऐसा करने के लिए पहले लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा देना होगा। इससे उपचुनाव की स्थिति बनेगी जो गैरजरूरी है। क्योंकि 2014 में आम चुनाव होने हैं।’
    कल्याण सिंह ने केंद्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे के जयपुर में दिए बयान की आलोचना की। शिंदे ने कहा था कि आरएसएस और भाजपा हिंदू आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे हैं। कल्याण ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘गृह मंत्री के बयान के लिए प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पूरे हिंदू समुदाय से माफी मांगना चाहिए।’ उन्होंने कहा, ‘भाजपा मुस्लिम विरोधी नहीं है। वह तो सबके लिए समान न्याय की बात करती है।’
  • सलमान पर बीजेपी-आरएसएस का हमला
    भाजपा प्रवक्ताओं शाहनवाज हुसैन और रविशंकर प्रसाद ने नई दिल्ली में मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस कर गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे के हिंदू आतंकवाद और विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद के उनके समर्थन करने वाले बयानों की आलोचना की। भाजपा ने कहा कि पूरा दुनिया जानती है कि पाकिस्तान आतंकवाद का अड्डा है और दुनिया को यह बताने में भारत का बड़ा हाथ है। अब भारत सरकार के मंत्रियों के बयानों से देश की इस कोशिश को चोट पहुंची है।
    वहीं गडकरी ने कहा है कि पूर्ति समूह पर आयकर विभाग की रेड सरकार के इशारे पर हो रही है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के होने वाले चुनावों के मद्देनजर केंद्र सरकार के इशारे पर जांच की जा रही है। पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए नामांकन भरने की प्रक्रिया बुधवार सुबह से शुरू हो जाएगी।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Mahesh Jethmalani to put up 'token fight' against Gadkari
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From National

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top