Home »National »Latest News »National» Sant Shri Asharamji Bapu

'संत' आसाराम और आठ विवाद

dainikbhaskar.com | Jan 08, 2013, 14:06 IST

  • नई दिल्‍ली। दिल्‍ली गैंगरेप की शिकार दामिनी को ही दोषी ठहराने और फिर आलोचकों की तुलना कुत्‍ते से करने वालेआसाराम बापू पर एक और केस दर्ज हुआ है। यह मुकदमा बिहार में दर्ज हुआ है। मुजफ्फरपुर सीजेएम कोर्ट में अधिवक्ता सुधीर कुमार ओझा ने मुकदमा दर्ज कराया है। सीजेएम ने मामले में संज्ञान लेते हुए आगामी दो फरवरी को सुनवाई की तिथि मुकर्रर की है। ओझा ने आरोप लगाया है कि दिल्ली सामूहिक दुष्कर्म पीडि़ता को दोषी बताया जाना महिलाओं के अस्मिता को ठेस पहुंचाना है। उनके बयान से अपराधियों का मनोबल बढ़ेगा। इससे पहले आसाराम पर केस दर्ज करने के लिए उत्‍तर प्रदेश में भी कोर्ट में अर्जी दी जा चुकी है। लेकिन आसाराम ने विवादित बयान देने का सिलसिला रोका नहीं है।
    देश जहां पाकिस्‍तानी फौज की बर्बर हरकतपर गुस्‍से में है, वहीं बुधवार को लगातार चौथे दिन आसाराम ने विवादित बयान दिया। इस बार कहा, ‘युवक-युवतियों में दोस्ती, यानी सत्यानाश होना तय है।’ वह बुधवार को बारामती (महाराष्‍ट्र) में सत्संग में बोल रहे थे। उन्होंने कहा, ‘विदेशों में हर साल पांच लाख से ज्यादा लड़कियां गर्भपात कराती हैं। यह गंदगी भारत में न आने दें। युवक युवकों से तथा युवतियां युवतियों से ही दोस्ती करें। युवक-युवती में मैत्रीपूर्ण प्रेम संबंधों का बढऩा यानी सत्यानाश होना तय है।’ आसाराम जहां ऐसा कह रहे हैं, वहीं बॉलीवुड के निर्देशक महेश भट्ट कुछ अलग ही राय दे रहे हैं। उनका कहना है कि अब तो 'मल्‍टी पार्टनर सेक्‍स' का जमाना आ गया है। छोटे शहरों में भी एक से ज्‍यादा पार्टनर से सेक्‍स का चलन बढ़ रहा है और समाज को इसे स्‍वीकार कर लेना चाहिए (उनकी पूरी बात यहां पढ़ें)
    आसाराम ने यह भी कहा, ‘दुष्कर्म पीडि़त छात्रा के बारे में मेरा वक्तव्यगलत नहीं था। जो इसे गलत साबित करेगा उसे मैं 50 लाख रुपए पुरस्कार दूंगा।’ (दिल्‍ली गैंगरेप केस का अपडेट पढ़ें)
    आसाराम का विवादों से पुराना नाता रहा है। खुद को संत कहने वाले आसाराम को बात बात में गुस्‍सा आ जाता है। वह कभी मीडिया पर भड़क जाते हैं तो कभी नरेंद्र मोदी पर। इतना ही नहीं, आसाराम के आश्रम में बच्‍चों की लाश भी मिल चुकी है। आरोप लगा कि आश्रम में काला जादू होता है। दवाइयों में भी मिलावट का आरोप लगा तो आश्रम में छापे पड़े। लेकिन इस बार आसाराम ने दिल्‍ली गैंग रेप की शिकार लड़की को को ही घटना के लिए दोषी बता दिया। जब मीडिया ने उनके बयान को दिखाना शुरू किया तो उन्‍होंने मीडिया पर ही इल्‍जाम लगा दिया कि विदेशी पैसे से चल रहा मीडिया उन्‍हें बदनाम करने पर तुला हुआ है। आसाराम से जुड़े विवादों पर एक नजर:
    फोटो: दिल्ली गैंगरेप की घटना की पीडि़ता को लोग अपने-अपने तरीके से श्रद्धांजलि दे रहे हैं। अहमदाबाद में पतंग के माध्यम से ‘दामिनी’ को श्रद्धांजलि दी गई।
    यह भी पढ़ें

    दिल्‍ली गैंगरेप:पिता ने दुनिया को बताया बेटी का नाम

    आसाराम बापू ने दिल्‍ली गैंगरेप की शिकार को ही बताया दोषी !

    आंखों देखी:तन ढंकने के लिए किसी ने कपड़े तक नहीं दिए थे 'दामिनी'को...

    महिलाओं को नंगा करना यौन अपराध नहीं!बलात्‍कारी के बाद कानून करता है पीडि़ता का 'बलात्‍कार'

    'नाबालिग'आरोपी ने की थी सबसे ज्‍यादा दरिंदगी,दो बार किया था 'दामिनी'का बलात्‍कार!

    "मां के कलेजे से लग कर दो बार कहा था सॉरी,पहली बार होश में आते ही मांगी थी टॉफी"

    भाजपाई मंत्री की महिलाओं को नसीहत-लक्ष्‍मणरेखा पार करेंगी तो रावण करेगा अपहरण

  • सितंबर 2010 में सूरत में होली के मौके पर आयोजित एक सम्मेलन में आसाराम पूरे रंगीन मिजाज में रंगे दिखे थे। मंच पर मटकते हुए आने के बाद उन्‍होंने विदेशी भक्‍तों को बुला कर अपने बारे में कुछ कहने को कहा। ये दोनों विदेशी मां-बेटे थे। विदेशी पुरुष ने आसाराम की तारीफ करते हुए जमकर कसीदे पढ़े। उसने आसाराम को अपना बाप माना। तो आसाराम ने उसकी मां को भी मंच पर बुलाकर अपने बारे में कुछ कहने को कहा। बापू ने कहा कि तुम बोलो कि बापू को मैं बहुत प्यार करती हूं। बापू बहुत हॉट हैं। बात यहां भी नहीं रुकी। बापू ने इस महिला के बेटे से पूछा कि यदि मैं तुम्हारा बाप हूं तो तुम्हारी मां क्या है मेरी?
  • पत्रकारों की पिटाई
    आसाराम और उनके समर्थकों पर मीडियाकर्मियों की पिटाई का आरोप भी लगा है। प्रवचन करने वाले आसाराम बापू गत वर्ष अप्रैल में भी विवादों में आए थे। तब उन पर मारपीट करने का आरोप लगा था। समाचार कवरेज के लिए पहुंचे रोहित गुप्‍ता नाम के एक इलेक्ट्रॉनिक चैनल के पत्रकार ने पीटने व कैमरा तोड़ने के आरोप में आसाराम बापू व उनके अज्ञात समर्थकों के खिलाफ लूट, मारपीट व धमकी देने का मुकदमा दर्ज कराया था।
    भदोही के गोपीगंज में रामलीला मैदान में संत आसाराम बापू का प्रवचन व सत्संग था। बापू के साथ कई वाहनों का काफिला एक कंपनी के परिसर में पहुंचा था। काफिले में एक लालबत्ती लगी गाड़ी भी थी। एक टीवी चैनल के पत्रकार रोहित गुप्ता ने लालबत्ती वाहन समेत बापू की रिकॉर्डिंग कर ली। इस पर आसाराम बापू और उनके समर्थक भड़क उठे और गुप्ता की पिटाई करने के साथ ही कैमरा छीनकर तोड़ डाला। इस दौरान गुप्ता को गंभीर चोटें आईं। बाद में आसाराम सहित उनके अज्ञात समर्थकों पर मुकदमा दर्ज किया गया।
  • भक्‍तों को दी गाली
    इंदौर में आसाराम बापू ने मंच से ही भक्तों को गाली दे दी थी। उन्‍होंने एक सेवादार को अपशब्‍द कहे। इंदौर में बापू ने प्रवचन के दौरान ही आपा खो दिया और मंच से ही सेवादार को डांटते हुए उनके लिए कई अपशब्‍द कहे। दरअसल, यह सेवादार लोगों को पानी पिला रहा था। वह एक ही गिलास को बार-बार बाल्‍टी में डुबा कर पानी निकाल कर लोगों को पिला रहा था। इसी पर आसाराम भड़क गए। उन्‍होंने कहा कि इंसानों को पानी पिला रहे हो, ढोरों को नहीं। गंदे कहीं के। मग्‍गे से भर कर पानी दिया करो। पागल सेवादार। उसके कपड़े उतार के घर भेजो। बेशर्म कहीं के।
  • आश्रम के बच्‍चों की मौत
    आसाराम के आश्रम से वर्ष 2008 में दो बच्‍चे लापता हो गए थे। कई दिनों बाद बापू के गुरुकुल के दो बच्चों की लाशें आश्रम के पास की नदी के किनारे से मिली थीं। इन दोनों बच्चों के नाम दिपेश वघेला (11 वर्ष) और अभिषेक वघेला (10 वर्ष) थे। पुलिस ने दोनों बच्चों का पोस्टमार्टम कराने के बाद कहा था कि यह एक सामान्य सी डूबने की घटना है। लेकिन बच्चों के अभिभावकों ने जब इस मामले में हंगामा किया तो शहर के काफी लोग उनके साथ जुड़ गए और इस मामले को हत्या का मामला दर्ज करके जांच करने की मांग की थी। दोनों बच्चों के शवों के कुछ अंग गायब पाए गए थे। इसलिए लोगों का आरोप है कि इन बच्चों की काला जादू के लिए बलि दी गई।
  • भक्‍त की फूटी आंख
    राजस्‍थान में आसाराम बापू के खिलाफ उनका ही एक 'भक्‍त' कथा के दौरान लापरवाही बरतने का मुकदमा दर्ज करवा चुका है। श्रद्धालु का आरोप था कि प्रसाद के रूप में इलेक्ट्रॉनिक मशीन से टॉफी बांटने के दौरान उसकी आंख चोटिल हो गई। कथा समाप्त होने पर बापू ने एक ट्रॉली पर सवार होकर इलेक्ट्रॉनिक मशीन से प्रसाद के रूप में श्रद्धालुओं में टॉफियां बांटीं। इस दौरान कई लोगों के सिर व मुंह पर टॉफियां गिरीं तथा उसकी आंख से भी टकराई। इस बीच तेज गति से एक टॉफी लगने से हरिराम की आंख चोटिल हो गई, जिसके कारण स्थानीय डॉक्टर ने उसे किसी बड़े अस्पताल में आंख का उपचार कराने की सलाह दी। रिपोर्ट में आयोजन समिति के प्रबंधन को भी आरोपी बनाया गया।
  • नरेंद्र मोदी को भी धमका चुके हैं आसाराम
    गुजरात में एक बार आसाराम बापू ने चुनौती भरे लहजे में नरेंद्र मोदी से कहा था कि भगवान के काम में सरकार अडंगा ना डाले वरना वो खुद ही नष्ट हो जायेंगे। आसाराम बापू और नरेंद्र मोदी के बीच खींचतान कोई नई बात नही है। आसाराम बापू के आश्रम में बच्चे की लाश मिलने का मामला हो या आश्रम की जमीन का विवाद हो, नरेन्द्र मोदी और आसाराम बापू आमने-सामने आते रहे है| बापू कई बार कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर भी कटाक्ष कर चुके हैं।

  • सेवादारों से करवाई उठक-बैठक
    मई, 2012 में जालंधर में भी आसाराम विवादों में फंस गए थे। आसाराम सत्संग में पहुंचे तो थे आर्शीवाद देने, लेकिन पंडाल में पहुंचते ही उनका चेहरा गुस्से से लाल हो गया। पंडाल में संगत को गर्मी से राहत के लिए एक भी पंखे का न लगा होना उनके गुस्से की वजह बना। बापू ने अपने सेवादारों को बुला संगत के सामने ही पंखे न लगवाने के कारण उठक-बैठक करवाई।
  • दवाइयों पर भी सरकार की नजर
    आसाराम के आश्रम में बनी दवाइयां पूरे देश में बेची जाती हैं। गोधरा आश्रम पर पुलिस एक बार छापा भी मार चुकी है। खाद्य और औषधि विभाग ने वहां से कुछ आयुर्वेदिक दवाईयां जब्‍त की थीं। विभाग को सूचना मिली थी कि आश्रम में बनाई जा रही दवाइयों में सुरक्षा मानकों का ध्‍यान नहीं रखा जा रहा है। एक व्‍यक्ति ने शिकायत की थी कि यहां बनी दवा डालने के बाद उसकी आंखों में जलन हुई और नुकसान हुआ। आसाराम आश्रम के केन्द्रीय मीडिया प्रभारी डॉ. सुनील वानखेड़े ने इसे आश्रम को बदनाम करने की साजिश बताया था। आसाराम बापू के आश्रम में बड़े पैमाने पर आयुर्वेदिक दवाइयां बनाई जाती हैं। ज्‍यादातर उत्‍पादन अहमदाबाद के आश्रम में होता है। यहां से देशभर में फैले केन्‍द्रों के माध्‍यम से लोगों को बेचा जाता है।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Sant Shri Asharamji Bapu
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From National

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top