Home »National »Latest News »National » The Past Of Afzal Guru

क्या था गिटार पर गजल गाने वाले अफजल की जिंदगी का सच, जानिए

dainikbhaskar.com | Feb 10, 2013, 07:05 IST

क्या था गिटार पर गजल गाने वाले अफजल की जिंदगी का सच, जानिए, national news in hindi, national news
नई दिल्ली. 'मिनी लंदन' कहे जाने वाले कश्मीर के सोपोर कस्बे से कुछ किलोमीटर पहले झेलम नदी के किनारे शीर जागीर गांव में अफजल गुरु का जन्म हुआ था और उसकी परवरिश भी इसी गांव में हुई थी। गांव तक पहुंचने के लिए सेना के एक शिविर से होकर गुजरना पड़ता है और यह रास्ता कच्चा है। (पढें-अफजल के अंतिम पलों का ब्‍यौरा)
शीर जागीर और उसके आसपास के गांवों में सेब के सैकड़ों बागीचें हैं। इसी गांव में अफजल का दो मंजिला घर है, जिसके आगे लॉन भी है। घर पर ताला लगा हुआ है। कुछ महीने पहले तक यहां अफजल का छोटा भाई हिलाल रहता था। अफजल के मां-बाप के चार बेटे थे। एक गांव वाले के मुताबिक, 'पिछले साल नवंबर में कसाब को फांसी होने के बाद अफजल का भाई काफी डरा हुआ था और उसने अपनी पत्नी को बताया था कि अगला नंबर अफजल का हो सकता है।' गांव वालों के मुताबिक हिलाल और उसकी पत्नी ने बहुत जल्दबाजी में घर छोड़ा था। (अफजल गुरु को फांसी)
(तस्वीर: युवा अफजल की फाइल फोटो)

पढें-अफजल के अंतिम पलों का ब्‍यौरा

अफजल गुरु को फांसी

अफजल की फांसी:हड़बड़ में गड़बड़ कर गए गृह मंत्री

कश्‍मीर में कर्फ्यू,गुजरात में मनी होली,देखें तस्‍वीरें

टाइमलाइन:संसद पर हमले से अफजल की फांसी तक का घटनाक्रम

प्रतिक्रियाएं:पाकिस्‍तान में विरोध,सरबजीत को फांसी की मांग

अफजल की फांसी के क्‍या हैं मायने,पढें विशेषज्ञों की टिप्‍पणी

संसद पर हमले की तस्‍वीरें देखें

OPERATION X: कसाब को कैसे दी गई थी फांसी,जानें

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: The past of Afzal Guru
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From National

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top