Home »National »Photo Feature» Top Expressway Of India

PIX :टॉप-एक्सप्रेस-वे जहां थमती नहीं रफ्तार

dainik bhaskar | Jan 02, 2013, 17:27 IST

  • किसी भी देश की उन्नति में वहां के रोड नेटवर्क का बड़ा हाथ होता है। भारत में वैसे तो विश्व का तीसरा सबसे बड़ा रोड नेटवर्क है लेकिन इसकी स्थिति कुछ बहुत ज्यादा अच्छी नहीं है। अभी भी देश में नेशनल हाई-वे और स्टेट हाई-वे की हालत वाहनों की रफ्तार पर ब्रेक लगाए हुए है। ऐसे में देश में स्पीड व सुरक्षा देने के नाम पर गिने चुने एक्सप्रेस-वे के नाम ही याद आते हैं। हालांकि इन एक्सप्रेस-वे ने वाहनों की ही नहीं क्षेत्र के विकास की रफ्तार को भी पंख लगा दिए हैं...
    आइए नजर डालते हैं देश के ऐसे ही चुनिंदा एक्सप्रेस-वे पर जो देश के रोड नेटवर्क में अपनी अलग पहचान रखते हैं...
    ( फोटो- यमुना एक्सप्रेस-वे का)
  • यमुना एक्सप्रेस-वे
    165 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस-वे को ताज एक्सप्रेस के नाम से भी जाना जाता है। ग्रेटर नोएडा को आगरा से जोड़ने वाला यह देश का सबसे लंबा सिक्सलेन कंट्रोल एसेस एक्सप्रेस-वे है। इसमें 7 इंटरचेंजर, 35 इंटरपास, एक आरओबी और एक बड़े ब्रिज के अलावा 42 छोटे ब्रिज शामिल है। करीब 12893 करोड़ की लागत से बना यह एक्सप्रेस-वे रोड नेटवर्क में देश की बड़ी उपलब्धियों में एक है।
  • मुंबई- पुणे एक्सप्रेस-वे
    मुंबई से पुणे के बीच 93 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस-वे का निर्माण महाराष्ट्र स्टेट रोड डेवलपमेंट कारपोरेशन द्वारा किया गया। अप्रैल 2002 में इस पर वाहनों ने दौड़ना शुरू किया। इसे देश का पहला सिक्स लेन स्पीड एक्सप्रेस होने का इसे गौरव प्राप्त है। इसकी लागत करीब 1630 करोड़ रुपए है।
  • अहमदाबाद-वडोदरा एक्सप्रेस वे
    गुजरात के अहमदाबाद और बड़ोदरा को जोड़ने वाले इस 95 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस-वे पर वाहनों की आवाजाही 2004 में शुरू हुई। इसे नेशनल एक्सप्रेस-वे के नाम से भी जाना जाता है। इसका निर्माण स्वर्णिम चतुर्भुज योजना के तहत हुआ था।
  • दिल्ली गुड़गांव एक्सप्रेस-वे
    करीब 28 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस-वे के बनने से दिल्ली और गुड़गांव के बीच रोजाना लगने वाले जाम से राहत मिली है। दिल्ली में धौला कुंआ से शुरू होकर यह मानेसर तक जाता है। जनवरी 2008 से इस पर यातायात प्रारंभ हुआ
  • जयपुर-किशनगढ़ एक्सप्रेस-वे
    स्वर्णिम चतरुभुज योजना के तहत बने इस एक्सप्रेस-वे की लंबाई 90 किलोमीटर है। जयपुर से किशनगढ़ के बीच इस एक्सप्रेस-वे से रोजाना करीब 20 हजार वाहन निकलते हैं।
  • इलाहाबाद बाय-पास
    करीब 86 किलोमीटर लंबा इलाहाबाद बाय-पास देश के चार महानगरों दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई को आपस में सड़क मार्ग से जोड़ता है। इसका निर्माण भी स्वर्णिम चतुभरुज योजना के तहत हुआ था।
  • अंबाला-चंडीगढ़ एक्सप्रेस-वे
    298 करोड़ की लागत से बने इस 35 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस-वे ने अंबाला और चंडीगढ़ के बीच यातायात को बेहद सुगम बना दिया है। वर्ष 2009 में इसका निर्माण पूरा हुआ था।
  • चेन्नई बाय-पास
    चेन्नई बाय-पास नेशनल चार नेशनल हाई-वे (एनएच-45 ,एनएच-4 ,एनएच-205 व एनएच 5 को जोड़ता है। करीब 32 किलोमीटर लंबे इस बाय-पास का निर्माण 405 करोड़ से हुआ था।
  • दिल्ली नोएडा डायरेक्ट फ्लाई-वे
    दिल्ली से नोएडा को जोड़ने वाला यह 8 लेन फ्लाई-वे करीब 9.2 किलोमीटर लंबा है। दिल्ली और नोएडा के बीच डायरेक्ट कनेक्शन के कारण इसे डीएनडी के नाम से जाना जाता है।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: top expressway of india
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Photo Feature

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top