Home »National »Latest News »National» Vadodara & Chennai Are Safest Eor Women In India

वड़ोदरा और चेन्नई महिलाओं के लिए सबसे सुरक्षित, क्या है कारण जानिए

Dainik bhaskar.com | Jan 06, 2013, 11:33 IST

  • दिल्ली गैंगरेप के बाद महिला सुरक्षा को लेकर देश भर में बहस छिड़ गई हैं। वहीं, दूसरी ओर देश के वडोदरा और चेन्नई इस मामले में मिसाल पेश कर रहे हैं। अपराध रोकने की बात हो तो देश के लिए वडोदरा एक मिसाल है और सबक भी। यह देश का सबसे शांत शहर है। इसकी वजह है 120 साल पहले लिया गया एक फैसला। राजा सयाजीराव गायकवाड़ की पहल ने समाज में महिलाओं के प्रति दृष्टिकोण को ही बदल दिया। यही कारण है कि पिछले तीन साल में दुष्कर्म के मामले दहाई का आंकड़ा नहीं छू पाए हैं। छेड़छाड़ के मामलों में भी कमी आई।
    आखिर क्या था वो फैसला जिसने वड़ोदरा की बदल थी तस्वीर और क्यों है चेन्नई सबसे सुरक्षित मेट्रो सिटी? जानने के लिए क्लिक करें आगे की तस्वीरें...
  • राजा सयाजीराव गायकवाड़ ने 120 साल पहले वडोदरा में महिला शिक्षा को अनिवार्य कर दिया। उन्हें खेलकूद और समाज की अन्य गतिविधियों में भी आगे लेकर आए। उसका असर आज दिखता है। महिला सुरक्षा-सम्मान के मामले में वडोदरा देश में एक अलग मुकाम रखता है। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के आंकड़े भी पुष्टि करते हैं। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के मुताबिक वर्ष 2011 में दिल्ली में महिला अपराधों की संख्या 4489 रही। मुंबई में यह संख्या 1700 व कोलकाता में 1161 रही। वहीं, चेन्नई में यह संख्या काफी कम 676 रही, जबकि वडोदरा में तो यह संख्या मात्र 23 थी।

  • सयाजीराव ने 1891 से महिला शिक्षा शुरुआत की। आदेश दिया कि जिस गांव में भी सौ बच्चे हैं, वहां स्कूल जरूर हो। तीन साल में वडोदरा राज्य में 632 स्कूल खोल दिए गए। प्राथमिक स्कूल तक शिक्षा अनिवार्य और मुफ्त कर दी गई। 1939 तक वडोदरा में 128 इंग्लिश मीडियम और 2414 गुजराती मीडियम के स्कूल खुले। राज्य में 1504 तो लायब्रेरी ही थीं। पढ़ाई का महौल बन गया। महिलाओं में आत्मविश्वास बढ़ा। नतीजा ये हुआ कि यह इलाका शिक्षा के मामले में देश में सबसे ऊपर आ गया। आज भी वड़ोदरा शहर की 89 फीसदी और जिले की 75 फीसदी महिलाएं पढ़ी-लिखी हैं। हालांकि, देश में सबसे ज्यादा साक्षर महिलाएं मिजोरम के सरछिप जिले में हैं। वहां 98.76 फीसदी महिलाएं पढ़ी-लिखी हैं।
  • शहर में आधुनिक शहरों की सभी सुविधाएं मौजूद हैं, लेकिन लोगों में पुराने संस्कार हमेशा दिखते हैं। समाजशास्त्री प्रो. पीएस चूड़ावत कहते हैं कि यह शहर महिलाओं के प्रति होने वाले अपराध को लेकर बेहद संवेदनशील है। लिहाजा महिलाओं पर कोई बुरी नजर डालने की जुर्रत नहीं करता। ऐसे समाज के लिए पुलिस को भी तेजतर्रार सिस्टम बनाना पड़ा है। पुलिस आयुक्त सतीश कुमार शर्मा कहते हैं, " ऐसी व्यवस्था की गई है कि महिलाओं से संबंधित केस में पुलिस पांच मिनट में मौके पर पहुंच जाए। केस की रोज मॉनिटरिंग की जाती है। पीड़ितों से मैं स्वयं मिलता हूं। लोगों से सुरक्षा के उपायों को लेकर चर्चा नहीं करना पड़ती। वे खुद ही अलर्ट रहते हैं।"

  • पारिवारिक मूल्यों से बना चेन्नई सबसे सुरक्षित मेट्रो

    सख्त पुलिसिंग और पारिवारिक मूल्यों ने चेन्नई के लोगों में विकार नहीं आने दिए। आज इसे महिलाओं के लिए सबसे सुरक्षित महानगर का दर्जा मिला हुआ है। यदि रात में महिलाओं को घर से बाहर निकलना होता है तो वे अपने पिता, भाई या किसी रिश्तेदार के साथ ही जाना पसंद करती हैं। यहां के ज्यादातर लोग गांव से आकर बसने वाली पहली पीढ़ी के हैं। इसलिए उनके रहन-सहन में अब भी ग्रामीण संस्कार झलकते हैं। कोई अपराध करने की हिमाकत करे, तो उसे रोकने के लिए यहां की पुलिस काफी सख्त है।

  • कुछ साल पहले एक पब के बाहर बदमाशों ने एक लड़की का पीछा किया। बचने की कोशिश में वह सड़क पार कर रही थी कि एक वाहन की चपेट में आ गई। उसकी मौत के बाद पुलिस ने शहर की ‘नाइट लाइफ’ का भी अंत कर दिया। शहर के होटल, पब, रेस्त्रां 11 बजे तक बंद करा दिए जाते हैं। पुलिस की इस सख्ती में कोई हस्तक्षेप करने की हिम्मत भी नहीं करता। हालांकि, एक तथ्य यह भी है कि रूढ़िवादी सामाजिक ढांचे में यहां महिलाओं के साथ परिवार में होने वाले कई अपराध रिपोर्ट भी नहीं किए जाते।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: vadodara & chennai are safest eor women in india
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From National

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top