Home »Punjab »Ludhiana» 7 To 10 Years In Cash Robbery

मणप्पुरम गोल्ड लोन की ब्रांच में 14 किलो सोना, कैश की डकैती में 7 को 10 साल कैद

मुनीश पुरंंग | Mar 21, 2017, 06:30 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
मणप्पुरम गोल्ड लोन की ब्रांच में 14 किलो सोना, कैश की डकैती में 7 को 10 साल कैद
लुधियाना।मलेरकोटला हाईवे गिल रोड पर स्थित मणप्पुरम गोल्ड लोन की ब्रांच में पिस्तौल और अन्य तेजधार हथियारों के बल पर 14 किलो 655 ग्राम सोना और 2.23 लाख कैश की डकैती करने वाले 7 दोषियों को 10 साल कैद की सजा सुनाई गई है। एडीशनल सेशन जज राजेश कुमार की अदालत ने सभी आरोपियों को 12-12 हजार रुपए का जुर्माना भी किया है।

जानकारी के मुताबिक थाना शिमलापुरी की पुलिस ने 30 जुलाई 2015 को जसपाल नगर के रहने वाले धर्मेंद्र, सुंदर नगर के रहने वाले करण कुमार, सुखदेव नगर के रहने वाले उत्तम कुमार, सम्राट कॉलोनी निवासी विनोद कुमार, फोकल प्वाइंट निवासी राहुल कुमार, न्यू सुंदर नगर निवासी गोबिंद और अरुण के खिलाफ डकैती और अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था।
इन आरोपियों ने मणप्पुरम गोल्ड लोन की ब्रांच में वर्कर रणजीत सिंह और अन्य को पिस्तौल के बल पर बंधक बनाकर 2.23 लाख रुपए की नकदी, 14 किलो 655 ग्राम सोना और मोबाइल फोन लूट लिया था। इसके बाद पुलिस ने रणजीत सिंह की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। पुलिस ने इन सभी आरोपियों को काबू करने के उपरांत अदालत में चालान पेश किया। अदालत ने सबूतों के आधार पर आरोपियों को 10-10 साल की सजा और जुर्माना भी किया गया है।
दो महिला मुलाजिमों समेत 5 को बनाया था बंदी
30 जुलाई 2015 को बाद दोपहर करीब 2.10 मिनट पर मलेरकोटला हाईवे रोड के गिल रोड पर स्थित मणप्पुरम गोल्ड लोन कंपनी के मुलाजिमों व एक महिला ग्राहक को हथियारों से लैस 7 लुटेरों ने बंदी बना कर 14 किलो सोना व 2.23 लाख की नकदी लूट ली थी। गौर हो कि ब्रांच में तैनात सिक्योरिटी गार्ड डंडे के सहारे करोड़ों का सोना और कैश की सुरक्षा में तैनात था। लुटेरों ने केवल 17 मिनट में लूट की वारदात को अंजाम दिया था। लुटेरों के पास पिस्तौलें, दातर व तेजधार हथियार थे।
वारदात के दौरान आरोपियों ने मुलाजिमों के मोबाइल फोन और सीसीटीवी कैमरे भी तोड़ दिए थे और एक मुलाजिम का आई-फोन भी साथ ले गए। लेकिन एक कोने में लगे कैमरे में वारदात की फुटेज कैद हो गई थी। वारदात के बाद लुटेरों ने दो महिला समेत चार मुलाजिमों को स्ट्रॉन्ग रूम व एक महिला ग्राहक को धमकी देकर लॉन में बैठा कर मेन गेट का ताला बंद कर रोशनदान से चाबी अंदर फेंक दी। महिला ग्राहक ने किसी तरह से स्ट्रॉन्ग रूम में बंद मुलाजिमों को बाहर निकाल कर बिल्डिंग की खिड़कियों से अपने बचाव के लिए शोर मचाया और किसी तरह से पुलिस को सूचित किया।

वारदात के समय बैंक में सिक्योरिटी गार्ड सिकंदर कुमार, ऑफिस इंचार्ज रणजीत सिंह, महिला मुलाजिम प्रीति व किरणदीप ब्रांच में थे। बैंक मैनेजर लखवीर सिंह चोपड़ा बैंक में पड़ा सोना किसी अन्य ब्रांच में रखने के लिए गए हुए थे। सिक्योरिटी गार्ड सिकंदर के अनुसार दो युवक ग्राहक बन कर ब्रांच में आए और फिर उन्होंने फोन पर अपने अन्य साथियों को बुला लिया। जिन्होंने आते ही मारपीट करनी शुरू कर दी और सीसीटीवी कैमरे तोड़ दिए। लुटेरों ने महिला कर्मियों से भी मारपीट की और सभी को एक कमरे में बंद कर वारदात को अंजाम दिया।
पुलिस ने लुटेरों को गिरफ्तार करने के लिए 7 टीमें बनाई थी। पुलिस ने पहले दिन 6 लोगों को हिरासत में ले लिया था। उनसे पता चला था कि लुटेरे बैंक के साथ वाली गलियों से आए और उनकी फुटेज भी पुलिस ने बरामद कर ली थी। लूट के मास्टर माइंड उत्तम कुमार उर्फ दीपू ने दूसरे गैंग के सरगना अनिल लाल उर्फ बंगाली व राहुल समेत 7 लोगों ने वारदात की थी। पुलिस ने 6 अगस्त को उत्तम कुमार उर्फ दीपू के अलावा डाबा के धर्मेन्द्र, कर्ण कुमार व विनोद कुमार को गिरफ्तार किया था। जिनसे पुलिस ने 5.30 किलो सोना, 2 पिस्तौल, 6 कारतूस व बाइक बरामद की थी। अन्य आरोपियों को बाद में गिरफ्तार किया था।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: 7 to 10 years in cash robbery
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Ludhiana

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top