Home »Punjab »Ludhiana» Kills The Curtain

गुस्साए पति, बेटों ने ऑर्थो सर्जन डॉ. जगदीप मदान को मारे लात-घूसे, कान का पर्दा फटा

bhaskar news | Apr 24, 2017, 06:41 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
गुस्साए पति, बेटों ने ऑर्थो सर्जन डॉ. जगदीप मदान को मारे लात-घूसे, कान का पर्दा फटा
लुधियाना.शास्त्रीनगर स्थित गुरु तेग बहादुर अस्पताल में हड्डी रोग माहिर डॉ. जगदीप मदान द्वारा घुटने खराब होने की बात बताने पर बुजुर्ग महिला के गुस्साए पति और दो बेटों ने ओपीडी में घुसकर लात-घूसों से हमला कर दिया। हमले से डॉक्टर के एक कान का पर्दा फट गया। मौके पर मौजूद अस्पताल स्टाफ और अन्य लोगों ने बीच-बचाव किया। जख्मी डॉ. मदान को गुरु तेग बहादुर अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। अपनी गलती से बचने के लिए हमलावरों ने अस्पताल मैनेजमेंट से शिकायत कर डॉक्टर पर मरीज को डराने और गलत हरकतें करने के आरोप लगाए। लेकिन बाद में सारे मामले का खुलासा हुआ तो मैनेजमेंट ने इसकी जानकारी पुलिस को दी।ये था मामला...
थाना मॉडल टाउन पुलिस ने महिला के पति सुनील कुमार, उसके बेटे हनीश सचदेवा और सोबत सचदेवा के खिलाफ केवल धारा 107/151 के तहत कार्रवाई की है। इस कार्रवाई से गुस्साए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन के ओहदेदारों ने मीटिंग कर रोष जताया। दोनों एसोसिएशंस का डेलीगेशन शुक्रवार को पुलिस कमिश्नर से इस संबंध में उचित कार्रवाई करने को लेकर मिलेगा। अगर पुलिस ने सही ढंग से जांच नहीं की तो शनिवार को दोनों एसोसिएशंस से जुड़े डॉक्टरों ने हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है। जानकारी के अनुसार ऑर्थो सर्जन डॉ. जगदीप मदान पिछले 22 सालों से जीटीबी अस्पताल में कार्यरत हैं। वीरवार सुबह 11 बजे महिला अनीता रानी उनके पास आईं और घुटनों में दर्द होने की बात कही। चेकअप करने पर डॉक्टर ने उनके घुटने खराब होने की बात कही। इसके बाद अनीता घर चली गई। करीब आधे घंटे वह पति और दोनों बेटों को साथ लेकर अस्पताल में डॉक्टर के कैबिन में पहुंचीं। उन्होंने डॉक्टर पर आरोप लगाते हुए कहा कि घुटने खराब होने की बात को अनीता ने दिल पर ले लिया है। जिस कारण वह परेशान है। आगे से डॉ. जगदीप मदान ने घुटने खराब होने की बात बोली तो गुस्साए आरोपियों ने हमला कर दिया। डॉक्टर पर ही लगाने शुरू कर दिए आरोप...
डॉ. जगदीप मदान ने बताया कि उनसे मारपीट के तुरंत बाद ही अपना बचाव करने के लिए हमलावरों ने अस्पताल मैनेजमेंट के पास जाकर उन पर ही झूठे आरोप लगाने शुरू कर दिए। आरोपियों ने अस्पताल मैनेजमेंट को कहा कि डॉक्टर ने उनके मरीज को बीमार बताकर डराना शुरू कर दिया। जिस कारण महिला मरीज काफी परेशान हो गई और घर आकर रोने लगी। आरोपियों ने डॉक्टर पर महिला के साथ गलत शब्दावली बोलने का भी आरोप लगाया। आारोपियों ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि इस संबंध में जब वे डॉक्टर से बात करने आए तो उन्होंने गलत शब्दावली का प्रयोग किया और कैबिन से बाहर जाने को कहा। जब वे बाहर गए तो डॉक्टर ने उनके साथ हाथापाई शुरू कर दी। लेकिन बाद में डॉक्टर मदान ने मैनेजमेंट को सारी सच्चाई बताई तो मामले का खुलासा हुआ। डॉ. मदान ने बताया कि हमले के कारण उनके कान का पर्दा फट गया और सिर में भी गहरी चोटें आई हैं। जिसके लिए शाम को उनके सिर की स्कैन करवाई गई।
ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन की मीटिंग, कड़ी कार्रवाई की मांग...
ऑर्थोपेडिकएसोसिएशन की ओर से इस घटना के बाद मीटिंग की गई है। एसोसिएशन के प्रेसिडेंट हरपाल सिंह ने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्य पूर्ण है कि इस तरह से डॉक्टर पर हमला होता है। डॉ मदान की एमएलआर रिपोर्ट बनवाई गई है और इस पर ही आगे की कार्रवाई होगी। आईएमए के ओहदेदारों को साथ लेकर शुक्रवार को पुलिस कमिश्नर कुंवर विजय प्रताप सिंह से मिल सख्त करवाई की मांग होगी। अगर उनकी मांगें नहीं मानी गई तो शनिवार को एमरजेंसी सेवाएं और ओपीडी बंद रखेंगे।
तीनों हमलावरों पर हो रही कार्रवाई...
-डॉ. जगदीप मदान द्वारा मरीज को बीमार बताने से परेशान होने की बात से गुस्साए महिला के पति और दोनों बेटों ने डॉक्टर पर हमला कर दिया था। जिस कारण डॉक्टर के कान और सिर में गहरी चोटें आई हैं। उनके बयान पर तीनों हमलावरों पर कार्रवाई की जा रही है। -गुरकेवलसिंह, एएसआई जांच अफसर, थाना मॉडल टाउन
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Kills the curtain
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Ludhiana

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top