Home »Punjab »Hoshiarpur Zila »Talwara » दोस्त थे नहर में डूबकर मरे तीनों बच्चे

दोस्त थे नहर में डूबकर मरे तीनों बच्चे

Bhaskar News Network | Oct 19, 2016, 02:35 AM IST

दोस्त थे नहर में डूबकर मरे तीनों बच्चे
रमन कौशल/सुरिंदर शर्मा | तलवाड़ा

दोपरिवारों के तीन चिरागों के शाह नहर बैराज में डूबकर मरने से नहर में डूब कर मरने से तलवाड़ा में शोक की लहर है। तीनों दोस्त थे। मृतक बच्चों के परिवारों का रो-रोकर बुरा हाल है। मृतक जतिन (11) और सूरज (13) पुत्र नरिंदर कुमार दोनों सके भाई थे। जबकि, मृतक कुलदीप (13) पुत्र बलदेव सिंह है। तीनों पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल ओल्ड तलवाड़ा में पढ़ते थे।

जिस जगह तीनों बच्चे डूबे उसके पास ही पीएपी पुलिस का पक्का नाका है। वहां से गुजरने वाले हर शख्स पुलिस की आंखों से निकलता है। हेड कांस्टेबल प्रेम कुमार ने कहा कि हमने यहां से किसी बच्चे को जाते नहीं देखा। जबकि जिस जगह बच्चे नहा रहे थे, वहां जाने का रास्ता पुलिस नाका ही है।

कुलदीप की मासी के लड़के चमन लाल ने बताया कि कुलदीप के पिता ड्राइवर हैं और इस वक्त गुजरात में हैं। कुलदीप के पहले उसके तीन भाईयों की मौत हो चुकी है। जबकि उसकी एक बहन पल्लवी जो कि दसवीं में पढ़ती है। अब अकेली बच्ची उस परिवार में रह गई है। जिसका रो-रो कर बुरा हाल है। वार्ड नंबर पांच के पार्षद जोगिंदरपाल शिंदा और नवयुवक रामलीला कमेटी के प्रधान संजीव ने बताया की कुलदीप पढ़ाई में काफी होशियार था। वह नवयुवक रामलीला कमेटी में बतौर बाल कलाकार रोल करता था और सब की इज्जत करता था। कुलदीप की माता कांता देवी का रो-रो कर बुरा हाल है। मृतक कुलदीप का संस्कार उसके नाना के घर क्लेरा थाना हाजीपुर में होगा।

सूरज और जतिन के परिवार में नहीं रहा कोई बच्चा

जतिनऔर सूरज के पिता फेरी लगाते हैं। ताया जनकराज ने बताया कि जतिन सूरज के जाने के बाद हमारा परिवार खत्म हो गया। जतिन और सूरज का संस्कार तलवाड़ा में किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि मरने वाले तीनों बच्चे गहरे दोस्त थे और अकसर इकट्ठे खेलते, घूमते दिखाई देते थे। तीनों ही अच्छे सुभाव के मालिक होने के साथ कभी झगड़ते किसी ने नहीं देखे। आखिर दुनिया भी तीनों दोस्तों ने एक साथ ही छोड़ दी। यहां यह भी बताने योग्य है कि यहां इन बच्चों के शव मिले हैं, उससे कुछ ही दूरी पर पीएपी का पक्का नाका लगाया गया है। यहां पर तैनात कर्मचारी शाह नहर बैराज की रखवाली करते हैं और हर टाइम पुलिस मुलाजिम नहर की सिक्योरिटी के लिए हरेक आने-जाने वाले पर नजर खते हैं।

इकलौते बेटे की मौत से कुलदीप की मां का रो-रोकर बुरा हाल है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: दोस्त थे नहर में डूबकर मरे तीनों बच्चे
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    More From Talwara

      Trending Now

      Top