Home »Rajasthan »Ajmer » Loot Incident From Women

3 दिन में 4 वारदात..., मंदिर में वृद्धा की चेन तोड़ी, सड़क पर नर्स का पर्स छीना

Bhaskar News | Mar 21, 2017, 06:03 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
3 दिन में 4 वारदात..., मंदिर में वृद्धा की चेन तोड़ी, सड़क पर नर्स का पर्स छीना
अजमेर.महिला आईएएस अफसर के गले से सोने की चेन तोड़कर ले जाने वाले चेन स्नेचरों के बारे में पुलिस को महत्वपूर्ण क्लू मिलने के बावजूद उनपर शिकंजा नहीं कसा है। यही कारण है कि चेन स्नेचर बेखौफ होकर वारदात कर रहे हैं।

सोमवार को सुभाष उद्यान के निकट शीतला माता मंदिर में एक वृद्धा के गले से शातिरों ने पांच तौला सोने की चेन और पैंडल पार कर दिया, जबकि मेयो लिंक रोड इलाके में बाइक सवार लुटेरे एक नर्स के हाथ से पर्स छीनकर ले गए। दोनों वारदातों में पुलिस लुटेरों को पकड़ना तो दूर उनकी पहचान तक नहीं कर सकी है। एसपी डाॅ. नितिनदीप ब्लग्गन ने सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिए हैं कि तड़के चार बजे से सुबह आठ बजे तक शहर की सड़कों पर विशेष गश्त कर संदिग्धों को पकड़े। उल्लेखनीय है कि चोरी की ज्यादातर वारदात रात ढाई बजे से पांच बजे के बीच हुई है। पुलिस ने सोमवार तड़के से विशेष गश्त शुरू कर दी है।
शीतला माता मेले में भीड़ में शातिर सक्रिय

शीतला माता मेले की भीड़ में महिला चेन स्नेचर भी सक्रिय हैं। सोमवार सुबह करीब सात बजे घी मंडी निवासी वृद्धा इंद्रेश अग्रवाल सुभाष उद्यान के निकट शीतला माता मंदिर में पूजन कर रही थी। मंदिर में भीड़ में अज्ञात शातिर महिला ने अग्रवाल के गले से सोने की चेन व पैंडल पार कर दिया। अग्रवाल ने बताया कि सोने की चेन करीब चार तोला और पैंडल एक तोला वजनी था। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
सड़क पर महिलाओं का चलना दूभर

मेयो लिंक रोड पर होली फेमिली अस्पताल के निकट सोमवार को बाइक सवार युवकों ने एक महिला नर्स के हाथ से पर्स छीन लिया। वारदात की शिकार संध्या श्रीवास्तव के अनुसार पर्स में करीब दो हजार रुपए और आईडी थी। एकाएक काले रंग की बाइक पर सवार दो युवकों में से एक ने झपट्टा मार कर उसके हाथ से पर्स छीन लिया और भाग गए। अलवर गेट थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।
महिला आईएएस मामले में पुलिस नहीं कर सकी गिरफ्तारी

बीके कौल नगर इलाके में दो दिन पहले आईएएस अधिकारी स्नेहलता पंवार के गले से सोने की चेन तोड़ कर भागे चेन स्नेचरों की पुलिस ने पहचान कर ली है, लेकिन गिरफ्तारी नहीं कर सकी। उल्लेखनीय है कि पंवार की चेन तोड़कर भागे लुटेरों ने पुष्कर रोड पर नर्स सविता पाराशर के गले पर भी झपट्टा मारा था, लेकिन पाराशर ने चेन स्नेचर का मुकाबला किया था, पाराशर की हिम्मत के कारण चेन स्नेचर युवक खुद का मोबाइल फोन छोड़कर भाग गया था। मोबाइल फोन की डिटेल के आधार पर पुलिस ने आरोपी की पहचान कर ली है, लेकिन गिरफ्तारी नहीं हो सकी।

काले रंग की बाइक और सवारों की जांच

चेन स्नेचिंग और पर्स छीनने की ज्यादातर वारदातों में आरोपी हेलमेट लगाए हुए या फिर चेहरे पर स्कार्फ बांधे हुए सामने आए हैं। पूर्व में पुलिस ने संदिग्धों की धरपकड़ के लिए चेहरा छिपाकर बाइक चलाने वालों पर शिकंजा कसा था। यह कार्रवाई लंबे समय से बंद है। लोगों का कहना है कि अगर पुलिस प्रशासन चेहरा छिपाकर बाइक चलाने वालों को चैक करे तो चेन स्नेचरों पर अंकुश लग सकता है। एसपी के आदेश से पुलिस दलों ने काले रंग की बाइक और संदिग्ध लोगों के बारे में तफ्तीश शुरू कर दी है।
पुलिस भी हुई सक्रिय, अब तड़के भी गश्त होगी

एसपी डाॅ. नितिनदीप ब्लग्गन ने सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिए हैं कि अपने-अपने इलाकों में निगरानी व्यवस्था कड़ी करें। एसपी ने थाना प्रभारियों को तड़के चार बजे से सुबह आठ बजे तक सघन गश्त करने के आदेश दिए हैं। उल्लेखनीय है कि चोरी की वारदात में यह तथ्य सामने आया है कि चोर रात ढाई बजे से सुबह पांच बजे के बीच वारदात को अंजाम दे रहे हैं।
सीसीटीवी फुटेज के बावजूद हाथ नहीं आ रहे शातिर

चोरी, चेन स्नेचिंग और अन्य कई वारदात में पीड़ितों ने पुलिस को घटना के दौरान की सीसीटीवी फुटेज मुहैया कराई है, लेकिन एक भी मामले में पुलिस फुटेज के आधार पर अपराधियों को पकड़ नहीं सकी है। पिछले दिनों जिला पुलिस की स्पेशल टीम ने चेन स्नेचर गिरोह के चार शातिरों को पकड़ा था। आरोपियों ने 50 से ज्यादा वारदातें कबूल की थी। दिलचस्प तथ्य यह है कि अलवर गेट थाने में इनसे तफ्तीश की जा रही थी, इसी दौरान चेन स्नेचिंग की वारदातें जारी रहीं। पुलिस का मानना है कि चेन स्नेचिंग की वारदात करने वाले कई ग्रुप हैं। नशे और ऐश के लिए रुपए जुटाने के लिए युवक आपराधिक दलदल में फंस रहे हैं।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
DBPL T20
Web Title: Loot incident from women
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Ajmer

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top