Home »Rajasthan »Ajmer» Magical Rocks And Stone Stories

हैरान करते हैं हवा में तैरते और खिसकते हुए पत्थर, पढ़ें ऐसे 10 रॉक्स की स्टोरी

bhaskar news | Mar 21, 2017, 02:19 IST

  • अजमेर. सूफी संत हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह के 805वां उर्स 24 मार्च से शुरू होने जा रहा है, जिसमें देश-दुनिया के जायरीन जुटेंगे। इस चमत्कारिक जगह पर एक ऐसा पत्थर है जो बिना किसी सहारे के जमीन से 2 इंच ऊपर उठा हुआ है। यह पत्थर यहां वाले लोगों के लिए किसी अजूबे से कम नहीं हैं। देश-दुनिया के कई वैज्ञानिक भी इस पत्थर पर रिसर्च करने आ चुके हैं, लेकिन अब तक कोई भी इसके रहस्य से पर्दा नहीं उठा सका है। इसी कड़ी में dainikbhaskar.com आपको बताने जा रहा है देश-दुनिया के अन्य चमत्कारिक पत्थरों और चट्टानों की कहानियां...
    आगे की स्लाइड्स में देखिए, देश-दुनिया के अनोखे पत्थर...
  • #2. दो इंच ऊपर उठा है ये पत्थर
    - अजमेर शरीफ दरगाह तारागढ़ पहाड़ी की तलहटी में बनी हुई है।
    - यहां हिंदुस्तान के अलावा ईरानी आर्किटेक्चर की झलक देखने को मिलती है।
    - अजमेर शरीफ की दरगाह पर हर मजहब के लोग मन्नत मांगने आते हैं।
    - इस चमत्कारिक इलाके में कई अद्भुत चीजें देखने को मिलती हैं, जिनमें एक बड़ा पत्थर शामिल है।
    - वो पत्थर जमीन से 2 इंच ऊपर हवा में उठा हुआ है, वो भी बिना किसी सहारे के।
    - किवदंती है कि पत्थर काफी ऊंचाई से एक शख्स के ऊपर गिरने वाला था, लेकिन उसने ख्वाजा साहब को याद किया तो वो वहीं रुक गया। तब से लेकर अब तक हवा में रुका हुआ है।
  • #3. ढाल पर टिका है ये विशाल पत्थर
    - बर्मा (म्यांमार) के मार में बौद्धों के धार्मिक स्थल पर भी एक 25 ऊंचाई का गोल्डन रॉक है, जो एक ढाल पर टिका हुआ है।
    - सदियां बीत जाने पर भी टस से मस नहीं हुआ।
    - ऐसा माना जाता है कि रात के समय ये पत्थर किसी दिव्य मणि की तरह चमकदार हो जाता है।
    - बौद्ध धर्म को मानने वाले उसे क्यैकटियो पगोडा भी कहते हैं।
    - इस पत्थर को देखने के लिए नवंबर से मार्च के बीच देश दुनिया से कई लोग यहां आते हैं।
    - मान्यता है कि गौतम बुद्ध के बालों की वजह से यह पत्थर यहां कई हजार सालों से खड़ा है।
  • #4. 1200 साल से डिगा नहीं ये पत्थर
    - तमिलनाडु के महाबलिपुरम में एक पत्थर तकरीबन 1200 साल से एक जगह पर ही टिका है।
    - 20 फीट ऊंचे और 5 फीट चौड़े इस पत्थर को आज तक कोई डिगा नहीं पाया।
    - वहां के गवर्नर ने किसी दुर्घटना की आशंका के चलते इस पत्थर को एक साइड करवाने के लिए 7 हाथियों से खिंचवाया, लेकिन वे भी उसे टस से मस नहीं कर सके।
    - किवदंती है कि ये पत्थर जमा हुआ मक्खन है, जो कृष्ण भगवान ने अपनी बाल्य अवस्था में गिरा दिया था।
    - इसी वजह से उस पत्थर को 'कृष्ण की मक्खन गेंद' कहा जाता है।
  • #5. पानी में तैर रहा 5 किलो का पत्थर

    - हिमाचल प्रदेश के चटवाल गांव में पांच किलो का पत्थर पानी में तैरता मिला।
    - एक मछुआरे को यह पत्थर व्यास नदी में तैरता मिला।
    - इस पत्थर को बाल्टी में डालकर हनुमानजी के मंदिर में रख दिया गया है।
    - माना जा रहा है कि ये रामायण कालीन पत्थर है, जो रामसेतु बनाने में इस्तेमाल हुआ था।
  • #6. भूकंप भी नहीं हिला सका इस पत्थर को
    - मध्यप्रदेश के जबलपुर में एक ऐसा पत्थर है, जिसे देखने में लगता है कि छूते ही गिर जाएगा, लेकिन भूकंप भी उसे नहीं गिरा पाया।
    - बैलेंसिंग रॉक (संतुलित शिला) मुख्य आकर्षण के केंद्रों में से एक है। इसे किसी इंजीनियर या अन्य विशेषज्ञों ने इस तरह नहीं रखा है। सालों से यह पत्थर एक चट्टान पर इसी तरह जमा हुआ है।
    - कई भूवैज्ञानिक और पुरातत्वविदों के इसके पीछे का रहस्य समझने की कोशिश की। इन वैज्ञानिकों के पास एक ही जवाब है कि पत्थर गुरुत्वाकर्षण बल के कारण अपने स्थान पर जमा हुआ है।
  • #7. तैरते पत्थर
    - रामेश्वरम के पामबन टाउन पर मंदिरों में तैरते हुए पत्थर देखे जा सकते हैं।
    - हिन्दू मान्यताओं के अनुसार, लंका जाते वक्त भगवान राम की सेना ने तैरते हुए पत्थरों का एक सेतु (ब्रिज) बनाया था।
    - लोगों का मानना है कि उसी से ये पत्थर निकले हैं।
  • #8. तर्जनी उंगली से उठ जाता है 90 किलो को पत्थर
    - महाराष्ट्र के शिवपुर गांव स्थित एक दरगाह में रखे 90 किलो के पत्थर को तर्जनी उंगली से उठाया जा सकता है।
    - भारी भरकम पत्थर को चमत्कारिक माना जाता है, क्योंकि अगर इसे सूफी संत हजरत कमर अली की दरगाह के परिसर से बाहर ले जाकर उठाया जाए तो कोई टस से मस नहीं कर सकता।
    - यदि दरगाह परिसर में 11 लोग अपनी-अपनी तर्जनी उंगली से उठाएंगे तो आसानी से उठ जाएगा।
    - खास बात यह है कि कुछ मिलाकर 11 लोग होने चाहिए और सिर्फ तर्जनी उंगली ही होनी चाहिए।
  • #9. यहां मिलेंगे खिसकते हुए पत्थर
    - बैलेंसिंग रॉक्स से इतर कैलिफोर्निया की डेथ वैली के खिसकते पत्थर भी भू-वैज्ञानिकों के लिए रहस्यमय बने हुए हैं।
    - अमेरिका के दिग्गज वैज्ञनिकों भी आज भी इस अबूझ पहली को नहीं सुलझा पाए हैं।
  • #10. उड़ते पत्थर

    - इंग्लैंड के डेविड क्वेंटिन ने उड़ते हुए पत्थरों के कुछ ऐसे फोटो खींचे हैं कि हर कोई हैरान हो सकता है।
    - इन उड़ते हुए पत्थरों की तस्वीरें किसी को एडिट की हुईं भी लग सकती हैं, लेकिन यह सच है।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: magical rocks and stone stories
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Ajmer

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top