Home »Rajasthan »Ajmer» Sentenced To Life Imprisonment For Murder

जज के सामने मर्डर केस के गवाह बयान से पलटे, फिर भी आरोपियों को उम्रकैद

Bhaskar News | Mar 21, 2017, 05:59 IST

  • अजमेर.रंजिशवश भाई की नृशंस हत्या के मामले में आरोपी ग्राम तिहारी निवासी सुखपाल पुत्र सांवरा जाट और उसके रिश्तेदार शैतान पुत्र ओंकार लाल जाट को अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश संख्या पांच सीमा अग्रवाल ने सोमवार को उम्र कैद से दंडित किया है। अदालत ने दोनों पर जुर्माना भी लगाया है। प्रकरण की खास बात यह रही कि मृतक के माता-पिता समेत पत्नी और अन्य गवाह अदालत में बयान से मुकर गए। इसके बावजूद अभियोजन हत्या का आरोप साबित करने में सफल रहा।

    अपर लोक अभियोजक शशि प्रकार इंदौरिया ने बताया कि श्रीनगर थाना पुलिस के समक्ष नसीराबाद के सुतरखाना निवासी जयनारायण गुर्जर ने 10 सितंबर 2016 को मुकदमा दर्ज करवाया था। जयनारायण का कहना था कि उसके मकान के पास रहने वाला राजेंद्र पुत्र सांवरा जाट उसका परिचित था। 8 सितंबर 2016 को राजेंद्र ने जयनारायण को कहा कि उसके गांव तिहारी में मेला देखने चलते हैं। दोनों राजेंद्र की मोटरसाइकिल पर नसीराबाद से रवाना हुए और रात करीब आठ बजे तिहारी में बालाजी के मेले में आ गए। वहां करीब एक घंटा रूककर दोनों वापस रवाना हो गए। तभी गांव के पास पुलिया पर एक बोलेरो कैंपर गाड़ी ने उनकी मोटर साइकिल पर टक्कर मार दी। राजेंद्र और जयनारायण मोटर साइकिल से गिर पड़े। इसी दौरान टक्कर मारने वाली गाड़ी में से राजेंद्र का सगा भाई सुखपाल और उसका रिश्तेदार शैतान उतरे।

    सुखपाल के पास सरिया था जिससे उसने राजेंद्र पर ताबड़तोड़ वार किए और शैतान ने वहां से पत्थर उठाकर राजेंद्र के सिर पर दे मारा। मोटरसाइकिल से गिरकर चोटिल हुआ जयनारायण डर के मारे दूर खड़ा होकर सारा माजरा देख रहा था। उसने बताया कि सुखपाल और शैतान ने राजेंद्र को उठाया और अपनी गाड़ी में डालकर ले गए। जयनारायण ने आशंका जताई कि सुखपाल और शैतान ने राजेंद्र की हत्या कर दी है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश शुरू की और सुखपाल व शैतान को गिरफ्तार कर लिया। उनकी निशानदेही पर एक खेत से राजेंद्र की लाश और हत्या में प्रयुक्त सरिया व पत्थर बरामद कर लिया।

    आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर चार्जशीट पेश की गई। अदालत के समक्ष मृतक के पिता सांवरा, माता कमला और पत्नी सुमित्रा अपने बयान से मुकर गए और अभियोजन ने उन्हें पक्षद्राेही घोषित कर दिया। अदालत के समक्ष अभियोजन ने कुल 24 गवाह और 66 दस्तावेज सहित हत्या में प्रयुक्त सरिया, पत्थर, मृतक के खूनआलूदा कपड़े आदि बतौर सबूत पेश किए। इसके आधार पर अदालत ने दोनों आरोपियों को दोषी ठहराया।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Sentenced to life imprisonment for murder
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Ajmer

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top