Home »Rajasthan »Shriganganagar » 24 हजार की आस में बैंकोंं में गए थे 20 हजार से ज्यादा कर्मचारी, मिले सिर्फ 3 से 5 हजार रुपए

24 हजार की आस में बैंकोंं में गए थे 20 हजार से ज्यादा कर्मचारी, मिले सिर्फ 3 से 5 हजार रुपए

Bhaskar News Network | Dec 02, 2016, 13:55 PM IST

श्रीगंगानगर. जिस बात का अंदेशा था, वही हुआ। गुरुवार को जिलेभर के विभिन्न बैंकों में बीस बीस हजार से अधिक सरकारी और प्राइवेट कर्मचारी 24 हजार रुपए विड्राल की आस में पहुंचे लेकिन मिले तीन से पांच हजार रुपए और वो भी आधा दिन कतार में लगने के बाद।
अधिकतर कर्मचारियों को तो निराश होना पड़ा। नोट बंदी के बाद बैंकों में पहुंची पहली सैलरी लेने वाले करीब पांच हजार कर्मचारियों को तो बैरंग लौटना पड़ा। कुल मिलाकर सभी बैंकों में पैसों की कमी रही। हालांकि कैश तो था लेकिन उतना नहीं, जितने की जरूरत थी।
दिनभर मशक्कत के बाद अधिकतर कर्मचारी दो से पांच हजार ही विड्राल करा पाए। राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील के प्रदेश मुख्य महामंत्री अभिमन्युसिंह भदौरिया ने बताया कि ज्यादातर कर्मचारी आधे दिन तक लाइन में लगे रहे। इसके बावजूद तीन हजार रुपए ही नकद मिल पाए।
कुछ ने अवकाश लिया तो कुछ ड्यूटी से समय निकाल कर बैंकों में पहुंचे थे। पुरानी आबादी की एसबीबीजे ब्रांच में तो एक बजे बाद कैश खत्म हो गया था। अब कर्मचारियों के सामने संकट ये है कि वे ड्यूटी करें या लाइन में लगें?

एसबीबीजे के एजीएम मदनमोहन माहेश्वरी ने बताया कि कैश की किल्लत रहने से परेशानी तो आई। माहेश्वरी कहा कि 16 ब्रांचों में एक करोड़ रुपए गुरुवार को बांटे। जरूरत कहीं अधिक थी। कैश के हिसाब से पांच पांच हजार रुपए ही प्रत्येक को दे पाए। लगभग तीन बजे तक कैश खत्म हो गया था।

ओबीसीने ली अनुमति
ओबीसीके अधिकारियों ने अपने हैड क्वार्टर से अनुमति ली है कि अगर कोई प्राइवेट सेक्टर की कंपनी का मालिक एक मुश्त पैसा लेकर जाए तो उसे दिया जाए। उदाहरण के लिए कोई ऐसी फर्म जिसका ओबीसी में खाता है, का संचालक एकमुश्त दो लाख रुपए विड्राल करा सकता है। लेकिन संबंधित को इसका प्रमाण देना होगा कि उसने ये पैसा अपने कर्मचारियों को वेतन के रूप में कैश दिया है। इसका प्रफोर्मा और कर्मचारियों का विवरण उसे बैंक में देना होगा।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: 24 हजार की आस में बैंकोंं में गए थे 20 हजार से ज्यादा कर्मचारी, मिले सिर्फ 3 से 5 हजार रुपए
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Shriganganagar

        Trending Now

        Top