Home »Rajasthan »Jaipur »News» Jaipur Father Son Murder Case

3 दिन से बंद था घर, खुला तो हुआ ऐसा खुलासा पड़ोसी भी हुए हैरान

Bhaskar news | Mar 20, 2017, 06:56 IST

  • रोशन रहने वाला घर होली के दिन बी अंधेरे में था।
    जयपुर.मानसरोवर में हीरापथ पर चार मंजिला मकान (जिसे होटल में बदला जा रहा था) में पिता राजनारायण सक्सेना (73) और उनके पुत्र सौरभ (43) की हत्या का खुलासा रविवार को पुलिस ने कर दिया। हत्या राकेश मीणा ने की थी। बता दें कि 10 मार्च को हुई इस घटना का खुलासा करीब तीन दिन बाद हुआ था। जब यहां से गुजर रहे लोगों को बदबू आई तो सौरभ आवाज लगाई। कोई जवाब नहीं मिला। मकान का एक साइड का गेट खुला था, जबकि मुख्य गेट बंंद था। लोगों को शक हुआ तो पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। इसके बाद पुलिस पहुंची तो इस इलाके में रहने वाले लोगों के कलेजे कांप गए। आरोपी बोला- कोई भी बेटी के साथ गलत होता देखता तो यही करता...
    - उनियारा टोंक निवासी राकेश के साथ पांच साल से रह रही करौली की गीता उर्फ पूजा और दयापुरा करौली के ही रमेश सैनी को भी इस मामले में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। डबल मर्डर क्यों किया? इसका जवाब राजेश, गीता और रमेश ने पुलिस पूछताछ में दिया, फिर मीडिया के सामने दोहराया।
    - राकेश ने बताया कि 11 मार्च की होली थी। इसकी खुशी में 10 मार्च की रात शराब पार्टी कर रहे थे। मेरी 6 साल की बेटी भी साथ थी।
    - रात 12 बजे सौरभ चला गया। बेटी भी दिखाई नहीं दे रही थी। मैंने सबसे पूछा किसी ने नहीं बताया। ढूंढ़ते हुए पहली मंजिल पर गया तो वह बेटी के साथ आपत्तिजनक स्थिति में मिला मुझे गुस्सा आ गया। मैंने उसका गला दबाया। इसी बीच गीता और रमेश भी आ गए।
    - सौरभ के हाथ बांध दिए और फिर गला दबा दिया। पहली मंजिल से नीचे उतरते वक्त राजनारायण चिल्लाने लगे। राकेश ने टैंक का ढक्कन उनके सिर पर दे मारा।
    रोशन रहने वाला घर होली को अंधेरे में था
    स्थानीय लोगों ने बताया कि सौरभ घर के अंदर व बाहर की सभी लाइटों को जलाकर रखता था। होली की रात को घर में अंधेरा छाया हुआ था। लोगों को शक भी हुआ था कि अचानक पिता-पुत्र कहां चले गए। स्थानीय लोगों ने बताया कि उनके घर में जाने पर दोनों घर में घुसे लोगों से झगड़ा कर लेते थे इसके चलते कोई उनके घर में नहीं जाता था। इसी के चलते दो दिन तक घर में किसी ने ध्यान नहीं दिया।
    आगे की स्लाइड्स में पढ़िए कैसे हुआ मामले का खुलासा।
  • लोगों ने महिला को घर से जाते हुए देखा।
    पुलिस का शक-लूट के इरादे से की गई हत्या

    - पुलिस मान रही है कि राकेश, रमेश और गीता ने पिता-पुत्र के पास मोटा पैसा व जेवर लूटने की प्लानिंग की थी। गीता को सौरभ से मिलवाकर वे इस साजिश को आगे बढ़ा रहे थे। हालांकि वो पैसा ऐंठने में कामयाब नहीं हुए। संभवत 10 मार्च की रात इसी इरादे से हत्या की गई।
    - पुलिस के इस शक पर सवाल उठता है, क्योंकि डबल मर्डर 10 मार्च की रात हुआ जबकि आसपास के लोगों ने तीन दिन बाद एक महिला को उस मकान से कुछ सामान ले जाते हुए देखा। लूट के लिए मर्डर होता तो 10 मार्च को ही सामान भी चला जाता। हालांकि पुलिस 6 साल की बच्ची से गलत हरकत करने संबंधी राकेश के बयान को बचाव में दिया बयान बता रही है।
  • घर से बदबू खाने पर पुलिस को की गई खबर।
    कॉल डिटेल्स से हुआ मामले का खुलासा
    - पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल ने बताया कि राकेश मीणा मकानों में मार्बल व टाइल्स लगाने का काम करता है। रमेश सैनी मार्बल घिसाई का काम करता है। दोनों की राजनारायण सक्सैना के घर में काम करते हुए तीन-चार वर्ष पहले जान पहचान हुई थी।
    - राकेश, गीता व रमेश 10 मार्च की शाम सौरभ के पास आए थे। वहां राकेश, रमेश व सौरभ ने शराब पार्टी की। इसके बाद सौरभ व गीता ने मकान की पहली मंजिल पर संबंध बनाए, ऐसी भी जानकारी मिली है।
    - सौरभ सक्सैना के मोबाइल की कॉल डिटेल और उनके मकान में काम करने वाले मजदूरों से पूछताछ करने में राकेश व रमेश के बारे में पता चला।

    आगे की स्लाइड्स में पढ़िए पुलिस का शक-लूट के इरादे से की गई हत्या।
  • घर में मिली पिता-पुत्र की लाश।
  • आरोपी बोला- कोई भी बेटी के साथ गलत होता देखता तो यही करता
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: jaipur father son murder case
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top