Home »Rajasthan »Jaipur »News» Notice Given To Village Servants When Leaving Watersapp Group

वाट्सएप ग्रुप छोड़ने पर ग्राम सेवकों को दिए नोटिस, BDO ने कहा कार्रवाई की जाए?

bhaskar news | Apr 21, 2017, 05:33 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
वाट्सएप ग्रुप छोड़ने पर ग्राम सेवकों को दिए नोटिस, BDO ने कहा कार्रवाई की जाए?
जयपुर.सांगानेर पंचायत समिति में तैनात बीडीओ को वाट्सएप पर बनाए गए ग्रुप से अपने कर्मचारियों का अलग होना इस कदर नागवार गुजरा कि नोटिस थमा दिया। पूछा क्यों न ग्रुप से लेफ्ट होने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए? दरअसल, बीडीओ रिंकू मीणा ने पंचायत समिति के रोजमर्रा के कामों से एक-दूसरे को अवगत कराने के लिए वाट्सएप ग्रुप बनाया था। पंचायत समिति के तहत आने वाली 44 ग्राम पंचायतों के ग्राम सेवक इससे जोड़े गए।
विभिन्न मांगों को लेकर चल रहे आंदोलन के दौरान कई ग्राम सेवक ग्रुप से बाहर हो गए। बीडीओ मीना ने पंचायत समिति के लैटरपेड पर ग्रुप छोड़कर जाने वालों के खिलाफ नोटिस जारी कर दिए। इसमें कहा गया कि जो सदस्य ग्रुप से बाहर हो गए हैं उन्हें कारण स्पष्ट करना होगा, नहीं तो अनुशासनात्मक कार्यवाही होगी। नोटिस मिलने के बाद कुछ ग्रामसेवकों ने बीडीओ को एप्लीकेशन लिखकर गलती मान ली और ग्रुप में फिर से शामिल करने की गुजारिश की। इन्हें ग्रुप में फिर से जोड़ा गया। वहीं कई सदस्य नोटिस के बाद भी दोबारा शामिल नहीं हुए।

सरकार से नाराज इसलिए छोड़ा ग्रुप
ग्राम सेवकों से जब ग्रुप छोड़ने का कारण पूछा तो सामने आया कि उन्हें शिकायत ग्रुप से नहीं बल्कि सरकार से थी। राजस्थान ग्राम सेवक संघ 7वां वेतन आयोग का लाभ देने, छठे वेतनमान में रही कमियों को दूर करने आिद पर सरकार को मांगपत्र दिया था।

राजकीय कार्यों को तीव्र गति से करने व समय पर सूचनाओं का आदान-प्रदान करने की दृष्टि से ग्रुप बनाया था। लेकिन कुछ मेंबर्स मकसद जाने बिना बाहर हो गए। समिति में एकता बनाए रखने व सभी लोगों को वापस ग्रुप में एड करने के लिए समिति की ओर से नोटिस जारी किया था, किसी पर कोई कार्यवाही नहीं की है।
-रिंकू मीणा, बीडीओ, पंस सांगानेर
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Notice given to Village Servants when leaving Watersapp Group
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top