Home »Rajasthan »Jaipur »News » Rajasthan Budget In Akbar Birbal

बीरबल के 11 जवाबों में समझिए बजट आपके लिए कैसा, बजट के चुटीले अंदाज...

Bhaskar news | Mar 09, 2017, 03:12 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
जयपुर. इस बार का बजट अकरबर-बीरबल के चुटीले अंदाज में क्योंकि... कहने को तो ये किरदार सैकड़ों साल पुराने हैं मगर प्रासंगिकता आज के बजट से जुड़ी है। आंकड़ों की बाजीगरी और घोषणाओं के स्वप्नजाल को समझना हर किसी के बस की बात नहीं। हर बजट की तरह इस बार भी असर समझते-समझते अगले बजट की तारीख दस्तक देने लगेगी। सो...बजट में आपके लिए क्या है ये समझाने के लिए हमने बुने अकबर-बीरबल के किरदार। अकबर यानी सरकार या सत्ता जो घोषणाएं करती है, वादे करती है। बीरबल यानी हमारे विशेषज्ञ जिन्हें घोषणाओं का भविष्य और वादों की हकीकत समझ में आती है। बजट के हर सेक्टर से जुड़े 16 विशेषज्ञों से बात कर हमने जाना कि बजट की असलियत क्या है। छोटी-बड़ी घोषणाओं को बीरबल बड़े अर्थों में समझा रहे हैं। अकबर के सवालों में सरकार की राज़दारी है तो बीरबल के जवाबों में छुपा है आंकड़ों की असलियत पर व्यंग्य...
अकबर की बजट पहेली- हमने सबको कुछ न कुछ दिया, लिया कुछ भी नहीं
बीरबल की हाजिर जवाबी- नमो नमो महाराज जुलाई में जीएसटी भरपाई कर देगा
बुधवार सुबह करीब 10:30 बजे। दरबार जुटने लगा। सभी मंत्री-विधायक एक-एक कर सदन में पहुंचे। इस उम्मीद के साथ कि उनके इलाके के लिए भी कोई न कोई इनाम मिलेगा। सूबे की वजीर ए आला वसुंधरा राजे ने पिटारा खोला। चौथे बजट के जरिये सभी के दामन में कुछ न कुछ डालने की कोशिश की। लेकिन किसी को हिस्से में तिनके आए तो किसी के हिस्से में फूल। मुख्यमंत्री का जन्मदिन था-यह मौका था, महिला दिवस था-यह दस्तूर था। लेकिन महिलाओं को कुछ खास नहीं मिला। अगले साल चुनाव को देखते हुए माना जा रहा था युवाओं, कर्मचारियों को बड़ी सौगातें मिलेंगी। लेकिन युवाओं के लिए पुलिस कांस्टेबल की 5 हजार भर्तियों की घोषणा होकर रह गई तो कर्मचारियों के लिए 7वें वेतनमान के लिए पहले से गठित हो चुकी कमेटी की सूचना भर दी गई। विशेषज्ञ इसे मिक्स बजट कह रहे हैं। बता रहे हैं-दिया सबको है, लेकिन थोड़ा-थोड़ा। यह थोड़ा-थोड़ा भी सेक्टरवाइज नहीं, बल्कि इलाकावाइज बांटा गया है। लिया है तो बस सिगरेट से। इस पर 15 प्रतिशत वैट बढ़ाया गया है। इसके अलावा कोई नया टैक्स नहीं लगाया गया। मौजूदा करों में 200 करोड़ रु. से ज्यादा की छूट दी गई है। घोषणाओं की सूची के लिहाज से भाजपा सरकार के कार्यकाल का यह सबसे बड़ा बजट भी है। इसमें इंफ्रास्ट्रक्चर, शिक्षा, कृषि, धार्मिक-पर्यटन, और व्यक्तिगत लाभ की पेंशन योजनाओं को लेकर कई ऐलान हुए हैं। रिफाइनरी, मेट्रो सेकंड फेज, दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर और बीसलपुर जैसी बड़ी परियोजनाओं को लेकर बजट में कुछ नहीं था। विशेषज्ञ यह भी कह रहे हैं, भले ही नए टैक्स नहीं लगाए गए हैं, लेकिन जुलाई में प्रस्तावित जीएसटी के लागू होने के बाद ही सही तस्वीर सामने आएगी।
राहत- यूडीएच
100% छूट बकाया यूडी टैक्स पर ब्याज व पैनल्टी राशि में 1 अप्रैल से 30 सितंबर तक। लीज राशि एक मुश्त जमा कराने पर ब्याज राशि में 100 फीसदी छूट 30 सितंबर तक बढ़ाए जाने
की घोषणा।
वन्यजीव- देश में पहली बार प्रोजेक्ट लेपर्ड
07 करोड़ रु. का प्रावधान प्रोजेक्ट लेपर्ड के लिए। प्रोजेक्ट लेपर्ड शुरू करने वाला पहला राज्य बनेगा राजस्थान।
7वां वेतनमान जल्द

राजे ने कहा कि सातवें वेतनमान के लिए गठित कमेटी ने काम करना शुरू कर दिया है। कमेटी की रिपोर्ट मिलने के बाद इस बारे में जल्द फैसला लिया जाएगा। माना जा रहा है कि सरकार वित्तीय वर्ष 2017-18 में ही कर्मचारियों के लिए सातवें वेतनमान का लाभ दे देगी। राज्य में करीब 6.5 लाख कर्मचारी हैं।
5500 कांस्टेबलों की भर्ती

राजे ने पुलिस महकमे में वर्ष 2017-18 में साढ़े पांच हजार कांस्टेबलों की भर्ती करने की घोषणा की है। अगले वित्तीय वर्ष में 50 करोड़ रु. की लागत से प्रदेश में 3 एडि. एसपी व 10 डिप्टी एसपी ऑफिस और 20 थानों का निर्माण, 12 करोड़ की लागत से 5 एडि.एसपी व 15 डिप्टी एसपी आवास बनेंगे।
जयपुर : प्लास्टिक इंजीनियरिंग
केंद्र सरकार के सहयोग से जयपुर में 51.32 करोड़ की लागत से सेंट्रल इंस्टीट्‌यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग एंड टैक्नोलॉजी की स्थापना होगी। इसकी स्थापना से स्किल्ड टेक्निकल मैनपावर उपलब्ध होगी। राज्य सरकार की ओर से संस्थान के लिए 25.66 करोड़ का सहयोग दिया जाएगा।
बीरबल के 11 जवाबों में समझिए बजट आपके लिए कैसा...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Rajasthan budget in akbar birbal
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top