Home »Rajasthan »Jaipur »News » Bal Vivah, Child Marriage

बाल विवाह नकारने वाली शोभा की फरियाद सुनी अदालत ने

आरपी. बोहरा | Jun 12, 2012, 17:14 PM IST

बाल विवाह नकारने पर शोभा व उसके परिवार पर टूट पड़ा था जाति पंचायत का कहर, अदालत ने गृहसचिव तथा पुलिस कमिश्नर को दिए शोभा व उसके परिवार की सुरक्षा के निर्देश





जोधपुर। बाल विवाह को नकारने का साहस करने वाली 23 वर्षीय शोभा चौधरी को आखिरकार अब राजस्थान हाईकोर्ट से मदद मिली है। मंगलवार को अवकाशकालीन न्यायाधीश ने शोभा की लिखित फरियाद को याचिका मानते हुए उसे व उसके परिवार को पुलिस सुरक्षा प्रदान करने के निर्देश दिए। साथ ही गृहसचिव तथा पुलिस कमिश्नर को नोटिस जारी करते हुए शोभा की ओर से लगाए गए जाति पंचों सहित सभी लोगों के खिलाफ जांच कर उनके नाम अदालत में 4 जुलाई तक पेश करने के आदेश भी दिए।





अदालत ने मामले की पैरवी के लिए अधिवक्ता रेखा बोराणा को शोभा का न्यायमित्र बनाया है। राजकीय अधिवक्ता महिपाल विश्नोई के माध्यम से गृह सचिव तथा पुलिस कमिश्नर के नाम नोटिस जारी किए। शोभा ने स्थानीय एनजीओ व महिला बाल विकास की कार्यकर्ताओं के सहयोग से हाईकोर्ट में न्याय दिलाने की अर्जी लगाई थी। वो मंगलवार सुबह 7 बजे ही कोर्ट परिसर में आकर बैठ गई। लेकिन उसकी बारी अदालत का समय खत्म होने तक नहीं आती दिखी तो वह रोने लगी। लेकिन न्यायाधीश मेहता ने दोपहर 2 बजे तक बैठ कर सुनवाई की। शोभा अपनी आपबीती बताते हुए भी फफक कर रोने लगी।





ग्रेजुएट शोभा की शादी एक मजदूर से





एयरफोर्स रोड स्थित कार्यशील महिला छात्रावास में रहने वाली जोधपुर जिले के राजवा गांव की रहने वाली शोभा न केवल ग्रेजुएट है बल्कि पीटीईटी में चयन हो चुका है तथा 14 जून को होने वाली आरएएस परीक्षा में भी बैठने वाली है। वह कंप्यूटर ट्रेंड है। उसके जीवन में पिछले माह उस समय संकट के बादल उमडऩे लगे जब उसने उसके बचपन में 10 वर्ष की उम्र में किए गए बाल विवाह के कारण गौना करवाया गया, तो उसे पता चला कि उसका पति पत्थर की खानों में चंवालिए का काम करता है।





ससुराल में जानवरों सा सलूक





दो दिन ससुराल में रहने पर उसके साथ जानवरों सा सलूक किया गया तो उसने विवाह को मानने से इनकार कर दिया। इस पर जाति पंचायतों ने उसे व उसके परिवार को तरह तरह से धमकाना शुरू कर दिया तथा 15 व 16 जून को जाति पंचायत बुला कर लाखों रुपए का अर्थ दंड भी लगाने की तैयारी कर ली।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: bal vivah, child marriage
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top