Home »Rajasthan »Jaipur »News » Hall Of Fame: Shweta Mangal

सहेली की माँ के साथ हादसा और बदल गया इस छोरी की जिंदगी का मकसद!

Bhaskar News | Dec 27, 2012, 02:22 AM IST

हॉल ऑफ फेम:श्वेता मंगल>
सांसें कहीं भी थम सकती हैं। अगर एंबुलेंस समय पर न आए और कुछ हो जाए तो उसकी टीस हमेशा मन में रह जाती है। ब्यावर की श्वेता मंगल ने राज्य में पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत 108 एंबुलेंस सेवा शुरू की। 16 साल पहले मेयो कॉलेज से 12वीं पास करने वाली श्वेता स्कूल खोलना चाहती थी। उसने 1994 में राजस्थान छोड़ा और 2000 में अमेरिका के रोचेस्टर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से एमबीए किया।
भारत लौटने के बाद जीटीवी और कई एमएनसी में जॉब भी की, लेकिन समय को कुछ और ही मंजूर था। अपनी सहेली की मां के साथ 2003 में हुए हादसे ने उसकी जिंदगी के मकसद को ही बदल दिया।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Hall of Fame: Shweta Mangal
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    Comment Now

    Most Commented

        More From News

          Trending Now

          Top