Home »Rajasthan »Jaipur »News» IAS Accident Investigation: Where Is The Accused Appeared After Half An Hour!

IAS हादसे की जांच : दर्शन के बाद डेढ़ घंटे कहां रहा आरोपी!

Bhaskar News | Dec 12, 2012, 02:12 IST

  • जयपुर.एसीएस वीएस सिंह को 3 दिसंबर की सुबह टक्कर मारने वाला दीनदयाल बघेल उस दिन गोविंददेवजी में दर्शन के बाद और एक्सीडेंट से पहले डेढ़ घंटे तक कहां था? पुलिस जांच अब इसके इर्द-गिर्द घूम रही है। वीडियो फुटेज में दीनदयाल सुबह 5.26 पर गोविंददेवजी मंदिर में दिखा। दीनदयाल ने पुराने बयानों में उस दिन टेंशन की वजह से बिना दर्शन के ही लौट आना बताया था।
    अब वो बोल रहा हैं कि ताड़केश्वर मंदिर और धाभाई जी के खुर्रे में बंदरों को केले खिलाने गया था। बदलते बयानों का पुलिस वेरिफिकेशन कर रही है। कार के स्टेयरिंग पर किसी के भी फिंगर प्रिंट नहीं मिल पाने से यह पता नहीं चल पाया है कि कार कौन ड्राइव कर रहा था।
    पुलिस जांच एक्सीडेंट समय और मंदिर दर्शन के बीच के अंतराल वाले डेढ़ घंटे के इर्द-गिर्द चल रही है। जांच अधिकारी एडीशनल डीसीपी रघुवीर सैनी को पूछताछ में अब दीनदयाल ने कहा कि वह 3 दिसंबर को गोविंददेवजी मंदिर में दर्शन करने गया। वहां पूजा के बाद भजन किए।
    फिर भाई लक्ष्मीनारायण के साथ वहां से सीधे रामगंज वाले रास्ते में बायीं तरफ बने धाभाई जी के खुर्रे में गया। वहां रोजाना की तरह बंदरों को सवा किलो केले खिलाए। वहां केले बेचने वाले ने पुलिस को कहा कि ज्यादा याद नहीं फिर भी लगता है कि ऐसे हुलिए वाला रोजाना ही केले खरीदकर बंदरों को डालता रहा है।
    दीनदयाल का कहना है कि वह बंदरों को केले खिलाने के बाद ताड़केश्वरजी के मंदिर में गया। इस बात के वेरिफिकेशन के लिए पुलिस ने ताड़केश्वर मंदिर से सीसीटीवी फुटेज मंगाए तो पता चला कि कैमरे खराब होने से रिकॉर्डिग नहीं हो पाई। ऐसे में जांच नतीजे पर नहीं पहुंच पा रही है।
    वीएस सिंह और विजेंद्र सिंह को 3 दिसंबर को घटनास्थल से अस्पताल पहुंचाने वाली एंबुलेंस के चालक से भी मंगलवार को बुलाकर पुलिस ने पूछताछ की। उसने वहां से तब संयोगवश गुजरना बताया है।
  • सवालों में ट्रैफिक एसीपी
    आईएएस वीएस सिंह दुर्घटना प्रकरण में पूर्व में जांच करने वाले ट्रैफिक एसीपी रामेश्वर के खिलाफ विभाग जल्द ही कार्रवाई कर सकता है। सूत्रों के मुताबिक इतने बड़े प्रकरण में फौरी जांच की वजह से पुलिस की छवि खराब हुई है।
    घायल चश्मदीद गवाह से पूछताछ के बिना ही एसीपी रामेश्वर ने किसी को बचाने के चक्कर में हादसा होना बता दिया। एसीपी हादसे में मरने वाले की बजाय एक्सीडेंट करने वाले की ओर से बताई गई सारी बातों को सही मानकर उसे मीडिया के समक्ष महिमामंडित करने में लगे रहे।
    पुलिस कमिश्नर बीएल सोनी का कहना है कि इस प्रकरण की जांच अभी एडीशनल डीसीपी रघुवीर सैनी कर रहे हैं। ऐसे में पहले हमारा फोकस यह है कि जांच किसी नतीजे तक पहुंचे। उसके बाद आला अधिकारियों से विचार- विमर्श करके जांच में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: IAS accident investigation: Where is the accused appeared after half an hour!
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top