Home »Rajasthan »Jodhpur »News » पीसी गुप्ता...

पीसी गुप्ता...

Bhaskar News Network | Mar 21, 2017, 04:50 IST

पीसी गुप्ता...

गुप्ताबताते हैं-यही कोई 75-76 की बात रही होगी। झालावाड़ कलेक्टर था तब मैं। इलाके में खूंखार डाकूओं का दबदबा था। मेरे चर्चे सुन वे एक दिन गु्प में हथियार लेकर दफ्तर आए और टेबल पर रख बोले-हमें बख्श दीजिए। उनकी भावना देख मैंने उन्हें प्यार से चाय पिलाई। बाइज्जत उन्हें दफ्तर से रूखसत कर नई जिंदगी की शुभकामनाएं दी। गुप्ता बताते हैं दर्द उन्होंने बचपन से इतना देख लिया कि अब उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता। मां-बाप बचपन में गुजरने के बाद कैसे आईएएस बना अब ठीक से याद नहीं पड़ता। ब्ेटियों के लिए वे काफी फिक्रमंद दिखते हैं। कहते हैं-पीढि़या यूं ही गुजरती रहेंगी। बेटी जितनी ताकतवर होगी परिवार देश उतना ही मजबूत रहेगा। आश्रम इंचार्ज जयंति बताती हैं- आश्रम के ये सबसे बुजुर्ग मैंबर हैं। इनका यहां हर कोई कायल है।

मानदायमा ...

मूलरूप से अजमेर के किशनगढ़ सेे हैं दायमा। बताते हैं- पिता भेड़-बकरियां चराते थे। बचपन इतना कष्टमय गुजरा की बयां नहीं कर सकता। हालात से जूझते दायमा आगे बढ़ते चले गए। चार साल में शादी हो गई। एक के बाद एक नौकरियां हासिल कर आखिरकार आईएएस बनकर दम लिया। दायमा का कहना है कि कुछ समय पहले तक उन्हें राजनीति में आने के खूब न्यौते आए, लेकिन सच कहूं तो अब राजनीति का ये अंदाज उन्हें ठीक से जंचता नहीं। वे अपनी जिंदगी में हर वो ही काम करना चाहते हैं जो उन्हें सुकून देता रहे। दायमा का मिजाज आज भी अफसराना ही है। वे अपने शिड्यूल को पूरी तरह फॉलो करते हैं और वक्त को किसी भी कीमत पर जाया नहीं होने देते।

गिरिराजमीणा ...

एकवर्ग विशेष के लोगों को कई दिन तक पुलिस लाइन और गुरुद्वारों में महफूज कर दिया। मीणा इन दिनों अपनी मां के साथ ज्यादातर वक्त इसी ओल्डएज होम में गुजारते हैं। सवेरे जल्द उठते हैं। बीमार मां को टहलाने में मदद करते हैं। मां के पास ही लगता है इनका बिस्तर। बताते हैं-मां-पिता बिना पढ़े लिखे थे। बचपन मेें ही कलेक्टर बनाने का सपना देखा था। मेरा फर्ज हैं कि उन्हें इस वक्त सही मायने में बेटे का प्यार दे सकूं। मीणा के परिवार के ज्यादातर सदस्य प्रशासनिक सेवा में रहे हैं। राज्य के मौजूदा चीफ सेक्रेट्ी ओपी मीणा के वे करीबी मित्र हैं। 1974 में वे उदयपुर यूनिवर्सिटी के गोल्ड मेडलिस्ट रहे। बाद में जेएनयू से पढ़ाई की।

कैदीनेताओं...

चुनावआयोग ने भाजपा नेता अश्विनी उपाध्याय की एक याचिका पर यह हलफनामा दिया। याचिका में यह भी सवाल उठाया गया है कि किसी व्यक्ति के खिलाफ आरोप तय होने के बाद क्या उसके चुनाव लड़ने पर रोक लगाई जा सकती है। उपाध्याय के साथ ही पूर्व चुनाव आयुक्त जेएम लिंगदोह और एनजीओ पब्लिक इंटरेस्ट फाउंडेशन ने भी इसी मुद्दे पर जनहित याचिकाएं दायर कर रखी हैं। यह याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट की बड़ी बेंच को रेफर की गई हैं। हालांकि, अभी बेंच गठित नहीं हुई है।

वोडाफोन-आइडिया...

बिड़लाके साथ साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में वोडाफोन के सीईओ विटोरियो कोलाओ ने कहा कि चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर की नियुक्ति उनकी कंपनी करेगी। सीईओ और सीओओ की नियुक्ति दोनों कंपनियां मिलकर करेंगी। वोडाफोन ग्रुप (यूके) का सरकार के साथ 14,200 करोड़ रुपए का टैक्स विवाद चल रहा है। कोलाओ ने कहा कि विवाद से डील पर असर नहीं होगा।

राजभवनसे...

इसेध्यान में रखते हुए विवि ने इंटरव्यू की सूची जारी कर 25 मार्च तिथि भी घोषित कर दी। 25 नवंबर, 2016 को हुई परीक्षा में परीक्षा नियंत्रक पद पर 22 में से केवल 5 अभ्यर्थी पहुंचे तो डिप्टी रजिस्ट्रार पद पर 118 में से 41 और सहायक कुलसचिव के 986 पंजीकृत अभ्यर्थियों में से 310 अभ्यर्थियों ने भाग्य आजमाया। फिलहाल परीक्षा नियंत्रक और डिप्टी रजिस्ट्रार पद के लिए साक्षात्कार की तिथि घोषित की है। परीक्षा में गणित रीजनिंग, सामान्य ज्ञान, हिंदी अंग्रेजी के सवाल पूछे गए। परीक्षा कुल 80 अंक की थी।

मुझेकोई जानकारी नहीं : डीआरपरीक्षा समन्वयक के साक्षात्कार की मुझे कोई जानकारी नहीं है। इस संबंध में मेरी ओर से कोई पत्र जारी नहीं किया गया। -बीएससांदू, कुलसचिव,जेएनवीयू

कुलपतिने दिए हैं निर्देश : हां,डीआर परीक्षा समन्वयक पदों के साक्षात्कार के कॉल लेटर मैंने भेजे हैं। इस संबंध में कुलपति प्रो. आरपी सिंह ने लिखित में आदेश दिए हैं। -एसपीरामदेव, असिस्टेंटरजिस्ट्रार, स्थापना शाखा, जेएनवीयू

अबसरकारी...

जोधपुरजिले की कई स्कूलों के संस्था प्रधानों ने तो इस प्रक्रिया के तहत संबंधित विद्यालय प्रबंधन विकास समिति के नाम पर परमानेंट अकाउंट नंबर (पैन) भी लिए हैं। उल्लेखनीय है कि हाल ही में अतिरिक्त राज्य परियोजना निदेशक जस्साराम चौधरी ने इस संबंध में एक आदेश जारी किया था। इसके लिए एसडीएमसी, डीडीएमसी या एसएमसी की बैठक आयोजित कर प्रस्ताव लेकर किसी पदाधिकारी को पूरी कार्रवाई संपादित करने के लिए अधिकृत करने को कहा गया है। उप निदेशक (मा.शि.) नूतनबाला कपिला ने बताया कि स्कूलों की एसडीएमसी, डीडीएमसी या एसएमसी के नाम पर 80जी में पंजीयन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इनमें से कई समितियों के पैन भी मिल चुके हैं। सभी को औपचारिकताएं जल्दी पूरी करने के निर्देश दिए गए हैं। इससे दानदाताओं को भी टैक्स में बचत होगी और स्कूलों के डवलपमेंट में भी तेजी आएगी।

संस्थाप्रधानों को करनी होगी यह कार्रवाई : -एसडीएमसी, डीडीएमसी या एसएमसी का पैन (परमानेंट एकाउंट नंबर) लेना - पंजीयन के लिए जरूरी फार्म 10ए, 10जी भरना - एसडीएमसी, डीडीएमसी या एसएमसी का विधान, रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र (सहकारिता विभाग से), पैन कार्ड की प्रतिलिपि, विद्यालय स्तर पर समिति गठन की प्रतिलिपि, सदस्यों के परिचय पत्र और तीन साल के बैंक खाते की जानकारी संलग्न करनी होगी। - इन सभी दस्तावेजों का सेट तैयार करके आयकर आयुक्त (छूट) जयपुर को भेजना होगा।

धर्मार्थशिक्षण संस्थानों को दान पर मिलती है छूट : आयकरअधिनियम की धारा 80जी के तहत धर्मार्थ शिक्षण संस्थानों को दान दी गई राशि पर आयकर में छूट मिलती है। जानकारों के अनुसार ऐसे संस्थानों को दान की गई राशि के 50 प्रतिशत हिस्से पर आयकर से छूट दी जाती है। उदाहरण के लिए यदि किसी भामाशाह ने शिक्षण संस्था को 50 हजार रुपए दान में दिए हैं, तो उसकी सकल आय में से 25000 रुपए पर आयकर नहीं देना होगा।

खाद्यसुरक्षा...

मंत्रीकी जानकारी के अनुसार करीब एक करोड़ छह लाख लाभार्थियों के नाम हटाए गए हैं, जबकि विभाग ने जो सूची दी है उसमें यह संख्या 79 लाख छह हजार बताई गई है।

6महीने से नाम नहीं जोड़ रहे उनका क्या : भाजपाविधायक झाबर सिंह खर्रा ने सवाल उठाया कि लाभार्थियों के नाम जोड़े नहीं जा रहे हैं। छह-छह महीने हो गए। एसडीएम कार्यालय में आवेदन दिए। खाद्य मंत्री ने कहा कि नाम जुड़वाने की एक सतत प्रक्रिया है। जिसके अंतर्गत पात्र व्यक्ति राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना का लाभ लेने के लिए प्रार्थना पत्र संबंधित उपखण्ड अधिकारी के यहां अपील प्रस्तुत कर सकता है। उपखण्ड अधिकारी स्वप्रेरणा से उस व्यक्ति का नाम जोड़ सकता है। सरकार ने नौ लाख पात्र लोगों के नाम जोड़े भी हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: पीसी गुप्ता...
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top