Home »Rajasthan »Jodhpur »News » Corruption Case In JDE

JDE में करप्शन का मामला, एक्सईएन गिरफ्तार और पूर्व IAS एसीबी में तलब

bhaskar news | Mar 21, 2017, 07:17 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
JDE में करप्शन का मामला, एक्सईएन गिरफ्तार और पूर्व IAS एसीबी में तलब
जोधपुर.मानसागर वाटिका में एक ही टेंडर को चार गुना बढ़ा कर दो जगह काम कराने के मामले में एसीबी ने सोमवार को जेडीए के एक्सईएन भंवरलाल सुथार को गिरफ्तार किया है। सुथार की गिरफ्तारी के बाद पूर्व चेयरमैन राजेंद्र सोलंकी की तीनों इंजीनियर्स की टीम गिरफ्तार हो चुकी है, जिन्हें नियम विरुद्ध काम कराने के लिए तीन दूसरे इंजीनियर्स को एपीओ कर लगाया था।
ब्यूरो की दूसरी टीम ने जेडीए के ही तत्कालीन आयुक्त रहे पूर्व आईएएस शफी मोहम्मद को भी पूछताछ के लिए तलब किया है। इसी मामले में तत्कालीन जेडीए सचिव और हाल में जालोर के एडीएम रहे पीएस नागा रिमांड पर चल रहे हैं। डीएसपी जगदीश सोनी ने बताया कि सुथार को मंगलवार को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेंगे।
शर्मा, मेवाड़ा के बाद सुथार भी गिरफ्तार
विधानसभाचुनाव से पहले जेडीए में नियमों से परे काम कराने का प्रयास हो रहा था तब एक्सईएन आलोक मालवीय, एईएन आलोक माथुर जेईएन संतोष चौधरी ने विरोध किया था। तब चेयरमैन ने तीनों को एपीओ करा दिया और उनकी जगह अपनी टीम बनाई जिसमें एक्सईएन मोहनलाल शर्मा, एईएन भंवरलाल सुथार जेईएन जितेंद्र मेवाड़ा को जेडीए में लगाया। शर्मा मेवाड़ा पहले गिरफ्तार हो चुके हैं, सुथार को अब गिरफ्तार किया है। सुथार का अक्टूबर में प्रमोशन हो गया और उनकी जगह निर्मल माथुर गए। चूंकि गड़बड़ियां सुथार ने की थी इसलिए निर्मल माथुर से पूछताछ तो हुई परंतु गिरफ्तार नहीं किया गया।
250 करोड़ के भ्रष्टाचार में पूर्व आईएएस तलब
बोर्डबैठकों के मिनट्स में ठेकेदारों के कहने पर प्रस्ताव जोड़ कर 250 करोड़ का भ्रष्टाचार करने के दूसरे मामले में एसीबी ने तत्कालीन आयुक्त शफी मोहम्मद को नोटिस देकर तलब किया है। इस केस में सोलंकी डायरेक्टर इंजीनियर केके माथुर फरार हैं, जबकि चौथे आरोपी तत्कालीन सचिव नागा गिरफ्तार किए जा चुके हैं और 23 मार्च तक रिमांड पर हैं।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
DBPL T20
Web Title: Corruption case in JDE
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top