Home »Rajasthan »Kota» Restoration Of Dussehra Maidan

धीमी गति से चल रहा जीर्णोद्धार का काम, अधूरे मैदान में भरेगा इस बार दशहरा मेला

Bhaskar News | Apr 15, 2017, 06:32 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
धीमी गति से चल रहा जीर्णोद्धार का काम, अधूरे मैदान में भरेगा इस बार दशहरा मेला
कोटा.दशहरा मैदान के जीर्णोद्धार का काम शुरू तो कर दिया, लेकिन जिस गति से अभी काम चल रहा है और नगर निगम एवं कंपनी की जो टाइम लाइन है उसके अनुसार इस बार का दशहरा मेला आधे-अधूरे मैदान में आयोजित करना पड़ेगा। मेला शुरू होने तक रंगमंच का ढांचा, 600 दुकानें के प्लेटफार्म व मुख्य सड़क बनने का ही काम हो पाएगा। इनका फिनिशिंग वर्क, सौंदर्यीकरण तथा भीतरी सड़कों का काम अगले साल मार्च तक पूरा हो सकेगा।

दशहरा मेले के जीर्णोद्धार के फर्स्ट फेज का काम स्काई-वे इंफ्रा कंपनी को नगर निगम ने मार्च माह में दिया था। जिसमें पूरा काम करने के लिए 13 माह का समय दिया था, लेकिन 15 सितंबर से 15 अक्टूबर तक मैदान खाली रखकर निर्माण कार्य बंद रखना पड़ेगा। इस साल दशहरा 30 सितंबर का है और 21 सितंबर को नवरात्रि स्थापना है, तभी से मेले की चहल-पहल शुरू हो जाती है। इस 12 माह की अवधि में वर्तमान दशहरा मैदान को पूरी तरह से ध्वस्त करके नया अत्याधुनिक लाइटिंग व साउंड इफेक्ट्स वाला रंगमंच बनाना, श्रीराम रंगमंच बनाना, मुख्य सड़कों से लेकर बाजारों की भीतरी सड़कें बनाना, फूड कोर्ट सहित 600 दुकानों के लिए प्लेटफार्म बनाकर उन पर केनोपी लगाने, मेला स्थल की बाउंड्रीवाल बनाना तथा अन्य सौंदर्यीकरण के काम करने हैं।
निगम ने जिस हिसाब से टाइम लाइन सेट की है, उसके हिसाब से भी यदि काम चले तब भी सितंबर तक केवल रंगमंच का ढांचा, रावण दहन स्थल व प्लेटफार्म बन पाएंगे। किसी भी काम की फिनिशिंग व सौंदर्यीकरण नहीं हो पाएगा। जबकि, अभी तक केवल दुकानें ध्वस्त करने का काम चल रहा है। निगम का पुराना भवन तोड़ना शेष है। बाउंड्रीवाल के लिए पिलर खड़े करने का काम चल रहा है।
ये है टाइम लाइन
- अप्रैल- पूरी दुकानें तोड़ना और निर्माण कार्य शुरू करना
- मई- मेलास्थल की बाउंड्रीवाल पूरी करना
- जून- रावण दहन स्थल व रंगमंच का स्ट्रक्चर खड़ा करना
- जुलाई- रंगमंच की छत डालना और मुख्य सड़क बनाना
अगस्त से 15 सितंबर तक- 600 दुकानों के लिए प्लेटफार्म तैयार होगा
स्काई वे कंपनी एग्जुकेटिव ऑफिसर चंद्रवीर सिंह ने बताया कि जो टाइम लाइन तय हुई है उसके अनुसार काम ठीक गति से चल रहा हैं। मेला शुरू होने से पहले 15 सितंबर तक रंगमंच का ढांचा, बाउंड्रीवाल, सड़क व प्लेटफार्म का काम पूरा कर लेंगे ताकि मेला आसानी से भर सकें। 250 पिलर बनाने हैं, जिसमें से 100 पिलर का काम शुरू हो चुका है।
नगर निगम के आयुक्त डॉक्टर विक्रम जिंदल ने बताया कि दशहरा मैदान के जीर्णोद्धार के काम का अब लगातार रिव्यू किया जाएगा ताकि काम की गति में तेजी आए। मेले से पहले इतना काम करवा लिया जाएगा कि कोई परेशानी न हो।
दशहरा मेले की पहली बैठक 17 को दुकानों के आवंटन की तय होगी प्रक्रिया
इस साल के दशहरा मेले के आयोजन को लेकर मेला समिति की पहली बैठक 17 अप्रैल को आयोजित की जाएगी। बैठक में मुख्य रूप से ये तय किया जाएगा कि दुकानों का आवंटन इस साल किस प्रक्रिया के तहत किया जाए। पिछले साल निगम ने घोषणा की थी कि दुकानों का आवंटन नीलामी से किया जाएगा। इसी घोषणा को कायम रखना है कि सालों पुरानी परंपरा के तहत पुराने दुकानदारों को पुरानी जगह ही आवंटित करनी है। मेला समिति अध्यक्ष राममोहन मित्रा के अनुसार बैठक में सांस्कृतिक कार्यक्रमों को लेकर भी चर्चा की जाएगी। इस साल कुछ बदलाव कर राजस्थान परिवेश के कार्यक्रमों को बढ़ाया जाएगा। इसके अलावा पिछले मेले के बकाया भुगतान शीघ्र करवाने, दुकानों के आवंटन में अभी से राजस्व समिति को सक्रिय करने, टेंडर की प्रक्रिया भी इस साल जल्दी शुरू करने ताकि कलाकारों को बुलाने में पिछले साल आई परेशानी से बचा जा सके और अन्य मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Restoration of Dussehra maidan
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Kota

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top