Home »Rajasthan »Chittorgarh Zila »Begu » नहरों की सफाई के लिए नहीं मिल रहे मजदूर

नहरों की सफाई के लिए नहीं मिल रहे मजदूर

Bhaskar News Network | Oct 19, 2016, 02:15 AM IST

नहरों की सफाई के लिए नहीं मिल रहे मजदूर
क्षेत्रमें रबी फसल रेलनी के लिए पांच नवम्बर से बांधों से नहरों में पानी छोड़ा जाएगा। विभाग ने नहरों में पानी छोड़ने की तिथियां निर्धारित कर ली गई लेकिन नहरों कि सफाई के लिए मजदूर नहीं मिल रहे। ऐसे में या तो खुद विभाग नहरें साफ करे या मजदूरों के इंतजाम में पानी की तिथियांं आगे बढ़ानी होगी।

क्षेत्र के सात बांधों से रबी फसल पिलाई के लिए जल संसाधन विभाग द्वारा जल वितरण कमेटी की बैठकें कर नहरों में पानी छोड़ने कि तिथिया निर्धारित कर ली है। पांच से 15 नवम्बर तक नहरों से पानी छोड़ा जाएगा। लेकिन कटाई के महत्वपूर्ण समय में किसान खेती बाडी के काम में लगे है। किसानों को समय है मजदूरों को किसानों के यहां मजदूरी करने वाले इस सीजन में 300-400 रुपए प्रतिदिन मजदूरी कमा रहे है। नरेगा में मजदूरी मिलती है 190 रुपये तक ऐसे में नरेगा में श्रमिकों का टोटा चल रहा है। ऐसे में नहरें सफाई के लिए मजदूर नहीं है।

जल संसाधन विभाग के एईएन ओपी सोनी जेईएन कन्हैया लाल धाकड़ ने सभी जगह जल वितरण कमेटी की बैठकों में आए अध्यक्षों सदस्यों को बता दिया कि नहर सफाई के लिए श्रमिकों के अभाव में खुद को सफाई करनी होगी या तिथियां आगे बढ़े।

इधर, एईएन सोनी ने बीडीओ को नरेगा श्रमिक उपलब्ध कराने कि मांग की यहां तक कि नरेगा श्रमिक द्वारा नहर सफाई कराने के लिए डोराई सहित कुछ जगह मिस्टरोल भी जारी कर दिए लेकिन श्रमिकों के अभाव में खाली मस्टररोल भी वापस जमा कराने पड़े। एक नहर पर 50 श्रमिक की जरूरत होती है।

5 नवंबर से पानी छोड़ने का निर्णय

जलसंसाधन के एईएन ओपी सोनी ने बताया कि सात बांधों पर जल वितरण कमेटियों की हुई बैठकों में रबी फसल पिलाई के लिए पानी छोड़ने का निर्णय लिया। एक नवंबर को जलसागर, तीन को राजगढ़, पांच को रूपारेल, सात को डोराई धांधडा, 10 को कालादेह, 15 भंवर पीपला बांध से नहरे छोड़ने का निर्णय लिया।

नरेगा श्रमिकों का टोटा

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: नहरों की सफाई के लिए नहीं मिल रहे मजदूर
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

    More From Begu

      Trending Now

      Top