Home »Rajasthan »Dholpur » चार माह से किसानों का मुआवजा और बाईपास निर्माण दोनों अटके

चार माह से किसानों का मुआवजा और बाईपास निर्माण दोनों अटके

Bhaskar News Network | Oct 19, 2016, 02:30 AM IST

चार माह से किसानों का मुआवजा और बाईपास निर्माण दोनों अटके
चारमहीने से किसानों की मुआवजा राशि बाईपास निर्माण दोनों ही अटके हुए हैं। कस्बे में एनएच 123 पर प्रस्तावित बाईपास का निर्माण गति नहीं पकड़ पा रहा है। वजह, बाइपास निर्माण के लिए अधिग्रहण की गई जमीन पर अभी तक कब्जे की कार्रवाई नहीं होना है। जिसके चलते बाइपास निर्माण का कार्य अटका पड़ा है।

उधर जमीन के मुआवजे और अधिग्रहण जमीन पर कब्जे में हो रही प्रशासनिक देरी से किसान मुगालते में हैं। जिसके चलते किसान अधिग्रहण की गई जमीन पर खरीफ की फसल कटाई के बाद रवी की बुआई की तैयारी में जुट गया है। ऐसे में जमीन पर फसल की बुआई से बाइपास निर्माण में रूकावट आने की स्थिति साफ नजर रही है। एनएचएआई और प्रशासनिक लेट-लतीफी के कारण बाइपास का निर्माण एक्जिस्टिंग रोड के निर्माण की अपेक्षा महीनों पिछड़ता नजर रहा है।

जानकारी के अनुसार, नेशनल हाईवे 123 ऊंचा का नगला-रूपवास-खानूआ और धौलपुर के करीब 75 किलोमीटर लंबे मार्ग पर फरवरी 2016 से निर्माण कार्य गति पकड़ चुका है। लेकिन कस्वा स्थित बाइपास का कार्य अभी तक शुरू नहीं हो सका है। जिसकी प्रमुख वजह बाइपास के लिए चिन्हित की गई जमीन पर कब्जे की कार्रवाई और सरकार से किसानों को बदले में मिलने बाले मुआवजे शेष|22 पर

चार माह से...

काअभी तक वितरण नहीं होना है। ऐसी स्थिति में निर्माण करने वाली कंपनी खेतों के अंदर कार्य के लिए नहीं घुस पा रही हैं। कंपनी के एक इंजीनियर ने बताया कि रूपवास और अन्य स्थानों पर बाइपास के लिए प्रशासन जमीन पर कब्जा दिलाने की कार्रवाई कर चुका है। लेकिन सैंपऊ और धौलपुर में बनने बाले बाइपास निर्माण के लिए प्रशासन की ओर से प्रयासों में तेजी नहीं लाई जा रही है। ऐंसे में हाईवे का कार्य पिछड़ने की आशंका साफ दिखाई दे रही है।

सैंपऊ. हाईवे 123 पर चल रहा सड़क निर्माण।

साढ़े चार किलोमीटर लंबा है बाईपास

कस्बेके बाहर से निकलने वाला बाइपास करीब साढ़े चार किलोमीटर लंबा है। बाइपास सालेपुर के पास से मुख्य मार्ग के वजाय खेतों से होकर गुजरेगा, जो राजा का नगला और ठाकुरदास का नगला के मध्य मुख्य मार्ग से जुड़ेगा। खेरागढ़ मार्ग को क्रॉस करने के लिए बाइपास पर अंडरपास का निर्माण प्रस्तावित है।

सैंपऊ. खेरागढ़ मार्ग पर ठप पड़ा अंडरपास का कार्य।

काम शुरू पर बिजली की लाइन से रुकावट

कस्वेमें बाइपास के निर्माण के साथ अंडर पास का निर्माण भी प्रस्तावित है। अंडर पास का निर्माण कार्यकारी एजेंसी द्वारा प्रारंभ तो कर दिया है। लेकिन इसके पास से गुजरी विद्युत लाइन को अन्यत्र शिफ्ट नहीं किए जाने से अंडरपास का कार्य फिलहाल अटका पड़ा है। कंपनी के इंजीनियर ने बताया कि विद्युत लाइन को शिफ्ट कराने के लिए चार महीने से कार्रवाई कर रहे हैं, लेकिन डिस्कॉम के कानों पर जूं नहीं रेंग रही है। ऐसे में बाइपास और अंडरपास के कार्य में तमाम रोड़े पैदा होने से कार्य गति नहीं पकड़ रहा है।

एनएचएआई द्वारा बाइपास निर्माण के लिए किसानों की जमीन अधिग्रहण करने को सरकार के खाते में 11 करोड़ से अधिक राशि डाली जा चुकी है। यह राशि करीब चार माह पूर्व सरकार के खाते मंे आनी बताई जाती है। ऐसे में सवाल उठता है कि चार माह से किसानों को मुआवजा राशि वितरण की प्रक्रिया शुरू करने के साथ जमीन कब्जे की शुरूआत क्यों नहीं की गई। प्रशासनिक शिथिलता के कारण किसान वर्तमान में खरीफ की फसल काटकर रवी की बुआई की तैयारी में जुट चुका है। ऐसे में उसे तो मुआवजा मिलने के संबंध में कोई जानकारी है। द्वंद की स्थिति मंे फंसे किसानों द्वारा वायपास निर्माण को अधिग्रहण होने बाली जमीन पर रामभरोसे खेती का कार्य शुरू कर दिया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: चार माह से किसानों का मुआवजा और बाईपास निर्माण दोनों अटके
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    More From Dholpur

      Trending Now

      Top