Home »Rajasthan »Bharatpur Zila »Nagar» भरतपुर की महिला...

भरतपुर की महिला...

Bhaskar News Network | Mar 20, 2017, 05:45 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
भरतपुर की महिला...

जिसकेबाद राजवाला बेहोश हो गई। उसे मथुरा के सरकारी अस्पताल में अज्ञात महिला के नाम से अचेतावस्था में भर्ती कराया गया। इधर पीहर पक्ष के लोगों ने फोन करके जाटौली रतभान उसके परिजनों से संपर्क किया कि उन्होंने बस में 17 मार्च को बैठाकर भेज दिया है। यहां नहीं पहुंचने पर सभी उसकी तलाश में जुट गए। 18 मार्च को शाम को राजवाला मथुरा के सरकारी अस्पताल में भर्ती मिली, जहां से परिजन उसे अपने गांव ले आए। यहां उसे हल्का होश आने लगा, लेकिन ज्यादा फायदा नहीं होने पर रविवार सुबह आरबीएम अस्पताल में भर्ती कराया।

कुंडलऔर ढाई हजार रुपए, कपड़े गायब : परिजनोंका कहना है कि उसके कानों से सोने के कुंडल, पैर से चांदी की तोड़िया, थैले से दो साड़ी पांच किला चावल तथा 2 हजार 500 रुपए गायब हैं। जिन्हें किसी ने लूट लिया।

बगैरनोटिस कर वसूली...

बैठकमें नगर निगम की ओर से हो रही कर वसूली को अवैध वसूली बताते हुए विरोध करने का निर्णय लिया गया। बैठक में निर्णय लिया गया कि यदि किसी तरह की वसूली व्यापारियों से अन्य कर के नाम पर की जाती है तो व्यापारी व्यापार महासंघ को इसकी सूचना देंगे। इसके अलावा नगर निगम प्रशासन इस अवैध वसूली को बंद नहीं करता है तो भरतपुर बंद का निर्णय लेकर आंदोलन किया जाएगा। व्यापारियों के साथ मनमानी किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

बैठक में जिलाध्यक्ष संजीव गुप्ता, नरेंद्र गोयल, अनिल लोहिया, प्रमोद कुमार सर्राफ, विष्णुदत्त जैन, जयप्रकाश बजाज, विनोद भुसावरी, बंटू भाई, सुनील कसेरा, नरेंद्र सिंहल, सुनील कसेरा, प्रमोद बंसल आदि उपस्थित थे। इसी प्रकार मथुरा गेट व्यापार संघ की बैठक प्रमोद कुमार बंसल की अध्यक्षता में हुई। इसमें निर्णय लिया गया कि कोई भी व्यापारी नगर निगम प्रशासन को अवैध वसूली नहीं देगा। बैठक में मुकेश कुमार गर्ग, अखिल गोयल, प्रताप सिंह जाटव, महेश जाटव, दाउदयाल गर्ग, गोविंद प्रसाद बंसल, लीला जाटव, माेनू, महावीर सर्राफ आदि उपस्थित थे।

अबविरोध को लेकर बोर्ड क्या करेगा : व्यापारमहासंघ ने नगरीय विकास कर की वसूली को अवैध बताते हुए विरोध कर दिया है। नगर निगम को करीब 15 करोड़ रुपए की वसूली इस कर के माध्यम से करनी है। क्योंकि पिछले लंबे समय से यह वसूली निगम प्रशासन नहीं कर सका है। अचानक से शुरू हो रही इस वसूली को लेकर विरोध भी बड़ा विवाद पैदा करेगा। क्योंकि मेयर पार्षद इस मामले में नहीं बाेलते हैं तो व्यापार महासंघ नाराज होगा। अगर बोलते हैं तो नगर निगम की नगरीय विकास कर की वसूली में अड़चन आएगी। लेकिन विरोध को लेकर आगे बोर्ड क्या निर्णय करता है। यह सवाल फिलहाल नगर निगम में भी चर्चा का विषय बना हुआ है।

परीक्षामें पेपर बिगड़ने...

जिसमेंफेल होने पर वह घर वालों को क्या जबाव देता, इस वजह से वह शुक्रवार को गणित विषय के पेपर के दिन अपने दोस्त के पास पहुंच गया। जहां उसके दोस्त ने उसे समझाया कि वह अपने घर वापस जाए। इस पर उसने झूंठी कहानी रच दी। उसका किसी ने अपहरण नहीं किया और ही बंधक बनाया। इस संबंध में उसने परिजनों ने पुलिस को लिखकर दे दिया है।

एसडीएमने तंज कसा...

उन्होंनेतुरंत साथियों से मशविरा किया और गोवर्धन पूजा के दिन 11 निराश्रित और बीमार गायों के लिए गौ सेवा शिविर शुरु किया। तय था कि सर्दी के मौसम तक शिविर चलाएंगे। इसलिए काली बगीची के बाहर सड़क किनारे टेंट लगा कर गायों को पाला जाने लगा।

तभी किसी ने शिकायत कर दी कि गायों के नाम पर अतिक्रमण हो रहा है। नगर निगम के दस्ते ने टेंट उखाड़ दिया। ऐसे में इन गायों को लेकर जाएं कहां सवाल खड़ा हुआ। इसी दौरान काली बगीची के लोगों ने बगीची में गायों को रखने की अनुमति दे दी। सर्दी बीती तो गायों को मुक्त कर दिया गया, लेकिन वे गायें गई नहीं। लगा जैसे वे परिवार का हिस्सा हैं। इसलिए गौ सेवा शिविर को गौशाला में परिवर्तित कर दिया गया। अब गौशाला में 80 गाये हैं। इनकी देखभाल का पूरा जिम्मा बंटी प्रधान ही संभालते हैं। उनकी सुबह 5 बजे से देर शाम तक सेवा कार्य में चलता है। इसके अलावा बगीची स्थित काली माता हनुमान मंदिर की भी पूजा अर्चना की जाती है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
DBPL T20
Web Title: भरतपुर की महिला...
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Nagar

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top