Home »Rajasthan »Pali Zila »Rani » आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का चयन पंचायतें नहीं करेंगी

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का चयन पंचायतें नहीं करेंगी

Bhaskar News Network | Dec 02, 2016, 06:45 AM IST

आंगनबाड़ी कर्मचारियों की नियुक्ति प्रक्रिया में नया नियम पंचायतों से छीने अधिकार

भास्करसंवाददाता | पाली

आंगनबाड़ीकार्यकर्ता, मिनी कार्यकर्ता एवं सहायिका के चयन में पारदर्शिता के लिए सरकार ने नियमों में बदलाव किया है। रिक्त पदों की विज्ञप्ति निकालने से लेकर चयन तक की प्रक्रिया में महिला एवं बाल विकास विभाग का अहम रोल होगा। पहले सभी अधिकार संबंधित पंचायत को ही होते थे। विभाग ने नई गाइडलाइन जारी कर दी है। यह नियम दिसंबर से शुरू होने वाली भर्ती प्रक्रिया पर लागू होगी। महिला एवं बाल विकास में अब जिला मुख्यालय स्थित उप निदेशक कार्यालय से ही रिक्त पदों की विज्ञप्ति जारी होगी। पहले यह काम ब्लाक लेवल पर सीडीपीओ कार्यालय से होता था। अब आवेदन पत्र ग्राम पंचायतों की जगह अब सीडीपीओ कार्यालय में जमा होंगे। आवेदकों की वरियता सूची बनेगी। इसमें प्रथम एक से तीन स्थान वाली अभ्यर्थियों के नाम होंगे। पहले तथा दूसरे स्थान पर आने वाली महिला किसी कारण से तय तिथि तक ड्यूटी ज्वाइन नहीं करती है तो तीसरे स्थान की महिला काे नौकरी मिलेगी। पहले इस प्रकार की सूची नहीं बनती थी। ग्रामसभा में केवल एक नाम का चयन होता था। उसके ड्यूटी ज्वाइन नहीं करने पर फिर से विज्ञप्ति निकालनी पड़ती थी। पहले वेरीफिकेशन का काम भी पंचायत लेवल पर होता था। अब इसके लिए भी महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा तीन सदस्यीय कमेटी बनेगी।

इसलिए किया बदलाव

{सूत्रों के अनुसार सरकार और अधिकारियों का मानना है कि आंगनवाड़ी कार्मिकों की चयन प्रक्रिया में कई पंचायतों द्वारा पारदर्शिता नहीं बरती जाती है। इस पर रोक लगाने के लिए ही विभाग ने नई गाइडलाइन निकाली है।

{अंतिम मुहर पंचायत की ही लगेगी : चयन प्रक्रिया में मुख्य भूमिका भले ही महिला एवं बाल विकास विभाग की कर दी, लेकिन अंतिम मुहर ग्रामसभा में ही लगेगी। उसमें वरीयता सूची का अनुमोदन होगा। हां, तय सीमा में चयनित कार्मिक को आवेदन, ड्यूटी ज्वाइन करनी होगी।

नई गाइडलाइन में यह रहेगा खास

{विज्ञप्ति में स्पष्‍ट होगा कि आवेदन में संशोधन एवं अनुलग्नक संलग्न करने की अनुमति नहीं होगी।

{ दो या दो से अधिक आवेदकों के बराबर अंक होने पर अधिक उम्र वाली महिला को प्राथमिकता।

{ चयनित कार्मिक को विशेष परिस्थिति में पांच दिन से अधिक का अवकाश एक बार देय होगा।

{ सीडीपीओ कार्यालय में संबंधित कर्मचारी को आवेदन प्राप्ति की रसीद अनिवार्य रूप से देनी होगी।

{ पंचायतों ने दो महीने की समयावधि या ग्रामसभा में चयन नहीं किया तो बाल विकास परियोजना अधिकारी आवेदन पत्रों को ब्लाक स्तरीय निगरानी समिति में भेजेंगे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का चयन पंचायतें नहीं करेंगी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    More From Rani

      Trending Now

      Top