Home »Rajasthan »Kota Zila »R Mandi » रावतभाटा चेस्ट शाखा को नहीं मिली करेंसी दोपहर डेढ़ बजे तक ही वेतन ले सके कर्मी

रावतभाटा चेस्ट शाखा को नहीं मिली करेंसी दोपहर डेढ़ बजे तक ही वेतन ले सके कर्मी

Bhaskar News Network | Dec 02, 2016, 06:40 AM IST

खातों में पहुंचा वेतन, लेकिन हाथ नहीं आया

भलेही बैंकों में कर्मचारियों के खातों में पैसा गया हो, लेकिन बैंक कर्मचारियों को राशि नहीं दे पा रहा है। कारण रावतभाटा के सबसे बड़े स्टेट बैंक को करेंसी ही नहीं मिली। स्थिति यह है कि अब बैंक ने फटे पुराने नोट भी निकाल कर अन्य बैंकों को दिए हैं।

नोटबंदी के इस दौर में जहां बैंकों में शाम तक लाइनें रहती थीं, स्टेट बैंक बीकानेर एण्ड जयपुर में तो दोपहर बाद सन्नाटा पसरा था। मानो यहां नोटबंदी का कोई असर ही नहीं दिख रहा हो। जबकि हकीकत यह थी कि बैंक खाली हो चुका है। बैंक प्रबंधक अशोक कुमार जैन ने बताया कि सुबह बैंक खुलने के समय कर्मचारी और पेंशनर्स आए थे। जिन्हें 4 काउंटर लगाकर 5 हजार की राशि दी गई। उधर, बैंक ऑफ बड़ौदा के प्रबंधक ने बताया कि करंट खाते में 5 हजार और बचत खाते में 5 हजार दिए गए।

शादीवाले अब भी परेशान

जिनघरों में शादी है, वह सबसे ज्यादा परेशान हैं। 24 हजार रुपए भी अपने खातों से नहीं निकाल पा रहे हैं। स्टेट बैंक में एक परिवार दिनभर गिड़गिड़ाता रहा, लेकिन उसे राशि नहीं मिली। ढाई लाख रुपए के नियम इतने सख्त है कि कोई भी परिवार इसकी पूर्ति नहीं कर पा रहा है।

पुरानेनोटों से खुलेंगे नए खाते

रावतभाटाबाजार पोस्ट ऑफिस में रविवार को आम लोगों की राहत देने के लिए 1000, 500 के पुराने नोटों से नए बचत खाते खोले जाएंगे। उपडाकपाल रावतभाटा बाजार राजेश कुमार मीणा ने बताया कि पोस्ट ऑफिस सुबह 10 से शाम 4 बजे तक खुला रहेगा।

रामगंजमंडी। पहली तारीख को बैंक पर लगी भीड़।

रावतभाटा। दोपहर 1.30 बजे रावतभाटा के स्टेट बैंक में सन्नाटा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: रावतभाटा चेस्ट शाखा को नहीं मिली करेंसी दोपहर डेढ़ बजे तक ही वेतन ले सके कर्मी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From R Mandi

        Trending Now

        Top