Home »Rajasthan »Jalore Zila »Sanchore» वैदिक संस्कृति परम्परा संगोष्ठी का आयोजन

वैदिक संस्कृति परम्परा संगोष्ठी का आयोजन

Bhaskar News Network | Jul 05, 2016, 06:15 IST

  • नगरके पंचायत समिति सभा भवन में भारत विकास परिषद एवं विवेकानंद शाखा के संयुक्त तत्वावधान में वैदिक संस्कृति परम्परा का अनुवर्तन एवं हम विषय पर राजस्थान संस्कृत विश्व विद्यालय साहित्य पीठ पूर्व अध्यक्ष प्रोफेसर अनन्त शर्मा के मुख्य आतिथ्य में संगोष्ठी का आयोजन हुआ।

    इस मौके अध्यक्षता तहसीलदार प्रहलादसिंह भाटी एवं विशिष्ट आतिथ्य के रुप में राव गणपतसिंह चितलवाना एवं शिक्षाविद डॉ. हुसैन खां शेख उपस्थित रहे। संगोष्ठी को संबोधित करते हुए प्रोफेसर शर्मा ने कहा कि संस्कृति का आरंभ अंत दोनों मनुष्य से है एवं मनुष्य का शरीर, मन तथा बुद्धि रूपी तीन घटकों वाला बाहरी स्वरूप वेद त्रयी है। उन्होंने कहा कि लोग वेद के बारे में बोलते हैं किंतु स्वयं वेद को पढ़ने का श्रम कोई नहीं करना चाहता। डॉ. उदाराम वैष्णव ने वेद को सार्वभौमिक और सार्वकालिक बताते हुए उसके अध्ययन को राष्ट्रीय कर्त्तव्य बताया। तहसीलदार प्रहलादसिंह भाटी ने अध्यक्षीय वक्तव्य देते हुए संस्कारों पर बल दिया। कार्यक्रम का संचालन पंडित चिरंजीव दवे ने किया। कार्यक्रम में भेराराम पुरोहित, डॉ. विष्णुदास वैष्णव, श्रवणसिंह राव, पंडित भागीरथ व्यास, पुरेन्द्र व्यास, भारत विकास परिषद अध्यक्ष अश्विन भाई पटेल, युवा शाखा अध्यक्ष अशोक वैष्णव, भंवरलाल गांधी, शिवराम पुरोहित, बंशीदास वैष्णव सहित सैकड़ों की संख्या में लोग उपस्थित थे।

    डॉ.प्रवीण पंडया का नागरिक अभिनंदन किया

    सांचौरके नागरिकों एवं भारत विकास परिषद की ओर से इस अवसर पर राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त संस्कृत कवि, आलोचक एवं विद्वान डॉ. प्रवीण पंडया का नागरिक अभिनंदन किया। डॉ. पंड्या को इसी साल राजस्थान संस्कृत अकादमी ने अखिल भारतीय स्तर पर दिए जाने वाले सर्वोच्च माद्य पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। डॉ. पण्ड्या के कुल 21 ग्रंथ प्रकाशित हो चुके हैं। साहित्य अकादमी नई दिल्ली ने समकालीन भारतीय कविता के सर्वाधिक चर्चित कवियों के संकलन में संस्कृत के पांच कवियों को स्थान दिया है, जिनमें एक डॉ. प्रवीण पंड्या है।

    सांचौर. भारत विकास परिषद के तत्वावधान में आयोजित वैदिक संस्कृति संगोष्ठी के दौरान मंचासीन अतिथि मौजूद गणमान्य नागरिक।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: वैदिक संस्कृति परम्परा संगोष्ठी का आयोजन
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Sanchore

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top