Home »Rajasthan »Pali Zila »Sojat » जीवन में अनुशासन जरूरी : महेंद्र मुनि

जीवन में अनुशासन जरूरी : महेंद्र मुनि

Bhaskar News Network | Dec 02, 2016, 07:30 AM IST

सोजत | महेंद्रमुनि म.सा. ने कहा कि सच्चा गुरु वहीं है, जो कर्मफल देने वाला और जीवन नैया को मुक्ति की ओर ले जा सके। वे गुरुवार को ओसवाल जैन न्याति नोहरे में आयोजित धर्मसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जीवन में अनुशासन जरूरी है। गुरु अपने ज्ञान के प्रभाव से मनुष्य को अनुशासन एवं संयम की सीख देता है ताकि जीवन में वह विकट परिस्थितियों में अपना धैर्य नहीं खोए। उन्होंने कहा कि वर्तमान की आधुनिकता में मनुष्य को ज्ञान के पैमाने से ज्यादा माया के पैमाने पर ऊंचा माना जाने लगा है। यह ज्ञान की दृष्टि से न्यायोचित नहीं है। माया मनुष्य को कर्माें में लपेटती है और उसे धर्म के मार्ग से विमुख कर लेती है, फिर माया के पैमाने को मनुष्य का आधार क्यों माना जाए। इस अवसर पर जैन संघ के गौतमचंद लोढ़ा, चैनराज अखावत, रामलाल श्रीश्रीमाल, मदनराज श्रीश्रीमाल, सुरेश सुराणा, सुरेश अखावत, हेमंत सिंघवी, राजेंद्र लोढ़ा आदि मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: जीवन में अनुशासन जरूरी : महेंद्र मुनि
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    More From Sojat

      Trending Now

      Top