Home »Rajasthan »Tonk » एड्स से बचाव के प्रति समाज को जागरूक करना जरूरी

एड्स से बचाव के प्रति समाज को जागरूक करना जरूरी

Bhaskar News Network | Dec 02, 2016, 07:45 AM IST

एड्स से बचाव के प्रति समाज को जागरूक करना जरूरी
डाॅ.अंबेड़कर बीएड काॅलेज में गुरुवार विश्व एड्स दिवस के उपलक्ष्य में सेमिनार का आयोजन किया गया। इस सेमिनार का उद्घाटन कॉलेज निदेशक सुनिल बंसल, उप जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. भूषण सालोदिया एवं प्राचार्य डाॅ. आरके शर्मा ने किया। इस कार्यक्रम में चिकित्सा विभाग से आए डाॅ. गंगा सहाय एवं एड्स प्रभारी हरिलाल मीणा और वीरेंद्र सिंह ने विश्व एड्स दिवस के बारे में एवं इस रोग से बचाव एवं उपचार के बारे में प्रशिक्षणार्थियों को बताया। इस मौके पर सहायक निदेशक नवीन त्रिपाठी, व्याख्याता बनवारी लाल यादव, जुनेद खान, मोहम्मद हारून, अनिल खारेला, रीना गौत्तम, आनंद दीक्षित, अनिल गौत्तम आदि उपस्थित रहे। राजकीय कन्या महाविद्यालय में रेड रिबन क्लब की ओर से आयोजित कार्यक्रम में प्राचार्या डॉ. आशा बागोटिया ने एड्स से बचाव के प्रति समाज को जागरुक करने को कहा। उपाचार्य डॉ. बीएल बैरवा, प्रो. प्रीति जैन, जय प्रकाश वर्मा, डॉ. मंजू गुप्ता, डॉ. गीता मीणा आदि ने भी अपने विचार रखे। इस मौके पर हुई पोस्ट प्रतियोगिता में बीए प्रथम वर्ष की नेहा लक्ष्कार प्रथम रही। पीजी कॉलेज में हुई कार्यशाला में डिप्टी सीएमएचओ डॉ. भूषण सालोदिया ने पावर पाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से एचआईवी एड्स क्या है, इसका प्रसार किन कारणों से होता है, इसके क्या प्रभाव होते हैं तथा इससे कैसे बचा जाए आदि की जानकारी दी। इस मौके पर विद्यार्थियों ने एड्स जागरुकता रैली निकाली।

मोर| कुहाडाबुजुर्ग गांव की ग्राम विकास समिति तथा नहेरू युवा मंडल के तत्वाधान में गुरुवार एड्स दिवस पर कार्यशाला हुई। इसमें समिति संरक्षक एवं पंचायत समिति उपप्रधान जगदीश घटाला ने कहा कि 25 साल पहले आज के दिन एड्स जागरूकता दिवस की शुरूआत की गई थी। एचआईवी ग्रसित व्यक्ति को उपचार शुरू करने पर एड्स से बचा जा सकता है। समिति अध्यक्ष सोभागमल डाबला ने कहा कि एड्स रोग से ग्रसित व्यक्ति के साथ सहानुभूतिपूर्वक व्यवहार करना चाहिए। इससे उसका शेष सामाजिक जीवन उत्साह के साथ व्यतीत हो सके। एड्स से डरने की आवश्यकता नहीं है।

देवली| राजकीयस्नातकोत्तर महाविद्यालय में युवा विकास केंद्र एवं एनएसएस के तत्वाधान में गुरूवार को विश्व एड्स जागरूकता दिवस मनाया गया। युवा विकास केंद्र प्रभारी डॉ. शकीला नकवी ने बताया कि इस मौके पर ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.नईम अख्तर ने एड्स जागरूकता, मौसमी बीमारियां कारण और उपचार विषय पर व्याख्यान दिया। प्रथम सत्र में डॉ.नईम ने घातक संक्रामक बीमारी एड्स के कारण और निदान पर विद्यार्थियों से खुलकर विचार विमर्श किए।

द्वितीय सत्र में उन्होंने मौसमी बीमारियों जैसे चिकनगुनिया, डेंगू, मलेरिया आदि से सावधान रहने की हिदायत दी। आरसीटीसी काउंसलर मनोज कुमार शर्मा और लैब टेक्नीशियन भुवनेश्वर ने विद्यार्थियों को एड्स बचाव संबंधी पंपलेट वितरित किए। इस मौके पर आशा नागर, दिनेश कुमार वर्मा, मनोज कुमार राघव, अनीश अब्बासी, डॉ. संतोष मीणा आदि मौजूद थे। यह जानकारी प्राचार्य डॉ. ललिता मलिंदा ने विज्ञप्ति में दी।

टोंक. एड्सरिबन क्लब की ओर से विश्व एड्स दिवस पर आयोजित कार्यशाला में एड्स संबंधी जानकारी देते हुए।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: एड्स से बचाव के प्रति समाज को जागरूक करना जरूरी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Tonk

        Trending Now

        Top