Home »Rajasthan »Ajmer » Police Woman Pinning Blame: Utrwaa Clothes And Torture!

महिला ने लगाए पुलिस पर इल्जाम: उतरवाए कपड़े और की ज्यादती!

Bhaskar News | Dec 05, 2012, 06:47 AM IST

अजमेर.आनासागर रामप्रसाद घाट पर सोमवार रात खानाबदोश महिला से पुलिसकर्मियों द्वारा ज्यादती और विरोध करने वालों से मारपीट की खबर से सनसनी फैल गई। मामले को गंभीर मानते हुए एसपी राजेश मीणा ने खुद थाने पहुंच कर मामले की तफ्तीश की।
मीणा ने आरोप लगाने वाली महिला से पूछताछ की तो महिला ज्यादती के आरोप से मुकर गई। जांच में सामने आया कि रात्रि गश्त के दौरान पुलिसकर्मियों ने घाट पर सो रहे लोगों से शक के आधार पर पूछताछ की थी।
महिला ने पहले तो खुद को मकराना का और बाद में बिहार का निवासी बताया, भ्रामक जानकारी देने पर पुलिसकर्मियों ने दोनों को डांटा-फटकारा था, इस बीच पास में ही सो रहे एक खानाबदोश अधेड़ ने पुलिसकर्मियों का विरोध किया था। बाद में इस अधेड़ ने ही महिला के साथ ज्यादती का प्रयास किए जाने की अफवाह उड़ा दी थी। थाने में महिला और अधेड़ ने लिखित बयान में कार्रवाई से इनकार कर दिया।
थाने पहुंच कर बयान से मुकर गई महिला
बिहार के पूर्णिया जिला निवासी अस्तरी खातून (35), गोरखपुर निवासी शम्सा खातून (50), बिहार निवासी रेखा बीबी और महाराष्ट्र निवासी बबलू मस्तान ने मंगलवार सुबह मीडियाकर्मी और इलाके के लोगों के सामने यह आरोप लगाकर सनसनी फैला दी कि रात्रि गश्त के दौरान तीन पुलिसकर्मियों ने महिलाओं के साथ ज्यादती की कोशिश की, एक महिला के कपड़े भी उतरवाए विरोध करने पर पुलिस कर्मियों ने बबलू मस्तान और राजू को लात-घूंसों से पीटा। हमले में बबलू मस्तान घायल हो गया। सूचना मिलने पर गंज थाना प्रभारी जयपाल मय दल के मौके पर पहुंचे और आरोप लगाने वाली महिलाओं और अन्य लोगों से पूछताछ की, सभी लोगों ने घटना से इनकार कर दिया।
थाने में महिला और उसके पति ने लिखित बयान में किसी तरह की कार्रवाई से इनकार कर दिया। महिला और उसके पति ने बताया कि दरगाह में जियारत के लिए 11 नवंबर को आए थे। वापस लौटने के लिए रुपए नहीं थे, यही कारण है कि बैंड और अन्य मजदूरी कर पेट भर रहे थे। ये लोग रात को रामप्रसाद घाट पर खुले में सो जाते हैं।
शराबी अधेड़ ने फैलाई अफवाह
एसपी राजेश मीणा ने बताया कि मंगलवार सुबह करीब आठ बजे महिला और अधेड़ बबलू मस्तान ने आरोप लगाया कि सोमवार देर रात आनासागर स्थित रामप्रसाद घाट पर पुलिसकर्मियों ने उनके साथ बेवजह मारपीट की और महिला के कपड़े फाड़ दिए। जानकारी मिलते ही इस मामले में वे खुद और अन्य अधिकारी तुरंत गंज थाने पहुंचे। महिला और अन्य लोगों से पूछताछ की गई। महिला ने ज्यादती के प्रयास के आरोप को निराधार बताया।
सोमवार रात करीब ढाई बजे गंज थाने का गश्ती दल रामप्रसाद घाट पर संदिग्ध लोगों से पूछताछ कर रहा था। बिहार से आए दंपती के बांग्लादेशी होने की आशंका के चलते पूछताछ की जा रही थी।तभी वहां मौजूद बबलू मस्तान और एक अन्य युवक आक्रामक हो गए पुलिस कर्मियों से उनकी झड़प हो गई। झड़प में बबलू मस्तान बाबा के भी चोटें आई।
सुबह मस्तान बाबा और एक अन्य युवक ने शराब पीकर पुलिस कर्मियों पर अनर्गल आरोप लगाते हुए लोगों को मौके पर इकट्ठा कर लिया। थाने में महिला और उसके पति ने कार्रवाई से इनकार कर दिया। जांच की जा रही है कि बबलू मस्तान को शराब पिलाकर पुलिसकर्मियों पर अनर्गल आरोप लगाने के लिए किस व्यक्ति ने उकसाया।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Police woman pinning blame: Utrwaa clothes and torture!
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    Trending Now

    Top