Home »Rajasthan »Pali» ज्वेलर की कार लूट के आरोपी को छुड़ाने रोहट थाने में घुसे 5 बदमाश, भागते समय दूसरे वाहन को टक्कर मारी,

ज्वेलर की कार लूट के आरोपी को छुड़ाने रोहट थाने में घुसे 5 बदमाश, भागते समय दूसरे वाहन को टक्कर मारी, बेटे सहित दंपती भी घायल

Bhaskar News Network | Mar 21, 2017, 06:00 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
पुलिसकर्मियों को चैलेंज देकर दो बार वाहन सहित घुसे थाने में, भागते समय गलत साइड से गाड़ी घुमाई, भिड़े दूसरे वाहन से

भास्करसंवाददाता | पाली

रोहटथाना पुलिस ने बांसवाड़ा के ज्वेलर्स की लग्जरी कार (एसयूवी) लूट के मामले में सोमवार रात को एक आरोपी बबलू उर्फ सुरेंद्र जाट निवासी कागल, पीपाड़ को पूछताछ के लिए पकड़ लिया। अपने साथी आरोपी को छुड़ाने की मंशा से स्कार्पियो लेकर आए नामी बदमाश किशन डूडी समेत पांच बदमाशों ने रात को थाने में पुलिसकर्मियों को गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। पुलिस ने गेट बंद कर आरोपियों को पकड़ना चाहा तो स्कार्पियों लेकर सभी पांचों बदमाश वहां से भाग गए। पुलिस की आगे-पीछे घेराबंदी देख बदमाश अरटिया मोड़ के पास फिर से रोहट की ओर मुड़ गए। गलत दिशा में जा रहे बदमाशों की स्कार्पियो सामने रही एक कार से भिड़ गई। हादसे में पांचों बदमाशों के अलावा कार में सवार दंपती उनका मासूम पुत्र घायल हो गया। पुलिस ने घायल बदमाशों को भी बांगड़ अस्पताल में भर्ती कराया है, जिनकी कड़ी सुरक्षा में उपचार कराया जा रहा है। शेष|पेज12



घायलहुए सभी पांचों बदमाश हार्डकोर अपराधी है, जिनकी पुलिस को भी तलाश थी।

पुलिस के अनुसार बांसवाड़ा के आजाद चौक निवासी ज्वेलर नीतेश पुत्र भंवरलाल सोनी अपने मित्र बापूराम तथा यग्नेश रंगानी निवासी राजकोट के साथ व्यापार के सिलसिले में नागौर गया था। 2 मार्च की रात को वे तीनों अपनी एसयूवी (लग्जरी) कार में बांसवाड़ा लौट रहे थे। निंबली टोल प्लाजा पार करने के बाद उनकी पीछे चल रही स्कार्पियों के चालक ने उन्हें बार-बार डीपर दिया तो उन्होंने अपनी एसयूवी रोक दी। उनके रुकते ही स्कार्पियों से उतरे पांच जनों ने तीनों व्यापारियों के साथ मारपीट शुरू कर दी और पिस्तौल दिखा कर धमकाया। घबराए तीनों लोग जान बचाने के लिए कार से उतर खेतों की ओर भागे। यह देख आरोपी उनकी कार लेकर वहां से फरार हो गए। लूट की यह कार 6 मार्च को पुलिस ने पीपाड़ सिटी के कागल गांव के पास लावारिस हालत में बरामद की थी।

दसमिनट तक तो हरकत में नहीं आई पुलिस,पत्थर फेंके सिपाहियों ने : बदमाशएक बार चुनौती देकर वापस थाने में घुसे। तब तक भी पुलिसकर्मी हरकत में नहीं आए। इसके बाद मौके पर मौजूद कुछ पुलिसकर्मियों ने पत्थर फेंके। इससे गुस्साए बदमाशों ने पुलिसकर्मियों पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। इसके बाद पुलिस ने घेराबंदी की तो खुद को घिरता देख बदमाश भागे।

पुलिसकी घेराबंदी देख गलत दिशा में भागते समय कार को टक्कर मारी : रोहटथाने से बदमाश स्काॅर्पियो लेकर पाली की ओर भागे तो पुलिस ने थाना प्रभारी भागीरथराम ने दल के साथ पीछा किया। सूचना पाकर पाली से सीओ ग्रामीण नरेंद्र शर्मा सदर थाना प्रभारी देरावरसिंह सोढ़ा भी रोहट की ओर रवाना हुए। ओम बन्ना के थाने के पास सामने से पुलिस दल को आता देख बदमाशों ने अपनी गाड़ी मोड़ी और भगाते हुए गलत दिशा में गए। अरटिया मोड़ के पास सामने से डस्टर कार को बदमाशों की स्कार्पियो ने टक्कर मार दी। इसके बाद पुलिस ने घायल पांचों बदमाशों के साथ कार सवार दंपती बच्चे को बांगड़ अस्पताल में पहुंचाया।

रातको एसपी थाने और अस्पताल पहुंचे, दो घायल आरोपी रेफर: घटनाकी सूचना पाकर एसपी दीपक भार्गव, एएसपी ज्योतिस्वरूप शर्मा के साथ मौके पर पहुंचे। रोहट थाने में पकड़े गए कार लूट के आरोपी से पूछताछ के बारे में एसपी ने विस्तृत जानकारी ली। इसके बाद देर रात को वे बांगड़ अस्पताल पहुंचे। रात को डॉक्टरों की सलाह पर घायल आरोपी भूटाराम उर्फ बुधाराम विश्नोई ओमप्रकाश को कड़ी सुरक्षा में जोधपुर रेफर किया गया। हथियारबंद जवानों को दोनों घायलों के साथ जोधपुर भेजा गया है, जबकि बाकी के तीनों आरोपियों के आसपास भी पुलिसकर्मी तैनात किए हैं।

दोबार थाने में गाड़ी घुमाई, पुलिसकर्मियों को मारने का प्रयास

सोमवाररात को ही रोहट पुलिस ने लग्जरी कार लूट मामले में आरोपी बबूल उर्फ सुरेंद्र जाट निवासी कागल को पूछताछ के लिए रोहट थाने में लेकर आई। उसे छुड़ाने की मंशा से रात करीब साढ़े दस बजे बिना नंबरी स्कार्पियों में नामी बदमाश किशन डूडी पुत्र शिवकुमार निवासी झाला मलिया, जोधपुर अपने साथी भूरा विश्नोई पुत्र सहीराम निवासी कांवो की ढाणी-कोसाणा, अर्जुन डोगियाल पुत्र जोगाराम जाट निवासी अमराणियों की ढाणी-ओसिया, ओमप्रकाश भाद्रा पुत्र गंगाराम निवासी नवातल बाखासर, बाड़मेर तथा सुनील मुंडेल पुत्र शिवकुमार जाट निवासी मुंडेलों का बास-खांगटा, जोधपुर के साथ रोहट थाने में पहुंचा। इन बदमाशों ने दो बार थाना परिसर में गाड़ी घुमाई, जिन्हें पुलिस ने रोकने का प्रयास किया। मगर बदमाशों ने हैडकांस्टेबल सत्यनारायणसिंह राजपुरोहित समेत अन्य पुलिसकर्मियों को जान से मारने की नीयत से गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया।

बदमाशों ने व्यापारी की लूटी कार को छोड़ा, ज्वेलर का सोना उड़ाया!

2मार्च की रात को बांसवाड़ा के ज्वेलर नितेष सोनी ने रोहट थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट में बदमाशों द्वारा पिस्तौल दिखाने, मारपीट कर लग्जरी कार मोबाइल लूटने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। यह कार तीन दिन बाद ही पुलिस को लावारिस हालत में आरोपी बबलू उर्फ सुरेंद्र जाट के गांव कागल के पास मिली थी। हालांकि ज्वेलर की ओर से दर्ज कराई रिपोर्ट में सोना अथवा अन्य कोई कीमती सामान लूटने का जिक्र नहीं था, लेकिन पुलिस को छानबीन में पता चला कि घटना वाली रात को बांसवाड़ा का व्यापारी काफी मात्रा में सोना लेकर नागौर से लौट रहा था। माना यह जा रहा है कि पुलिस और इन्कम टैक्स से बचने के लिए ही संभवत: व्यापारी ने रिपोर्ट में सोना लूट का जिक्र नहीं किया। इसका फायदा उठाते हुए बदमाशों ने कार से सोना उड़ा लिया और कार को छोड़ दिया। सोमवार रात को ही पुलिस ने कार लूट के आरोपी बबलू उर्फ सुरेंद्र जाट को पूछताछ के लिए पकड़ा था। सोमवार रात को रोहट थाने में आया जोधपुर का नामी बदमाश किशन डूडी के साथ चार अन्य साथी भी 2 मार्च को कार लूट सोना चोरी करने वाली वारदात में शामिल थे, जो अपने साथी को छुड़ाने आए थे।

यह बदमाशों का दुस्साहस या पुलिस की कोई मजबूरी ? इतनी पुलिस देख अस्पताल में भर्ती आमजन डरता रहा, बदमाश बेखौफ पुलिस को गालियां बकते रहे- ऐसी कि सुनी भी जा सके

यहबदमाशों का पुलिस के साथ संबंधों को उजागर करने वाला दृश्य था या फिर पुलिस की मजबूरी। लेकिन सोमवार रात पहले रोहट थाने में घुसकर तो बाद में बांगड़ अस्पताल में बदमाशों ने जो दुस्साहस दिखाया वह पुलिस पर सवाल ज्यादा खड़े कर रहा था। पहले बदमाशों ने थाने में घुसकर अपने साथी को छुड़ाने का दुस्साहस दिखाया। एक बार नहीं, दो बार। थाने में ही पुलिसकर्मियों पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। इसके बाद एक निर्दोष परिवार की जान संकट में डाली। घायल होकर हॉस्पिटल पहुंचे तो भी बदमाशों के चेहरे पर डर था कोई शिकन। उल्टा गैंग का सरगना सरेआम मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों सिपाहियों को गाली बककर चैलेंज किए जा रहा था। मौके पर इतनी पुलिस और बदमाशों का यह रवैया देखकर डरा तो सिर्फ आम आदमी। कुछ मरीजों ने तो यह हाल देखकर डॉक्टरों से ही वार्ड बदलने की गुहार की।

बदमाशों की स्कार्पियों से कार सवार लक्ष्मण सुथार निवासी गंगा शहर, बीकानेर उसकी प|ी मंजू साढ़े चार साल का पुत्र दृश्य भी घायल हो गया। लक्ष्मण की प|ी मंजू ईएसआई अस्पताल में नौकरी करती है। प|ी पुत्र को छोड़ने के लिए लक्ष्मण कार से पाली रहा था। घायल तीनों लोगों की हालत खतरे से बाहर है।

इतनी तेज टक्कर, गनीमत थी सब बच गए

पालीनिवासी गजेंद्रसिंह कालवी परिवार के साथ जोधपुर से लौट रहे थे। उनके जस्ट आगे ही दोनों कारों की भिड़ंत हुई। उन्होंने बताया कि रॉन्ग साइड से स्पीड में कार आता देख दंपती ने रोकी लेकिन तब तक अनियंत्रित बदमाशों की स्कॉर्पियों ने टक्कर मार दी। एक बारगी लगा बड़ा नुकसान हो गया। बच्चे और महिला की चीख निकल पड़ी। तब तक पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। घायल लक्ष्मण सुथार, उनकी प|ी मंजू पुत्र को दुर्घटनाग्रस्त कार से बाहर निकाला। दुर्घटनाग्रस्त कार में दंपति का कीमती सामान, दस हजार रुपए, जेवरात, मोबाइल भी था, जिसे पाली में पुलिस को सुपुर्द किया।

पाली. बदमाश अस्पताल में भी पुलिसकर्मियों को धमकाता रहा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: ज्वेलर की कार लूट के आरोपी को छुड़ाने रोहट थाने में घुसे 5 बदमाश, भागते समय दूसरे वाहन को टक्कर मारी,
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Pali

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top