Home »Rajasthan »Pali » मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन के लिए 1.26 करोड़ का बजट

मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन के लिए 1.26 करोड़ का बजट

Bhaskar News Network | Dec 02, 2016, 06:20 AM IST

1.26 करोड़ से बावड़ी सहेजेंगे, सरकारी भवनों में बनेगा जल संरक्षण सिस्टम

भास्करसंवाददाता | पाली

शहरवासियोंके लिए यह अच्छी खबर है कि राज्य सरकार ने शहर में पहली बार लागू की जा रही मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत नगरपरिषद को 1.26 करोड़ रुपए का बजट मंजूर कर लिया है।

शहर की पुरातन कालीन सिरेघाट समेत अन्य जलस्स्रोतों में पानी को सहेजने समेत लोगों को पानी के प्रति जागरूक करने के कार्य में खर्च किया जाएगा। राज्य सरकार से बजट आबंटन होते ही नगरपरिषद ने विभिन्न कार्यों के लिए टेंडर जारी कर दिए हैं। 8 दिसबंर को टेंडर खोले जाएंगे। इसके बाद कार्यादेश जारी कर 15 दिसबंर के बाद कार्य को शुरू करवा दिया जाएगा। झालरवा बावरी के इतिहास में पहली बार इसका जीर्णोद्घार कर निखारने का कार्य होगा। जानकारी के अनुसार गांवों में बरसाती पानी को सहेजने तथा बूंद-बूंद पानी का सदुपयोग करने के लिए मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन योजना में मिली सफलता के बाद अब शहरी क्षेत्रों को भी दूसरे चरण में शामिल किया गया है। इस पर नगरपरिषद ने शहर की प्रमुख बावडिय़ों का जीर्णोद्घार करने के लिए 1.40 करोड़ रुपए का प्रस्ताव बनाया था। इन प्रस्तावों को त्वरितता से मंजूरी के लिए पिछले 7 दिन से नगरपरिषद के अधिशाषी अभियंता केपी व्यास जयपुर में ही डेरा डाले हुए थे। बुधवार देर शाम काे स्वायत्त शासन विभाग ने पाली शहर के लिए अलग-अलग कार्यों के लिए मंजूर की गई डीपीआर को हरी झंडी प्रदान कर दी। पाली के लिए 1.26 करोड़ की मंजूरी मिली है।

अधिकारियोंदेनी होगी प्रत्येक दिन की रिपोर्ट : योजनाके तहत कार्य शुरू होने के बाद नगर परिषद के विभिन्न अधिकारियों को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी जाएगा। अधिकारियों ने प्रत्येक दिन कार्यों का मौका मुआयना कर जयपुर रिपोर्ट भेजनी होगी। साथ ही प्रत्येक दिन की प्रगति के बारे में जानकारी देनी आवश्यक होगी।

शहरके 30 सरकारी भवनाें में बनेगा जल संरक्षण सिस्टम : मुख्यमंत्रीजल स्वावलंबन योजना के तहत शहरी क्षेत्र में नगर परिषद ने 500 स्क्वायर फीट के सरकारी भवनाें को वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम से जोड़े जाएंगे। प्रथम चरण में शहर की कुल 30 सरकारी बिल्डिंग्स को चिह्नित किया गया है।

शेष|पेज13



इसमेंकुल 1 करोड़ की राशि खर्च होगी। गौरतलब है कि पूर्व में सरकार ने वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम से जोड़ने की योजना बना रखी है। उस समय कई सरकारी बिल्डिंग्स पर यह सिस्टम बना रखा है, लेकिन देखरेख के अभाव में यह सिस्टम अब फैल हो चुके है।

सिरेघाटकी बावड़ी की साफ-सफाई के साथ होगी मरम्मत

नगरपरिषद की ओर से मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन योजना के तहत तैयार किए प्रस्ताव में शहर की सभी बावडिय़ों की साफ-सफाई मरम्मत को लेकर शामिल किया गया है, लेकिन प्रथम चरण में सिरेघाट बावड़ी के पुनरुद्धार किया जाएगा। इसके तहत कुल 4 लाख की राशि खर्च कर बावड़ी की मरम्मत, सफाई, रंगरोगन समेत अन्य कार्य किए जाएंगे।

वनविकास के लिए खर्च होंगे 19 लाख

शहरीक्षेत्र में हरियाली बढ़ाने और पेड़ पौधों को लेकर कार्य किए जाएंगे। इसके लिए कुल 19 लाख खर्च किए जाएंगे। इसके अलावा परिषद में वन विकास से जुड़े कार्य किए जाएंगे। अधिकारियों ने बताया कि प्रथम चरण में 16 लाख की राशि खर्च की जाएगी।

पर्यावरणजागरूकता के लिए छपेंगे 3 लाख रुपए के पोस्टर

मुख्यमंत्रीजल स्वावलंबन योजना के तहत लोगों को पेयजल संरक्षण इसकी उपयोगिता के बारे में जागरूक किया जाएगा। इसको लेकर पोस्टर, स्टीकर भी छपवाए जाएंगे। इसके अलावा शहर में कई स्थानों पर नारे भी लिखवाए जाएंगे। योजना को लेकर रैली समेत सामाजिक गतिविधियां भी आयोजित होगी। इसके लिए कुल 3 लाख का बजट स्वीकृत किया गया है।

स्वीकृत हुई है राशि

^मुख्यमंत्रीजल स्वावलंबन योजना के तहत शहर में पेयजल संरक्षण को लेकर राशि स्वीकृत हुई है। योजना के तहत होने वाले कार्यों को लेकर टेंडर प्रक्रिया भी शुरू की जा चुकी है। 8 दिसंबर को टेंडर जारी होने के बाद काम भी शुरू हो जाएंगे। -केपी व्यास, एक्सईएन नगर परिषद

1 करोड़ 38 लाख का बनाया प्रस्ताव स्वीकृति 1 करोड़ 26 लाख की मिली

नगरपरिषद की ओर से मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन योजना को लेकर नगर परिषद ने इंजीनियर्स ने कई कार्यों के लिए कुल 1 करोड़ 38 लाख का तकमीना तैयार किया था, लेकिन दो दिन पूर्व जयपुर में हुई बैठक में उच्चाधिकारियों ने तकमीना की पूरी जांच कर कुल 1 करोड़ 26 लाख रुपए स्वीकृत किए है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन के लिए 1.26 करोड़ का बजट
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    More From Pali

      Trending Now

      Top