Home »Rajasthan »Sikar » स्पिनफैड के कर्मचारी और श्रमिक बोले समायोजन करें, वीआरएस नहीं चाहिए

स्पिनफैड के कर्मचारी और श्रमिक बोले समायोजन करें, वीआरएस नहीं चाहिए

Bhaskar News Network | Dec 02, 2016, 07:20 AM IST

स्पिनफैड के कर्मचारियों श्रमिकों का अन्य संस्थाओं विभागों में समायोजन किया जाता है तो इसका लाभ ज्यादातर श्रमिकों को मिल सकता है। मंत्री मंडलीय बैठक में समायोजन पर चर्चा में साक्षर श्रमिकों का भी समायोजन करने की बात सामने आई थी। अगर समायोजन होता है तो ज्यादातर श्रमिकों को इसका लाभ मिलेगा। गुलाबपुरा इकाई में करीब 600 श्रमिक हैं। इनमें 25 ग्रेजुएट, 90 दसवीं 12वीं पास हैं। 8वीं पास 130 5वीं तक पढ़े 152 श्रमिक हैं। साक्षर श्रमिकों की संख्या 200 है।

}बदली सिविल श्रमिकों के लिए वीआरएस आदेश नहीं... गुलाबपुरास्पिनफैड स्पिनिंग यूनिट में 600 श्रमिक कार्यरत हैं। प्रधान कार्यालय से मिले आदेश में बदली सिविल श्रमिकों के लिए वीआरएस को लेकर कोई उल्लेख नहीं किया गया है। इससे बदली सिविल के करीब 200 श्रमिकों में असमंजस बना है।

भास्कर संवाददाता | गुलाबपुरा

स्पिनफैडके कर्मचारियों श्रमिकों का विभिन्न सरकारी विभागों संस्थाओं में समायोजन करने के बजाय वीआरएस देने के निर्णय का विरोध शुरू हो गया है। प्रधान कार्यालय से बुधवार को आदेश आने के बाद से एक साल से सूनी पड़ी मिल में फिर से चहल-पहल शुरू हो गई है।

श्रमिकों का मिल परिसर में जमावड़ा लगा है। सात दिन में वीआरएस की प्रक्रिया पूरी होना है लेकिन दूसरे दिन भी किसी भी श्रमिक कर्मचारी ने वीआरएस का आवेदन नहीं किया है। हाजरी भरने वाले बाबू ने वीआरएस के फार्म देने की कोशिश की लेकिन कर्मचारियों श्रमिकों ने लेने से साफ इनकार कर दिया। उनका कहना है कि उन्हें समायोजन चाहिए, वीआरएस नहीं। बरसों तक मिल में सेवा दी है। अब वीआरएस देने से वे कहां जाएंगे। श्रमिकों ने मुख्यालय के आदेश का बहिष्कार कर चेतावनी दी है कि समायोजन नहीं किया तो आंदोलन किया जाएगा।

^प्रधानकार्यालय से कर्मचारियों श्रमिकों के लिए वीआरएस के आदेश मिले हैं। दो दिन में कई श्रमिक फार्म लेकर गए हैं, लेकिन अब तक एक आवेदन ही हमें मिला है। रामलखनशर्मा, कार्यवाहक कारखाना प्रबंधक, गंगापुर

समायोजन के लिए आदेश में कुछ नहीं

गुलाबपुरामें इंटक महामंत्री रफीक मोहम्मद ने बताया कि प्रधान कार्यालय से जो आदेश आया है उसमें वीआरएस का ही उल्लेख है। श्रमिकों कर्मचारियों का अन्य विभागों में समायोजन करने की बात नहीं है। इससे श्रमिकों में असंतोष है। एक-दो दिन में अगली रणनीति बनाएंगे। मांग पूरी नहीं हुई तो आंदोलन तेज करेंगे।

मिल को वापस चालू किया जाए

35साल से गुलाबपुरा मिल में वाइडिंग का काम कर रहे श्रमिक रामपाल प्रजापत ने बताया कि वीआरएस लागू करना समझ में नहीं रहा है। मिल को वापस चालू करना चाहिए ताकि रोजगार मिलता रहे। वीआरएस लेकर कहां जाएंगे। अगर मिल चालू होती है तो क्षेत्र के अन्य लोगों को भी रोजगार मिलता रहेगा। मिल एक साल से बंद है।

समायोजन करें, जहां भेजेंगे जाऊंगा

गंगापुरमिल में 32 साल से कार्यरत सीकर निवासी अजित सिंह राजपूत ने बताया कि वर्ष 1984 से यहां काम कर रहा हूं। नियम शर्तें देखेंगे फिर वीआरएस लेने पर विचार करेंगे। मैं 10वीं पास हूं। समायोजन कर मुझे जहां भी भेजा जाएगा वहां जाने को तैयार हूं।

एक हजार श्रमिकों का रोजगार छिना

गंगापुरमें एटक के जिला महामंत्री ओमप्रकाश शर्मा ने बताया कि रामपाल उपाध्याय के प्रयासों से मिल चालू हुई। इससे 1000 लोगों को रोजगार मिला। पूर्व मुख्यमंत्री भैरो सिंह शेखावत के कार्यकाल में इसे स्पिनफैड बनाया गया। राज्य की तीनों इकाइयां बंद हैं। हजारों श्रमिक बेरोजगार हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: स्पिनफैड के कर्मचारी और श्रमिक बोले समायोजन करें, वीआरएस नहीं चाहिए
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Sikar

        Trending Now

        Top