Home »Rajasthan »Sikar» Bajrang Dal Activists Nuisance

'वेलेंटाइन्स डे': संकट में पड़ी युवतियों की लाज, पुलिस भी कुछ न कर सकी!

Bhaskar News | Feb 15, 2013, 00:30 IST

  • सीकर.वैलेंटाइन डे के विरोध के नाम पर गुरुवार को बजरंगदल व इसके सहयोगी दल के कार्यकर्ताओं ने शहर में एक घंटे तक जमकर उपद्रव कर कानून हाथ में लिया। उन्होंने न केवल युवकों के साथ मारपीट की बल्कि युवतियों के साथ भी खुलेआम बदसलूकी की। रेस्टोरेंट में तोडफ़ोड़ की और वहां मौजूद दंपती से भी र्दुव्‍यवहार किया।
    दोपहर को जाटिया बाजार से सिल्वर जुबली रोड तक यह दहशत का माहौल चलता रहा। इतना सब होने के बाद भी शहर की पुलिस बेखबर रही। वह तब मौके पर पहुंची जब उपद्रवी वहां से दूसरे होटल में चले गए थे। मौके पर आए पुलिस अधिकारियों ने खानापूर्ति के नाम पर केवल कुछ लोगों पकड़कर अपना काम पूरा मान लिया। जबकि यह पहले से घोषित विरोध था।
    आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, वैलेंटाइन-डे: विरोध के नाम पर सरेआम अराजकता, पुलिस फिर फेल>>>
  • गुरुवार, समय सुबह 11.30 बजे। बजरंग दल कार्यालय। पूर्व घोषित विरोध प्रदर्शन के तहत करीब तीन दर्जन बजरंग दल कार्यकर्ता एकत्रित हुए। यहां से तय कर नारेबाजी करते हुए सुबह 11.48 बजे जाटिया बाजार पहुंच गए। यहां वैलेंटाइन कार्डो की होली जलाई। कोतवाली यहां से महज पांच मिनट के फासले पर थी पर पुलिस यहां नहीं पहुंची। यह टोला जनाना अस्पताल के सामने एक होटल की ओर कूच कर गया।

  • कार्यकर्ता अंदर घुसे लेकिन वहां उन्हें कोई नहीं मिला। यहां से कल्याण सर्किल होते हुए सिल्वर जुबली रोड स्थित मंगलम रेस्टोरेंट पहुंचे। रेस्टोरेंट में घुसते ही तोडफ़ोड़ शुरू कर दी। संस्कृति की दुहाई देते हुए जलपान कर रहे युवक युवतियों से गाली गलौज और मारपीट करने लगे। बार बार मिन्नतें करने के बाद भी युवतियों से जमकर बदसलूकी और धक्का-मुक्की की। दहशत के कारण लड़कियां घबरा कर रोने लगी। वहां मौजूद दंपती से भी र्दुव्‍यवहार किया।

  • रेस्टोरेंट संचालक के साथ भी तू-तू, मैं-मैं और हाथापाई पर उतर आए। उपद्रवी रेस्टोरेंट में बैठे युवकों को तो पीटते पीटते सड़क तक ले आए। इतना सब हो गया लेकिन फिर भी पुलिस नहीं पहुंची। जबकि एसपी ऑफिस की दूरी यहां से भी महज पांच मिनट ही थी।

  • सरेआम अराजकता..
    बजरंग कांटा स्थित होटल क्रेजी वर्ल्ड पहुंच गए। वहां इन्हें कोई नहीं मिला। इसके बाद भी इन्होंने होटल के कमरों के गेट को पीटना शुरू कर दिया। जब सब कुछ हो गया तो दोपहर करीब एक बजे सीओ सिटी योगेंद्र फौजदार पहुंचे। यहां भी उन्होंने सिर्फ समझाइश की। इसके बाद कार्यकर्ता नारेबाजी करते हुए दोपहर 1.18 बजे निकल लिए। घटना के काफी देर बाद कुछ कार्यकर्ताओं को पुलिस पकड़कर कोतवाली लाई। शाम को इस संबंध में रेस्टोरेंट के मालिक ने मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने बारह लोगों को पकड़ा है जिनमें से तीन को नाबालिग माना है।
  • कोतवाली पर धरना, प्रदर्शन
    बजरंगदल के कार्यकर्ताओं को छुड़ाने के लिए बजरंगदल और भाजपा के कार्यकर्ता कोतवाली पहुंचे। वहां कार्यकर्ता धरने पर बैठ गए। पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। भाजपा जिलाध्यक्ष हरिराम रणवां व पूर्व जिलाध्यक्ष महेश शर्मा भी कार्यकर्ताओं को छुड़ाने पहुंचे। करीब आधे घंटे प्रदर्शन के बाद कार्यकर्ता चले गए। इस दौरान पूर्व जिलाध्यक्ष शर्मा ने कार्यकर्ताओं को शुक्रवार सुबह कलेक्ट्रेट के सामने बुलाया। इसके बाद कार्यकर्ता लौट गए।
  • विरोध मर्यादित होना चाहिए : भाजपा
    मामले में भाजपा जिलाध्यक्ष हरिराम रणवां का कहना है कि विरोध मर्यादित होना चाहिए। कानून हाथ में लेने की इजाजत किसी को नहीं है। भाजपा पदाधिकारी इसमें शामिल नहीं थे। फिर भी अगर कोई इसमें शामिल पाया गया तो कार्रवाई करेंगे।
  • इन धाराओं में हुआ है मुकदमा
    452 आईपीसी : दुकान या रिहायशी जगह में घुसकर मारपीट। सात साल तक की सजा।
    379 आईपीसी : सामान चोरी कर ले जाना। तीन साल की सजा।
    427 आईपीसी : तोडफ़ोड़ करना
    323,341 आईपीसी : मारपीट
    143 आईपीसी : विधि विरुद्ध जमाव, पांच से ज्यादा लोगों द्वारा मारपीट।
  • इनको किया है गिरफ्तार
    पुलिस ने इस मामले में पालवास निवासी हनुमान सिंह पालवास पुत्र रामेश्वर सिंह राजपूत, श्यामपुरा चौकड़ी खण्डेला निवासी बलदेव सिंह खण्डेला पुत्र मोहनलाल जाट, राजपुरा रानोली निवासी नागरमल पुत्र सीताराम कुमावत,सालासर स्टैंड सीकर निवासी आकाश शर्मा पुत्र कृष्ण शर्मा व जयप्रकाश स्वामी पुत्र मोहन लाल स्वामी,किकरालिया रानोली निवासी अरुण पारीक पुत्र हरिप्रसाद पारीक, हर्ष निवासी हंसराज पुत्र मदनलाल गुर्जर, मोहल्ला शेखपुरा निवासी रवि शर्मा पुत्र जुगल किशोर शर्मा व तारपुरा निवासी अरविंद सैन पुत्र बाबूलाल सैन को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा तीन किशोरों को निरुद्ध किया है। अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।

  • चंद कदम दूर पुलिस, फिर भी घटना
    शहर में कुछ महीनों पहले ग्यारह वर्षीय बच्ची के साथ हुई ज्यादती के मामले के बाद यह दूसरी बड़ी घटना थी जिसमें पुलिस की नाकामी साफ नजर आई। कुछ लोग जमकर उपद्रव मचाते रहे और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। जबकि हर साल कुछ संगठन वेलेंटाइन डे का विरोध करते हैं। पहले से घोषित प्रदर्शन के बाद भी पुलिस जाब्ता नहीं लगाया गया। विरोध करने वाले जाटिया बाजार से पैदल सिल्वर जुबली रोड पर पहुंच गए। तब तक भी पुलिस नहीं आई। पुलिस की इंटेलिजेंस को इस बात की जानकारी ही नहीं मिली कि शहर में गुंडागर्दी हो रही है। होटल मालिक की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची।
  • कहां थी पुलिस :
    घटना के समय एसपी से लेकर आला अधिकारी मुख्यालय पर मौजूद थे। एसपी और सीओ सिटी खाटू मेले की तैयारियों पर चर्चा कर रहे थे। शहर कोतवाल कोतवाली में मौजूद थे। डीएसबी के कर्मचारी भी कार्यालय में ही थे। पुलिस अधीक्षक कार्यालय व कल्याण सर्किल से चंद कदमों की दूरी पर ही यह घटनाक्रम हुआ।
  • पुलिस से चूक हुई, जिम्मेदार भुगतेंगे : एसपी
    एसपी गौरव श्रीवास्तव का कहना है कि इसके लिए कोतवाली थाना, डीएसबी शाखा व सीआईडी टीम जिम्मेदार थे। जिनके जरिए सूचना आनी चाहिए थी और मौके पर पुलिस तैनात होनी चाहिए थी। जिनके कारण भी पुलिस की कार्रवाई में देरी हुई वे इसका खामियाजा भुगतेंगे। मैं खुद इस मामले की जांच करूंगा और लापरवाही करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करूंगा। जिन्होंने ये घटना की है उनके खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। आगे भी जिसका नाम सामने आएगा उसे गिरफ्तार किया जाएगा। शहर में इस तरह की गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
    रेस्टोरेंट मालिक ने दर्ज कराई रिपोर्ट
    कार्यकर्ताओं के खिलाफ रेस्टोरेंट मालिक वीर तेजा कॉलोनी निवासी राजेन्द्र कुमार ने रिपोर्ट दी है कि होटल में करीब सौ डेढ़ सौ लड़के आए। जिनमें ऋषिकेश ओला, बलदेव जाट, हरीश शर्मा अरविंद सैन, हंसराज गुर्जर, जयप्रकाश स्वामी शामिल थे। ये लोग जबरन रेस्टोरेंट में घुसे और जलपान कर रहे लोगों के साथ मारपीट व लूटपाट की और अभद्र व्यवहार किया। इन्होंने होटल की टेबल कुर्सियों को इधर -उधर फेंका व तोडफ़ोड़ की। होटल में बैठे लोगों को उठाकर बाहर निकाल दिया। होटल मालिक की पत्नी भंवरी देवी के साथ गाली -गलौज कर अभद्र व्यवहार किया और काउंटर पर रखा सामान टॉफी,बिस्किट जबरदस्ती उठाकर खाने लग गए व सामान बाहर फेंक दिया।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Bajrang Dal activists nuisance
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Sikar

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top