Home »Rajasthan »Udaipur » भाजपा का वोट बैंक बढ़ा, कांग्रेस ने खोया जनाधार

भाजपा का वोट बैंक बढ़ा, कांग्रेस ने खोया जनाधार

Bhaskar News Network | Dec 02, 2016, 07:50 AM IST

पहले ही मैदान छोड़ चुकी थी कांग्रेस, भाजपा ने अंतिम समय तक लगाया जोर

उपचुनावों में खिला कमल, कांग्रेस की बड़ी हार

वार्ड-8में पार्षद के उपचुनाव के परिणाम आने से साथ ही साफ हो गया कि भाजपा ने वोट बैंक बढ़ाने में जहां सफलता हासिल की वहीं कांग्रेस 2014 के निगम चुनाव में मिले जनाधार को भी नहीं बचा पाई। 2014 के निगम चुनाव में वार्ड में भाजपा का वोट बैंक 54.87 प्रतिशत था जबकि 2016 के उपचुनाव में यह बढ़कर 64.06 प्रतिशत हो गया। दूसरी तरफ 2014 में कांग्रेस प्रत्याशी को 41.31 प्रतिशत वोट मिले थे जबकि 2016 के उपचुनाव में यह आंकड़ा घटकर 34.36 प्रतिशत रह गया। दो साल में वार्ड में भाजपा ने 9.19 प्रतिशत वोट बैंक बढ़ाया जबकि कांग्रेस का वोट बैंक 6.95 प्रतिशत कम हो गया। पूरे चुनाव के दौरान वार्ड में जनसंपर्क अभियान की जो तस्वीर सामने आई उसे देख कहा जा सकता है कि कांग्रेस पहले ही मैदान छोड़ चुकी थी जबकि भाजपा ने अंतिम समय तक जोर लगाया।

सातमें से सिर्फ दो बूथों पर ही बढ़त बना सकी कांग्रेस : गुरुवारको आए चुनाव परिणाम के अनुसार कांग्रेस प्रत्याशी नूर बानो वार्ड में बनाए गए सात बूथों में से सिर्फ दो बूथों पर ही बढ़त बना सकी। नूर बानो को बूथ नंबर एक पर 45 और चार पर 35 वोट भाजपा प्रत्याशी आभा आमेटा से ज्यादा मिले। शेष सभी पांच बूथों पर आमेटा ने नूर बानो को बड़े अंतर से पछाड़ दिया। बूथ नंबर पांच पर भाजपा प्रत्याशी को 640 वोट मिले जबकि कांग्रेस को सिर्फ 92 वोट ही मिले।

कांग्रेस : उपचुनावमें भी बिखरी-बिखरी रही पार्टी

उपचुनावको लेकर भाजपा में पूरी पार्टी जहां एक थी वहीं कांग्रेस पूरे चुनाव में बिखरी-बिखरी रही। शहर कांग्रेस की 126 पदाधिकारियों की जम्बो कार्यकारिणी होने के बावजूद अधिकांश पदाधिकारी निष्क्रिय रहे। स्थिति तब रही जब सिर्फ एक ही वार्ड का चुनाव था। कांग्रेस ने नोटबंदी के असर, इस्तीफा दे चुकी भाजपा की पार्षद के प्रति लाेगों के आक्रोश और दो साल तक वार्ड उपेक्षित रहने के मुद्दे को भुनाकर भी वाेट बैंक बढ़ाने का प्रयास नहीं किया। मतदान के दिन भी कांग्रेस की टीम बूथों पर ज्यादा सक्रिय नहीं दिखी। भाजपा के पदाधिकारी पूर्ण रूप से सक्रिय रहे जिसका फायदा उन्हें चुनाव में मिला।

भाजपा : जीतनेकी हर रणनीति तैयारी की

चुनावकार्यक्रम घोषित होने के साथ ही शहर भाजपा ने हर हाल में उप चुनाव जीतने की रणनीति तैयार की। शहर जिलाध्यक्ष दिनेश भट्ट के निर्देश पर मंडल स्तर के पदाधिकारी जनसंपर्क में लगे। मेयर चंद्रसिंह कोठारी ने खुद वार्ड में मोर्चा संभाला। नोटबंदी के संभावित असर को देखते हुए पार्टी ने ज्यादा से ज्यादा मतदाताओं से संपर्क किया। मतदान के दिन भी पूरे दिन भाजपा की टीमें वार्ड में सक्रिय रहीं। वार्ड में टूटी सड़कों के चलते नुकसान की आंशका को देखते हुए निगम ने चुनाव के ठीक पूर्व काम शुरू कर मतदान से पहले रोड का काम करवाकर डेमेज कंट्रोल में सफलता हासिल कर ली।

रेखा गमेती शपथ लेते हुए।

मतगणना केंद्र में परिणाम के बाद आभा आमेटा नूर बानो से गले मिलती हुई।

पॉलिटिकल रिपोर्टर। उदयपुर

भाजपाकी आभा आमेटा कांग्रेस की नूर बानो को 1272 वोट के बड़े अंतर से पराजित कर वार्ड-8 की पार्षद बनीं। भाजपा ने 2014 में हुए निगम चुनाव से भी बड़ी जीत हासिल कर कांग्रेस का वोट बैंक ध्वस्त कर दिया। बता दें कि भाजपा पार्षद चांदनी गौड़ के इस्तीफे के बाद वार्ड में उपचुनाव हुआ था। गुरुवार को तहसील गिर्वा में सुबह आठ बजे रिटर्निंग अधिकारी ओपी बुनकर की मौजूदगी में मतगणना शुरू हुई। ईवीएम से मतदान होने के कारण करीब पौने घंटे में ही परिणाम गया। मतगणना केंद्र से बाहर आते ही मेयर चंद्रसिंह कोठारी, पूर्व सभापति युधिष्ठिर कुमावत, अतुल चंडालिया, पूर्व पार्षद प्रमोद सामर और दिनेश गुप्ता सहित अन्य भाजपा नेताओं ने आमेटा को बधाई दी। कांग्रेस प्रत्याशी रही नूर बानो ने भी आभा आमेटा को बधाई दी। निगम के नेता प्रतिपक्ष मोहसीन खान और सोमेश्वर मीणा भी मौजूद थे। नवनिर्वाचित पार्षद आमेटा महाकाल के दर्शन करने के बाद वार्ड में पहुंची और विजय जुलूस निकालकर मतदाताओं का आभार जताया। शहर जिलाध्यक्ष दिनेश भट्ट, कमलेश जावरिया, चंद्रगुप्त सिंह, गजपाल सिंह राठौड़, राजेश वैष्णव, विजयलक्ष्मी कुमावत, दुर्गेश शर्मा, ओंकार अोड़ और अली असगर भी मतगणना केंद्र के बाहर मौजूद थे।

आमेटाने ली शपथ, प्रति सप्ताह दो घंटे करेगी श्रमदान : पार्षदनिर्वाचित होने के तत्काल बाद रिटर्निंग अधिकारी ओपी बुनकर ने आभा आमेटा को शपथ दिलाई। अामेटा ने स्वच्छता अभियान पर फोकस रखते हुए शपथ ली कि वे हर वर्ष 100 घंटे यानी प्रति सप्ताह 2 घंटे श्रमदान करने के साथ 100 लोगों को प्रोत्साहित भी करेगी।

67ने दबाया नोटा का बटन

वार्डमें कुल 4283 वोट पड़े थे जिसमें से भाजपा की आभा आमेटा को 2744 और कांग्रेस की नूर बानो काे 1472 वोट मिले। जबकि 67 मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया।

2016 उप चुनाव

कुलमतदाता 7603, वोट पड़े 4283, भाजपा प्रत्याशी को मिले 2744, कांग्रेस को मिले 1472, जीत का अंतर 1272, नोटा 67, वोट प्रतिशत भाजपा 64.06, कांग्रेस 34.36 प्रतिशत।

2014 निगम चुनाव

कुलमतदाता 7589, वोट पड़े 4867, भाजपा प्रत्याशी को मिले 2671, कांग्रेस को मिले 2011, जीत का अंतर 660, नोटा 46, वोट प्रतिशत भाजपा 54.87, कांग्रेस 41.31 प्रतिशत।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: भाजपा का वोट बैंक बढ़ा, कांग्रेस ने खोया जनाधार
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    More From Udaipur

      Trending Now

      Top