Home »Rajasthan »Udaipur » पेज एक का शेष...

पेज एक का शेष...

Bhaskar News Network | Dec 02, 2016, 07:55 AM IST

आपभले इंसान हैं, इसलिए आपको सस्ती दे दूंगा। उसने 22 अगस्त तक करीब 100 बार कॉल किया। आखिरकार सौदे के लिए 23 अगस्त को अलवर में मिलना तय हुआ। भास्कर टीम 23 अगस्त को अलवर पहुंची। बदमाशों ने पहले किशनगढ़बास रोड पर टोल बूथ, फिर महरमपुर गांव बुलाया। वहां पहुंचे तो टोल बूथ से एक किमी पहले कच्ची सड़क पर बुलाया। वहां बिना नंबर की मोटर साइकिल पर दो बदमाश आए। टटलूबाज रमेश ने ईंट दी। असली होने का सबूत मांगा तो साथ लाए छैनी-हथौड़ी से 800 ग्राम की ईंट से एक टुकड़ा काटकर दिखाया। फिर नाटकीय अंदाज में उसे वापस लेकर जेब में रख लिया। आधे मिनट बाद वैसा ही एक दूसरा टुकड़ा सौंपते हुए कहा-आप पहले जांच करा लो, तसल्ली हो जाए तभी ईंट खरीदना। कीमत 10 लाख रु. बताई। बाद में पांच लाख पर माना। भास्कर ने एमआई रोड स्थित राज्य सरकार से अधिकृत कृष्णमुरारी एंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड लैब में टुकड़े की जांच कराई तो 22 कैरेट शुद्ध सोने का निकला। ऐसे ही छोटे से टुकड़े के आधार पर नकली ईंट बेचने वाला गिरोह भोले-भाले लोगों को अपने जाल में फंसाता है। पिछले 10 साल में प्रदेशभर के विभिन्न थानों में असली सोना बताकर नकली ईंट बेचने के 1500 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हुए हैं।

सोनेकी 19...

इनटीमों ने जुरहरा, पहाड़ी के गांव तिलकपुरी, मूंगस्का थाना कैथवाड़ा के गांव अमरूका में छापे मारे। पुलिस ने जुरहरा से टटलू बाज संजय सुनार को गिरफ्तार कर सोने की 12 नकली ईंटें (करीब 4 किलो 500 ग्राम वजनी), नकली सोने की 2 हंसलियां भी बरामद की। इस दौरान शांति भंग करने के आरोप में जुरहरा निवासी मनीष कुमार, मोतीलाल सुनार, झेंझपुरी कैथवाड़ा के इस्लाम उर्फ भोंदू को भी गिरफ्तार किया। गांव तिलकपुरी से टटलू बाज सहाबद्दीन उर्फ सहाबू, ज़ुनैब शाहरुख मेव को गिरफ्तार किया है। इनसे सोने की एक-एक नकली ईंट बरामद की है। पुलिस ने गांव अमरूका से शाहुन, दीना उर्फ दीन मोहम्मद निवासी मूंगसका थाना पहाड़ी को एक-एक अवैध देशी कट्टा एक-एक जिंदा कारतूस सहित गिरफ्तार किया है। अमरूका चौकी के पास से इगलाश, अफसर निवासी जमालगढ़ थाना पुन्हाना हरियाणा से नकली सोने की 4 ईंटें बरामद कीं। यहउपकरण किए बरामद : पुलिसने जुरहरा के संजय से सोने की ईंट बनाने के चार सांचे, चार छोटे-बड़े हथौड़े, चार छोटे-बड़े चिमटे, पांच कतिया, तीन प्लास, सोना गलाने की दो नॉजल, एक रेती, एक ग्राइंडर, एक लोहे का ऐरोन, एक फूल बनाने का सांचा एक लोहे की शील बरामद की गई हैं।

विवाहितमहिला 500...

साथही कानूनी तरीके से पैतृक संपत्ति में मिली ज्वैलरी पर भी कोई कार्रवाई नहीं होगी। वहीं, 16 विपक्षी दलों ने शाम को राष्ट्रपति से आयकर कानून में बदलाव पर सरकार की शिकायत की।

सरकारने क्यों दी सफाई? :लोकसभा में टैक्सेशन लॉ सेकेंड अमेंडमेंट बिल पास हुआ है। इसमें कहा गया है कि आयकर छापे में अघोषित संपत्ति मिली तो 85% तक टैक्स लगेगा। बिल राज्यसभा में है। इसके बाद से कहा जा रहा था कि सोना भी छापे के दौरान जब्त किया जा सकता है। सरकार ने इन अफवाहों को खारिज करने के लिए सफाई दी।

कस्टमरबड़ा सैंडविच...

मैंहफ्ते में एक बर्गर जरूर खाता हूं।’ डेलिगट्‌टी के पुत्र का नाम माइकल है। वह बताते हैं कि पिता ने बर्गर का नाम ‘बिग मैक’ इसलिए रखा था क्योंकि उन्हें इसका उच्चारण काफी फनी लगता था। मैक बर्गर के 40 साल होने पर मैकडोनॉल्ड्स की तरफ से बताया गया था कि ‘एक साल में हमने केवल अमेरिका में रिकाॅर्ड 55 करोड़ बिग मैक बर्गर बेचा।

लेकिन इसके लिए जिम को कोई रॉयल्टी नहीं दी। 100 से अधिक देशों में बिग मैक की फ्रेंचाइजी है। वे मैकडोनॉल्ड्स के 49 ब्रांच में गए, मैक को कंपनी की सबसे बड़ी फ्रेंचाइजी बनाया।’ मैकडोनॉल्ड्स ने उनके निधन पर लिखा ‘महान जिम नहीं रहे। उन्होंने हमारे ब्रांड को नई पहचान दी।’

महिलाकी फ्लैट...

औरपुलिस को स्पष्ट कहा है कि रुचिता को उसका पति ही मार सकता है। वह उसे हर दिन टॉर्चर करता था, पुलिस ने बताया कि रुचिता और कृष्ण बल्लभ ने 2003 में प्रेम विवाह किया था। इनके दो बच्चे बेटी अविशि उर्फ तनु (9) और बेटा अरनव उर्फ मिषु (8) वर्ष के हैं। रुचिता 2006 से उदयपुर कोर्ट में रजिस्टर्ड वकील थी, हालांकि वह प्रेक्टिस नहीं करती थी और आरजेएस की तैयारी कर रही थी। वहीं कृष्णबल्लभ लॉ कॉलेज से पढ़ाई, सीए कर रहा था और निजी कंपनी में नौकरी करता था, इसके अलावा बीएसएनएल में कॉन्ट्रेक्टर था और अकाउंट्स का काम भी करता था। दो महीने पहले नौकरी छोड़ दी थी।

पतिआए दिन करता था मारपीट : अपार्टमेंटवासियों और परिजनों ने बताया कि पति-प|ी में आए दिन झगड़े होते थे और शराब पीकर पति महिला के साथ मारपीट करता था। एक दिन तो वह उसे सातवीं मंजिल से मारते हुए नीचे लाया था। कई बार महिला के पिता, भाई ने आकर दोनों को समझाया। भाई ने बताया कि छह महीने पहले कृष्णबल्लभ ने रुचिता को मारने की धमकी दी थी। लेकिन हर बार रुचिता यही बोलकर कृष्णबल्लभ के साथ रहने को तैयार हो जाती थी कि सब ठीक हो जाएगा। उन्होंने समझौता कर लिया है।

अपार्टमेंटमें सभी स्तब्ध, सीसीटीवी बंद मिले : 8मंजिल के इस अपार्टमेंट में 32 फ्लैट हैं। मृतका, उसका पति और परिवार फ्लेट नंबर 702 में किराए पर रहते थे और अपार्टमेंट में चार साल से थे। रुचिता की हत्या का जिसे पता चला सभी स्तब्ध रह गए।



पड़ोसी दंपतर ने कहा कि इतना कुछ हुआ लेकिन उन्हें आवाज तक नहीं आई। इधर जब पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे चेक किए तो मेन गेट से लिफ्ट तक के तीन कैमरे बंद मिले।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: पेज एक का शेष...
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Udaipur

        Trending Now

        Top