Home »Rajasthan »Udaipur» Medical System And Bad State Of Roads In Udaipur

बदहाल सड़कें ऐसी कि गर्भवती महिला का रास्ते में ही हो जाता है प्रसव

bhaskar news | Mar 21, 2017, 07:43 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
बदहाल सड़कें ऐसी कि गर्भवती महिला का रास्ते में ही हो जाता है प्रसव
उदयपुर. झाड़ोल विधायक हीरालाल दरांगी ने सोमवार को विधानसभा में विधानसभा क्षेत्र की चिकित्सा व्यवस्था और सड़कों की बदहाल स्थिति का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि सड़कों की हालत यह है कि कई बार गर्भवती महिलाओं के रास्ते में ही प्रसव हो जाते हैं। दरांगी ने स्थगन प्रस्ताव के माध्यम से सवाल उठाते हुए कहा कि उदयपुर से झाड़ोल करीब 55 किमी, फलासिया से 85 और कोटड़ा से उदयपुर की दूरी करीब 90 किमी है। क्षेत्र में स्त्री रोग विशेषज्ञ नहीं होने से भी महिलाओं को इलाज के लिए उदयपुर शहर जाना पड़ता है। विधानसभा क्षेत्र की सड़कों की हालत ऐसी खस्ताहाल है कि अस्पताल जाते समय कई बार गर्भवती महिलाओं का रास्ते में ही प्रसव हो जाता है। प्रसव पीड़ा के कारण कई बार गर्भवती महिलाओं की मौत तक हो जाती है। दरांगी ने कहा कि झाड़ोल क्षेत्र की फलासिया और कोटड़ा पंचायत समिति में पीएचसी, सीएससी में चिकित्सा अधिकारियों के स्वीकृत 45 पदों में से 21 पद रिक्त है। चिकित्साकर्मियों के कई अन्य पद भी रिक्त है। इस कारण लोगाें को चिकित्सा सुविधा के नाम पर परेशान होना पड़ रहा है।
सरूपाल में बिजली कनेक्शन कब होंगे : मीणा
उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा ने सरूपाल गांव में बिजली कनेक्शन नहीं होने का मामला उठाया। विधायक मीणा ने यह सवाल भी उठाया कि यूआईटी की कन्वर्ट कॉलोनी में प्लॉट लेकर कोई व्यक्ति मकान बनाता है तो उसको 23 रुपए वर्ग गज के हिसाब से कनेक्शन चार्ज देना पड़ता है। विधायक के सवाल पर ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने जबाव दिया कि सरकार मार्च 2018 से पहले पहले 2 लाख 25 हजार बीपीएल और 5 लाख 33 हजार एपीएल लोगों को बिजली का कनेक्शन देगी। कनवर्ट कॉलोनियों में चार्ज लेने का जो मामला है, उसको लेकर निगम स्तर पर विचार कर इसको तर्कसंगत बनाने की कोशिश की जाएगी।
मावली विधायक ने उठाई किसानों की समस्या, कृषि मॉल की जरूरत बताई
सोमवार को विधानसभा में कृषि सहकारिता व पशु पालन विभाग की अनुदान मांगों पर मावली विधायक दलीचंद डांगी ने किसानों की समस्या उठाई। उन्होंने कहा कि मावली, वल्लभनगर क्षेत्र में किसान रोजड़ों से सबसे ज्यादा परेशान है। रोजड़े किसानों की खेती बरबाद कर रहे हैं। इसके अलावा रोजड़ों के कारण कई लोग सड़क हादसों के शिकार भी हुए हैं। ऐसे में नरेगा योजना के तहत तारबंदी की व्यवस्था होनी चाहिए। डांगी ने फतहनगर, सनवाड़ की टूटी सड़कों का मामला भी उठाया। उन्होंने कृषि उपज मंडी फतहनगर में कृषि मॉल का निर्माण करने की जरूरत बताई। मिट्टी की जांच के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर प्रयोगशाला खोलने, फसल उपज खरीद केन्द्र खोलने की आवश्यकता जताई और कहा कि फसल बीमा योजना के लिए पंचायत स्तर पर केन्द्र खोले जाने चाहिए। उन्होंने क्षेत्र के पशु केंद्र को पशु चिकित्सालय में क्रमोन्नत करने की मांग भी उठाई।
मजबूर होकर नीम हकीमों से करवा रहे हैं इलाज : विधायक दरांगी
विधायक दरांगी ने कहा कि झाड़ोल विधानसभा क्षेत्र में आबादी के मुकाबले न तो शिशु रोग विशेषज्ञ है और न स्त्री रोग विशेषज्ञ। अस्थि रोग विशेषज्ञ का भी अभाव है। ऐसे में पर्याप्त चिकित्सा सुविधा नहीं मिलने से आमजन नीम हकीमों व झाड़-फूंक का सहारा लेते है। कई लोग पड़ोसी राज्य में जाकर प्राइवेट अस्पताल में महंगा इलाज करवाने को मजबूर है।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Medical system and bad state of roads in udaipur
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Udaipur

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top